scorecardresearch
 

श्रीलंका ब्लास्ट में 359 नहीं 253 लोगों की हुई थी मौत

श्रीलंका के कोलंबो में ईस्टर के मौके पर हुए बम धमाके में मरे लोगों की संख्या में 106 की कमी आई है.  श्रीलंका सरकार की ओर से जारी संशोधित आंकड़ों के मुताबिक मृतकों की संख्या 359 के बजाय 253 है.  इससे पहले दावा किया जा रहा था कि इन बम धमाकों में कम से कम 359 लोग मारे गए थे.

पीड़ितों का समूह, तस्वीर PTI पीड़ितों का समूह, तस्वीर PTI

श्रीलंका के कोलंबो में ईस्टर के मौके पर हुए बम विस्फोट में मृतक व्यक्तियों से संबंधित नए आंकड़े सामने आए हैं. श्रीलंका सरकार की ओर से जारी संशोधित आंकड़े के मुताबिक मृतकों की संख्या 359 नहीं बल्कि 253 है. श्रीलंका के स्वास्थ्य मामलों के डायरेक्टर जनरल ने एक बयान जारी कर कहा कि मौत के आंकड़े ज्यादा इसलिए बता दिए गए क्योंकि क्षतिग्रस्त शवों की गणना अलग-अलग बिखरे अंगों के आधार पर हुई थी.

इससे पहले बुधवार को राज्य के गृह मंत्री रुवान विजेवर्दने ने घोषणा की थी कि मौत के आंकड़े बढ़कर 359 हो गए हैं. लेकिन इसके बाद गुरुवार को इन आंकड़ों को संशोधित करते हुए श्रीलंका के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि मरने वालों की संख्या 253 है.

इस नए आधिकारिक बयान में कहा गया है कि मौत के आंकड़ों में असमंजस की स्थिति इसलिए बनी क्योंकि शवों की पहचान नहीं हो पा रही थी कि कौन सा व्यक्ति श्रीलंका का है या कौन सा विदेशी है क्योंकि मरने वालों में ज्यादातर एशियन मूल के ही थे. कुछ शवों की गणना कई बार कर ली गई क्योंकि बम इतना प्रभावी था कि लोगों के चीथड़े उड़ गए थे. कोलंबो में ही 4 जगहों में विस्फोट हुआ इसलिए एक सामान्य अनुमान शवों और बिखरें अंगों के आधार पर लगाया गया.

श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसंघे ने इससे पहले बयान दिया था कि उनका देश और अधिक हमलों का अब भी सामना कर रहा है. सुरक्षा विभाग ऐसे स्लीपरों को निशाना बना रहा है जो फिर से आतंकी हमलों को अंजाम दे सकते हैं.  

श्रीलंका में आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने को लेकर आलोचना का सामना कर रहे विक्रमसिंघे ने कहा कि ईस्टर धमाकों के लिए जिम्मेदार कुछ संदिग्ध हमलावरों की देश की खुफिया सेवा निगरानी कर रही है. विक्रमसिंघे ने कार्रवाई न करने पर सफाई दी थी कि हमले से पहले संदिग्ध हमलावरों को हिरासत में लेने का अधिकारियों के पास कोई मजबूत सबूत नहीं था.

श्रीलंका के कोलंबो में ईस्टर के अवसर पर हुए आतंकी हमले के बाद रक्षा सचिव हेमसिरी फर्नांडो ने इस्तीफा दे दिया है. ईस्टर बम विस्फोटों के बाद श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना ने रक्षा सचिव हेमसिरी फर्नांडो का इस्तीफा मांगा था, जिसके बाद गुरुवार को उन्होंने अपना इस्तीफा दे दिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें