scorecardresearch
 

Ukrain Russia crisis: यूक्रेन के राष्ट्रपति ने वर्ल्ड लीडर्स को दिखाया आईना, भरी महफिल में कहा- रूस के प्रति 'तुष्टिकरण की नीति' छोड़नी होगी

जेलेंस्की ने म्यूनिख सुरक्षा सम्मेलन (Munich Security Conference) में कहा, मुझे नहीं पता कि रूसी संघ के राष्ट्रपति क्या चाहते हैं, इसलिए मैं एक बैठक का प्रस्ताव कर रहा हूं. जेलेंस्की ने कहा कि रूस वार्ता के लिए जगह चुन सकता है.

X
यूक्रेन और रूस के राष्ट्रपति
यूक्रेन और रूस के राष्ट्रपति
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रूस कर सकता है यूक्रेन पर हमला
  • नागरिकों को वापस बुला रहे हैं कई देश

यूक्रेन-रूस तनाव (Ukraine-Russia Conflict) के बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की (Volodymyr Zelenskyy) ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को बैठक करके हल निकालने का प्रस्ताव दिया है. तीन दिन के  जेलेंस्की ने म्यूनिख सुरक्षा सम्मेलन में यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा कि पश्चिमी शक्तियों को रूस के प्रति "तुष्टिकरण" की अपनी नीति छोड़ देनी चाहिए, क्योंकि यूक्रेन पर संभावित रूसी आक्रमण की चिंताएं बढ़ रही हैं.

उन्होंने कहा, 'मैं नहीं जानता कि रूस के राष्ट्रपति क्या चाहते हैं. इसलिए, मैं उन्हें मुलाकात का प्रस्ताव देता हूं. रूस बातचीत के लिए स्थान का चयन कर सकता है. यूक्रेन के राष्ट्रपति ने कहा, 'संकट के शांतिपूर्ण समाधान के लिए यूक्रेन केवल कूटनीति के रास्ते पर चलता रहेगा.'

रूस के प्रतिनिधि ने नहीं लिया सम्मेलन में हिस्सा

दरअसल, म्यूनिख सुरक्षा सम्मेलन (एमएससी) में यूक्रेन संकट का मुकाबला करने के लिए पश्चिमी देशों को किस तरह की रणनीति अपनानी चाहिए इस पर ध्यान केंद्रीत किया जाना था. खास बात यह कि इस सम्मेलन में रूस के प्रतिनिधि शामिल नहीं हुए. सम्मेलन को संबोधित करते हुए यूक्रेन के राष्ट्रपति ने चेतावनी दी कि अगर रूस यूक्रेन पर बमबारी करता है तो प्रतिबंधों का खतरा काम नहीं करेगा.

यूक्रेन के राष्ट्रपति ने कहा कि उन्हें यूक्रेन पर दुनिया के तीसरे सबसे बड़े परमाणु हथियार को गिराने की जानकारी मिली है. वोलोदिमीर जेलेंस्की (Volodymyr Zelenskyy) ने कहा, उनके पास कोई हथियार नहीं है और कोई सुरक्षा भी नहीं है, लेकिन एक अधिकार है. तुष्टिकरण की नीति से सुरक्षा और शांति बनाए रखने की मांग का अधिकार.

अमेरिका द्वारा रूस के यूक्रेन पर हमले की चेतावनी का जिक्र करते हुए वोलोदिमीर जेलेंस्की (Volodymyr Zelenskyy) ने कहा, 'वास्तव में यूक्रेन की मदद करने के लिए, पश्चिमी देशों को सिर्फ यूक्रेन पर हमले की तारीखों के बारे में बात करने की जरूरत नहीं हैं.'

इस दौरान यूक्रेन के राष्ट्रपति ने जोर दिया कि 1 मार्च और 31 दिसंबर को वह अपने देश के जमीन की रक्षा करेंगे. उन्होंने कहा कि यूक्रेन को और तारीखों की आवश्यकता नहीं है. वोलोदिमीर जेलेंस्की (Volodymyr Zelenskyy) ने कहा कि यूक्रेन सिर्फ एक चीज चाहता है वो है शांति.

रूस और यूक्रेन के बीच मंडरा रहा है युद्ध का खतरा

रूस और यूक्रेन के बीच कुछ दिनों के भीतर युद्ध शुरू होने का खतरा मंडरा रहा है. यूक्रेन और रूस समर्थित विद्रोहियों के कब्जे वाले दो क्षेत्रों ने एक-दूसरे पर तनाव बढ़ाने का आरोप लगाया. रूस ने शनिवार को कहा कि पूर्वी यूक्रेन के सरकार के कब्जे वाले हिस्से से दागे गए कम से कम दो गोले सीमा पार गिरे. हालांकि, यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने दावे को ‘‘एक फर्जी बयान’’ बताते हुए खारिज कर दिया. वहीं, यूक्रेन की सेना ने कहा कि दोनेत्स्क क्षेत्र के सरकार के कब्जे वाले हिस्से में शनिवार तड़के गोलाबारी में एक सैनिक की मौत हो गई.

इसी बीच जर्मनी और ऑस्ट्रिया ने अपने नागरिकों को यूक्रेन छोड़ने को कहा है. जर्मन एयर कैरियर लुफ्थांसा ने राजधानी कीव और ओडेसा नामक शहर के लिए फ्लाइट्स रद्द कर दी हैं. कीव में नाटो के संपर्क कार्यालय ने कहा कि यह कर्मचारियों को ब्रुसेल्स और पश्चिमी यूक्रेन शहर लविवि में ट्रांसफर कर रहा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें