scorecardresearch
 

Russia Ukraine War: अब यूक्रेन ने रूस पर बरसाए तोप के गोले, एक की मौत, नाबालिग समेत छह जख्मी

Russia Ukraine News: यूक्रेन के कई शहर बर्बाद हो चुके हैं लेकिन उसने अबतक हार नहीं मानी है. रूसी सैनिकों को वह लगातार निशाना बना रहा है. अब रूस के एक गांव पर उसने मिसाइल अटैक किया है.

X
यूक्रेनी सैनिक रूस को कड़ी टक्कर दे रहे हैं (फाइल फोटो) यूक्रेनी सैनिक रूस को कड़ी टक्कर दे रहे हैं (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रूस-यूक्रेन युद्ध पिछले 77 दिनों से जारी है
  • यूक्रेन के कई शहरों को रूस ने तबाह किया

Russia Ukraine News: रूस-यूक्रेन जंग बीतते दिनों के साथ और ज्यादा खूनी होती जा रही है. अब रूस ने दावा किया है कि यूक्रेन की तरफ से उसपर हमला हुआ है, जिसमें एक रूसी नागरिक की मौत हो गई है, वहीं छह लोग जख्मी हैं. जख्मी लोगों में एक नाबालिग भी शामिल बताया गया है.

यूक्रेन ने जो बम फेंके वे रूस के बेलगोरोड इलाके के Solokhi गांव में गिरे. Solokhi गांव में करीब 600 लोग रहते हैं. यह यूक्रेन की सीमा से करीब 11 किलोमीटर दूर है. फिलहाल रूसी नागरिकों को यहां से सुरक्षित जगह भेजा जा रहा है क्योंकि और हमले होने की आशंका है.

इससे पहले तक रूस द्वारा यूक्रेन में तबाही मचाने की खबरें आती रही हैं. यूक्रेन के कई शहरों को रूस पूरी तरह तबाह कर चुके हैं. लाखों लोगों को यूक्रेन छोड़कर आसपास के देशों में शरण लेनी पड़ी है.

रूस-यूक्रेन जंग का आज 78वां दिन है. इस बीच रूसी मीडिया ने दावा किया है कि यू्क्रेन की तरफ से तोप के कुछ गोले एक रूसी गांव पर आकर गिरे. इसमें एक शख्स की मौत हो गई, वहीं नाबालिग समेत छह लोग घायल हो गए.

यह भी पढ़ें - रूसी स्पेस एजेंसी के प्रमुख की धमकी- परमाणु युद्ध हुआ तो आधे घंटे में खत्म हो जाएंगे NATO देश

अबतक यूक्रेन पर कब्जा नहीं कर पाई पुतिन की सेना

जंग के करीब 80 दिन होने के बावजूद रूस अबतक यूक्रेन पर कब्जे की अपनी मंशा पूरी नहीं कर सका है. खारकीव, मारियूपोल, सुमी जैसे शहरों को रूस ने भले बर्बाद कर दिया हो लेकिन यूक्रेन की राजधानी कीव पर वह कब्जा करने में नाकाम रहा.

मिसाइलों के साथ यूक्रेनी सैनिक, इनको रूसी सैनिक छोड़कर चले गए

पुतिन की सेना लाख कोशिशों के बाद भी कीव में दाखिल नहीं हो पाई. इसकी वजह से उसने प्लान बदलकर अपना पूरा फोकस डोनबास इलाके पर लगा दिया.

डोनबास ही यूक्रेन का वह इलाका है जिसके लुहान्सक और डोनेस्क इलाकों को रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने अलग देश के रूप में मान्यता दे दी थी. बता दें कि यहां पहले से रूसी समर्थित विद्रोही रहते थे, जिनकी मदद से यूक्रेन में घुसने का काम पुतिन की सेना के लिए आसान हो गया था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें