scorecardresearch
 

'20 साल की नौकरी में इतनी शर्मिंदगी कभी नहीं हुई', पुतिन के डिप्लोमैट ने दिया इस्तीफा

Russia Ukraine War: बोरिस बोंडारेव (Boris Bondarev) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. वह संयुक्त राष्ट्र में रूस के डिप्लोमैट थे. उन्होंने इसके लिए रूस-यूक्रेन जंग को वजह बताया है.

X
रूस के राष्ट्रपति पुतिन (फाइल फोटो) रूस के राष्ट्रपति पुतिन (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रूस-यूक्रेन जंग के 90 दिन पूरे
  • यूक्रेन के कई शहर रूस ने तबाह किये

Russia Ukraine War: रूस द्वारा यूक्रेन में शुरू की गई जंग अबतक खत्म नहीं हुई है. युद्ध के ये 90 दिन रूसी लोगों के लिए शर्मिंदगी की वजह बनते जा रहे हैं. इस बीच रूस के एक डिप्लोमैट Boris Bondarev ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने युद्ध के कारण हुई तबाही को इसकी वजह बताया है. 

जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र में मौजूद रूसी राजदूत ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. रूस के राष्ट्रपति पुतिन द्वारा यूक्रेन में छेड़े गए आक्रामक युद्ध के वह खिलाफ हैं. रूसी राजदूत Boris Bondarev ने इस्तीफे के बाद बाकी राजदूतों को एक पत्र भी लिखा. इसमें राजदूत ने लिखा कि मुझे मेरे देश पर शर्म आती है.

रूसी राजदूत ने अपने पत्र में लिखा, 'पिछले 20 साल से मैं राजदूत का पदभार संभाल रहा हूं. मैंने इस दौरान अपने कार्यकाल में कई उतार-चढ़ाव देखे हैं. देश की विदेश नीति में कई बदलाव देखे हैं. लेकिन 24 फरवरी को जो कुछ हुआ उसके मैं अपने देश पर शर्मिंदा हूं.' बता दें कि 24 फरवरी 2022 ही वह दिन था जब रूस ने यूक्रेन पर आक्रमण किया था.

जंग से सिर्फ तबाही फैली

जंग की वजह से अबतक यूक्रेन में सिर्फ तबाही फैली है. यूक्रेन के कई शहर खंडहर में तब्दील हो चुके हैं. लाखों लोगों को यूक्रेन छोड़कर पड़ोसी देशों में शरण लेनी पड़ी है. हालांकि, यूक्रेन फिलहाल रूस के सामने घुटने टेकने को तैयार नहीं है.

यूक्रेनी सैनिकों द्वारा रूस को कड़ी टक्कर दी जा रही है. यूक्रेन का दावा है कि उसने रूस के करीब 15 हजार सैनिकों को मार गिराया है. यूक्रेन से सटी सीमाओं पर बसे रूसी गांवों पर भी यूक्रेनी सैनिक मिसाइलें दागकर बदला ले रहे हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें