scorecardresearch
 

यूक्रेन का दावा- मारा गिराए 44 रूसी सैनिक, कई टैंकों को किया तबाह

यूक्रेन की फौज ने देश के दक्षिणी हिस्से में रूसी सेना पर हमले का दावा किया है. यूक्रेनी फौज का दावा है कि इस हमले में रूसी सेना के कम से 44 सैनिक मारे गए हैं और कई टैंक पूरी तरह से तबाह हो गए हैं.

X
तबाह रूसी टैंक (फाइल फोटोः एपी) तबाह रूसी टैंक (फाइल फोटोः एपी)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दक्षिणी यूक्रेन में हुआ भीषण संघर्ष
  • यूक्रेनी हमले में कई रूसी टैंक तबाह

रूस और यूक्रेन के बीच भीषण जंग जारी है. महाशक्ति रूस की सेना यूक्रेन के कई इलाकों पर कब्जा कर चुकी है, वहीं, यूक्रेन के सैनिक भी डटकर रूसी सेना का मुकाबला कर रहे हैं. दोनों ही तरफ से हर रोज एक-दूसरे की सेना को नुकसान पहुंचाए जाने के दावे किए जा रहे हैं. अब यूक्रेन की सेना 44 रूसी सैनिकों को मार गिराने का दावा किया है.

यूक्रेनी फौज और रूसी सेना के बीच दक्षिणी यूक्रेन में भीषण संघर्ष हुआ. यूक्रेनी फौज का दावा है कि उसने 44 रूसी सैनिकों को मार गिराने का दावा किया है. यूक्रेनी सेना का दावा है कि साउथ ऑपरेशनल कमांड ने रूसी सेना के पांच पोस्ट पर हमला किया. दावे के मुताबिक पिछले 24 घंटे में पांच रूसी पोस्ट पर धावा बोलकर सैन्य साजो सामान नष्ट कर दिए गए.

समाचार एजेंसियों के मुताबिक यूक्रेनी सेना की ओर से ये भी दावा किया गया है कि इन हमलों में कम से कम 44 रूसी सैनिक भी मारे गए हैं. रूसी सेना के जो सैन्य साजो सामान नष्ट किए गए हैं, उनमें howitzers के साथ ही अन्य सैन्य उपकरण भी शामिल हैं. हाल के दिनों में रूसी सेना के खिलाफ यूक्रेन की ओर से की गई ये सबसे बड़ी सैन्य कार्रवाई है.

गौरतलब है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने इसी साल 24 फरवरी को यूक्रेन में विशेष सैन्य अभियान शुरू करने का ऐलान किया था. पुतिन के ऐलान के बाद रूसी फौज ने यूक्रेन पर चढ़ाई कर दी थी. रूसी सेना ने यूक्रेन के कई बड़े शहरों को निशाना बनाया. रूसी सेना ने कई शहरों पर भारी बमबारी की और मिसाइलें भी दागीं.

यूक्रेन के मारियूपोल समेत कई महत्वपूर्ण इलाके रूसी सेना के कब्जे में हैं. रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने यूक्रेन की सेना के सरेंडर करने पर ही युद्ध के समाप्त होने का ऐलान किया था. यूक्रेन की सेना अपने से कहीं ज्यादा ताकतवर रूस के सामने डटकर खड़ी हो गई.

यूक्रेन के आम नागरिक भी रूसी सेना के खिलाफ लड़ाई में उतर आए. युद्ध की शुरुआत में कहा जा रहा था कि रूसी सेना चंद दिनों में ही यूक्रेन पर कब्जा कर लेगी लेकिन ऐसा हुआ नहीं. यूक्रेनी फौज रूस को कड़ी टक्कर दे रही है. हालांकि, युद्ध के दौरान बड़ी संख्या में लोग यूक्रेन से पलायन भी कर चुके हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें