scorecardresearch
 

Russia Ukraine War: 'हमारे पास हथियार होते तो...', युद्ध के बीच जेलेंस्की ने बयां किया दर्द

Russia Ukraine War: यूक्रेन में जारी जंग के बीच जेलेंस्की ने कहा है कि अगर हमारे पास वे हथियार होते जिनकी हमें जरूरत है, तो हम ये युद्ध पहले ही खत्म कर चुके होते.

X
खारकीव में रूसी सेना के हमले जारी खारकीव में रूसी सेना के हमले जारी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जेलेंस्की ने रूसी सेना को बताया सबसे बर्बर
  • यूक्रेन ने किया मारिंका शहर पर नियंत्रण का दावा

रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग अब और भी भीषण रूप लेती नजर आ रही है. रूसी सेना ने यूक्रेन के शहरों पर बम और मिसाइल हमले तेज कर दिए हैं. वहीं, कीव के क्षेत्रीय पुलिस प्रमुख एंड्री नेबिटोव ने कहा है कि रूसी हमलों में क्षेत्र के एक हजार से ज्यादा आम नागरिक मारे गए हैं. इन सबके बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने फिर से हथियारों की मांग की है.

जेलेंस्की ने कहा है कि अगर हमारे पास वे हथियार होते जिनकी हमें जरूरत है तो हम ये युद्ध काफी पहले समाप्त कर चुके होते. उन्होंने सहयोगियों से हथियार उपलब्ध कराने का आह्वान करते हुए कहा कि यह उचित नहीं है कि हमें अब भी ये पूछने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है कि सहयोगी देश इतने साल से क्या स्टोर कर रहे थे.

यूक्रेन के राष्ट्रपति ने कहा कि रूसी सेना ने इस युद्ध में खुद को इतिहास की सबसे बर्बर और अमानवीय सेना के रूप में दर्ज कर लेगी. उन्होंने कहा कि नागरिकों को जानबूझकर मारना, आवासीय परिसरों और नागरिकों से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर को नष्ट करना, हर तरह के प्रतिबंधित हथियारों का उपयोग किया जाना रूसी सेना की बर्बरता की गवाही देते हैं. दूसरी तरफ, जर्मन चांसलर ओलाफ स्कॉल्ज ने पुतिन को युद्ध अपराध के लिए जिम्मेदार बताया है.

जर्मन चांसलर ने यूक्रेन को हथियारों की आपूर्ति जारी रखने का ऐलान किया और साथ ही ये भी कहा कि जर्मनी की हथियार देने की क्षमता अब लगभग समाप्त हो गई है. हमारी सरकार इसके लिए हथियार निर्माताओं के साथ मिलकर काम करेगी. उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया है कि यूक्रेन के सैनिकों को वे हथियार दिए जाएं, जिनके उपयोग वे करते रहे हैं. जर्मन चांसलर ने ये भी साफ किया कि NATO, यूक्रेन युद्ध में सीधे हस्तक्षेप नहीं करेगा.

लुहांस्क में भीषण संघर्ष जारी

लुहांस्क में रूस और यूक्रेन के बीच भीषण संघर्ष जारी है. लुहांस्क ओब्लास्ट के गवर्नर ने कहा है कि लगातार हो रही गोलाबारी के बीच आम नागरिकों को निकालने का सिलसिला भी जारी है. रूस ने क्रेमिन्ना शहर पर भी हाल ही में कब्जा कर लिया था. अब इस शहर से लोगों को निकालने का अभियान ठप पड़ गया है. यूक्रेन की ओर से युद्धग्रस्त मारियूपोल शहर से आम नागरिकों को निकालने के लिए ह्यूमैनिटेरियन कॉरिडोर बनाने की मांग भी दुनियाभर के नेताओं से की गई है.

संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस ने चार दिवसीय ईस्टर पर संघर्ष विराम का आह्वान करते हुए कहा है कि इससे जरूरतमंदों तक जरूरी सहायता पहुंचाई जा सकेगी. मारियूपोल सिटी काउंसिल की ओर से ये जानकारी दी गई है कि Azovstal प्लांट में हजारों आम नागरिकों ने शरण ले रखी है जहां रूस की ओर से लगातार बमबारी की जा रही है. रूसी हमले में मारियूपोल शहर तबाह हो गया है. शहर के अधिकतर भवनों को नुकसान पहुंचा है. अमेरिकी राजनयिकों ने मारियूपोल में युद्ध अपराध की तुलना चेचन्या से की है.

यूक्रेन ने किया मारिंका शहर पर कब्जे का दावा

यूक्रेन ने दावा किया है कि डोनेत्स्क से 10 किलोमीटर दूरी पर स्थित मारिंका शहर पर उसकी सेना ने फिर से कब्जा कर लिया है. मारिंका पर मार्च के मध्य में रूसी सेना ने नियंत्रण स्थापित कर लिया था. यूक्रेनी मीडिया का दावा है कि रूस, 2014 की तर्ज पर अब दक्षिणी यूक्रेन के खेरसॉन और मायकोलेव में छद्म जनमत संग्रह कराने की तैयारी में है. यूक्रेनी मीडिया के मुताबिक रूसी सेना ने 18 अप्रैल की पूरी रात खेरसॉन को स्निहुरिवका से जोड़ने वाले राजमार्ग और आसपास के ग्राउंड की खुदाई की.

यूक्रेन का दावा- मार गिराया रूसी हेलिकॉप्टर

यूक्रेन ने दावा किया है कि डॉनबॉस इलाके में पिछले 24 घंटों में रूस के 12 टैंक नष्ट कर दिए गए हैं. यूक्रेन का दावा है कि रूस का एक आर्टिलरी सिस्टम, 28 बख्तरबंद वाहन, एक सुखोई-34 एयरक्राफ्ट, एक केए-52 हेलिकॉप्टर, चार UAV और एक क्रूज मिसाइल नष्ट कर दी गई है. यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ने दावा किया है कि गोलाबारी तेज होने के बावजूद रूस को संघर्ष करना पड़ रहा है. पर्यावरण, रसद और अन्य चुनौतियां भी रूसी सेना की राह में बाधा उत्पन्न कर रही हैं.

जनरल मोटर्स ने रूस में रोकी कार की सप्लाई

जनरल मोटर्स ने रूस में कार और स्पेयर पार्ट्स की सप्लाई रोक दी है. वहीं, एप्पल ने भी रूस में एप्पल स्टोर से टिकटॉक हटा दिया है. हालांकि, कंपनी ने ये साफ किया है कि जिन फोन में पहले से ही टिकटॉक डाउनलोड है, उनमें ये काम करता रहेगा. लिथुआनिया ने रूस युद्ध का समर्थन करने वाले प्रतीकों के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया है.

कनाडा ने पुतिन की बेटियों पर लगाया बैन

कनाडा की सरकार ने भी बड़ी कार्रवाई का ऐलान किया है. कनाडा ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की दो बेटियों पर बैन लगाने की घोषणा की है. कनाडा ने ये भी कहा है कि व्लादिमीर पुतिन की बेटियों के साथ ही कुल 12 रूसी नागरिकों को बैन किया गया है जिनमें रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव की पत्नी भी शामिल हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें