scorecardresearch
 

Rishi Sunak को मजबूती, ब्रिटिश PM बनने की रेस में और आगे बढ़े, अब बचे सिर्फ 4 कैंडिडेट

तीसरे राउंड में ऋषि सुनक 115 वोट हासिल कर वे पहले पायदान पर हैं. वहीं उनकी प्रतिद्वंद्वी पेनी मोर्डेंट 82 वोट के साथ दूसरे नंबर पर और लिज ट्रस 71 वोट के साथ तीसरे नंबर पर बनी हुई हैं. वहीं, 58 वोट के साथ केमी बैडेनोच चौथे नंबर पर हैं.

X
ऋषि सुनक (File Photo) ऋषि सुनक (File Photo)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • तीसरे राउंड में 115 वोट हासिल कर पहले नंबर पर रहे ऋषि
  • पेनी मोर्डेंट 82 वोट के साथ दूसरे नंबर पर रहीं

UK PM Race: भारतवंशी ऋषि सुनक ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद की दौड़ में एक पायदान और आगे बढ़ गए हैं. उन्होंने न सिर्फ तीसरे राउंड में जीत हासिल की है, बल्कि इस दौर में 115 वोट हासिल कर वे पहले पायदान पर बने हुए हैं. तीसरे राउंड के लिए कुल 357 वोट डाले गए थे.

इस राउंड में ऋषि की प्रतिद्वंद्वी पेनी मोर्डेंट 82 वोट के साथ दूसरे नंबर पर रही हैं. वहीं, 71 वोट हासिल कर लिज ट्रस तीसरे नंबर पर हैं. इस राउंड में 58 वोट के साथ केमी बैडेनोच चौथे नंबर पर हैं. 31 वोट हासिल करने वाले टॉम तुगेंदत पीएम पद की रेस से बाहर हो गए हैं.

सुनक के तीसरा राउंड जीतने के बाद उनका समर्थन कर रहे ब्रिटेन के पूर्व स्वास्थ्य सचिव मैट हैनकॉक का बयान सामने आया. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री बनने के लिए ऋषि सबसे उपयुक्त उम्मीदवार हैं. उनके एशियाई मूल के होने से कोई फर्क नहीं पड़ता, उनमें पीएम बनने और जिम्मेदारी निभाने की क्षमता है. हैनकॉक ने आगे कहा, 'मैंने उनके (ऋषि) साथ बहुत करीब से काम किया है, वह मुसीबतों को बखूबी संभालते हैं'.

बता दें कि ब्रिटेन में सत्तारूढ़ कंजर्वेटिव पार्टी के समर्थक मतदाताओं में से लगभग आधे का मानना है कि ऋषि सुनक एक अच्छे प्रधानमंत्री होंगे. हाल ही में हुए ओपिनियन पोल में ऋषि सुनक को PM की रेस में सबसे आगे बताया गया. पोल में शामिल लोग सत्तारूढ़ कंजर्वेटिव पार्टी के समर्थक थे. मौजूदा समय में कार्यवाहक प्रधानंमंत्री बोरिस जॉनसन इसी पार्टी का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. हाल ही में जॉनसन ने अपनी पार्टी के नेताओं से कहा था कि आप चाहें तो किसी का भी समर्थन करें, लेकिन ऋषि सुनक का न करें.

जॉनसन ऋषि के विरोध में

यह पहला सर्वे था, जिसमें प्रधानमंत्री पद की दौड़ में विदेश मंत्री लिज ट्रस को दूसरे स्थान पर रखा गया. न्यूज एजेंसी को एक सूत्र ने बताया कि जॉनसन विदेश मंत्री लिज ट्रस का समर्थन करना चाहते हैं. मालूम हो कि जॉनसन और उनका खेमा ऋषि सुनक 'नहीं' के रूप में एक गुप्त अभियान चला रहा है.

नारायण मूर्ति के दामाद हैं ऋषि

ऋषि सुनक इन्फोसिस के चेयरमैन रह चुके नारायण मूर्ति के दामाद हैं. वह यॉर्कशायर के रिचमंड से सांसद हैं. सुनक वित्त मंत्री बनने से पहले राजकोष के चीफ सेक्रटरी रह चुके हैं और वित्त मंत्री के सेकंड इन कमांड भी रह चुके हैं.ऋषि सुनक दो राउंड के बाद एक अच्छी बढ़त बनाए हुए हैं लेकिन उनकी राह में अभी कई दिक्कतें है. बोरिस जॉनसन ऋषि सुनक को बतौर प्रधानमंत्री नहीं देखना चाहते. वे सुनक के अलावा दूसरे उम्मीदवार का समर्थन करने को तैयार हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें