scorecardresearch
 

10 साल की लड़की के प्रेग्नेंट होने के बाद क्यों मचा हंगामा?

10 साल की एक लड़की का रेप हुआ. वह प्रेग्नेंट हो गई. वह जहां रहती थी, वहां वह अबॉर्शन नहीं करा सकती थी. इसकी वजह से उसे अपने घर से दूर अबॉर्शन के लिए जाना पड़ा. लेकिन इस लड़की की खबर जब अखबार में छपी तो लोगों ने उस पर सवाल उठाने शुरू कर दिए. जानें क्या है पूरा मामला..

X
व्हाइट हाउस के सामने प्रदर्शन करतीं अबॉर्शन राइट्स एक्टिविस्ट (Credit- AFP) व्हाइट हाउस के सामने प्रदर्शन करतीं अबॉर्शन राइट्स एक्टिविस्ट (Credit- AFP)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रिपब्लिकन पार्टी के शासन वाले ज्यादातर राज्यों में अबॉर्शन को लेकर कड़े नियम
  • 10 साल की लड़की के प्रेग्नेंसी पर होने लगी बहस

अमेरिका में 'अबॉर्शन के अधिकार' को लेकर हंगामा मचा हुआ है. एक पक्ष है, जिसका कहना है कि अबॉर्शन का अधिकार, महिलाओं का संवैधानिक अधिकार होना चाहिए. तकलीफ, मजबूरी में बच्चे पैदा करने की स्थिति नहीं आनी चाहिए. लेकिन दूसरा पक्ष, भ्रूण हत्या को एक बच्चे की हत्या के तौर पर देखता है.

इसी बीच एक 10 साल की लड़की के प्रेग्नेंट होने की खबर को लेकर देशभर में बहस हो रही है. रेप की वजह से यह लड़की प्रेग्नेंट हो गई थी. यह लड़की ओहियो राज्य की रहने वाली है. उसे अबॉर्शन के लिए अपने राज्य से बाहर जाना पड़ा. क्योंकि 24 जून 2022 से ओहियो में अबॉर्शन के नियम बदल गए. भ्रूण के 6 हफ्ते के होने के बाद ओहियो में अबॉर्शन बैन हो गया है. रेप की वजह से प्रेग्नेंट हुई लड़कियों या महिलाओं को भी कोई छूट नहीं दी गई है. वहीं, ज्यादातर महिलाओं को 6 हफ्ते बाद ही प्रेग्नेंसी का पता चलता है.

हंगामा अभी क्यों हो रहा है?
यह विवाद तब शुरू हुआ जब अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक पुराने फैसले को पलट दिया. 1973 में सुप्रीम कोर्ट ने Roe vs. Wade केस में ऐतिहासिक फैसला देते हुए, अबॉर्शन को संवैधानिक अधिकार बताया था. लेकिन 24 जून 2022 को सुप्रीम कोर्ट ने अपने 49 साल पुराने फैसले को रद्द कर दिया. इसके बाद अमेरिका के कई राज्यों में महिलाओं के लिए अबॉर्शन कराना मुश्किल हो गया.

अमेरिका के हर राज्य में अलग कानून
Roe vs. Wade फैसले के रद्द होते ही अमेरिका के विभिन्न राज्यों को यह छूट मिल गई कि वे अबॉर्शन को लेकर अपने-अपने कानून लागू कर सकते हैं. इसके बाद कई राज्यों में तुरंत ही पुराने कानून प्रभावी हो गए जिसके तहत अबॉर्शन को लेकर कड़े नियम बनाए गए हैं. रिपब्लिकन पार्टी के शासन वाले ज्यादातर राज्यों में अबॉर्शन को लेकर उदार नियम नहीं हैं.

10 साल की लड़की की प्रेग्नेंसी पर उठाए गए सवाल
रेप के बाद 10 साल की एक लड़की प्रेग्नेंट हो गई थी. उसकी प्रेग्नेंसी के 6 हफ्ते हो चुके थे. इसी वजह से उसने ओहियो से बाहर जाकर, इंडियाना राज्य में अबॉर्शन कराया. ये खबर जब मीडिया में प्रकाशित हुई तो एक तबके ने इस लड़की के अस्तित्व को ही झुठलाने की कोशिश की. कुछ रिपोर्ट्स में यह लिखा गया कि क्या असल में ऐसी कोई लड़की है भी? लेकिन कुछ दिन बाद ओहियो में एक आरोपी को रेप के आरोप में गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया. पुलिस के मुताबिक, 27 साल के Gerson Fuentes ने कबूल कर लिया है कि उसने दो बार 10 साल की लड़की से रेप किया था.

'कल्पना कीजिए आप वो 10 साल की लड़की हैं'
इस बीच अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन जो कि डेमोक्रेटिक पार्टी के लीडर हैं, उन्होंने अबॉर्शन को लेकर कई सुविधाएं देने का ऐलान किया है. इस दौरान जब बाइडेन प्रेस से बात कर रहे थे तो उन्होंने 10 साल की लड़की का जिक्र करते हुए कहा कि कल्पना कीजिए कि आप वह 10 साल की लड़की हैं. उन्होंने 10 साल की लड़की से रेप और फिर उसे अबॉर्शन के लिए दूसरे राज्य में जाने को मजबूर होने को, भयावह स्थिति बताया. बाइडेन ने कहा कि इस लड़की के साथ जो हुआ वह आपको यह सोचने पर मजबूर करता है कि इंसान इस धरती पर शासन करने लायक नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें