scorecardresearch
 

पाकिस्तान: बाढ़ से 3 हजार किमी सड़कें बह गईं, 20 लाख एकड़ फसल बर्बाद और आपातकाल, जानिए क्यों आई ऐसी 'जल प्रलय'?

पाकिस्तान में भारी बारिश और बाढ़ की वजह से ज्यादातर इलाकों में घर टूट चुके हैं. लाखों लोग बेघर हो गए हैं. उनके सामने खाने का संकट खड़ा हो रहा है. फसलें बर्बाद हो चुकी हैं और खाने-पीने की चीजों के दाम बेकाबू हो चुके हैं. इस बीरच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक ट्वीट कर पाकिस्तान के लोगों के प्रति संवेदना जताई है. 

X
पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के गुडपुर में बाढ़ से खेत डूब गए (फोटो-एएफपी)
पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के गुडपुर में बाढ़ से खेत डूब गए (फोटो-एएफपी)

पाकिस्तान इस समय सबसे घातक बाढ़ का सामना कर रहा है. यहां पिछले 10 दिनों की बारिश ने 30 साल के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. एक तिहाई पाकिस्तान बाढ़ की वजह से डूब गया है. बाढ़ से यहां अब तक 1100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है. 10 लाख से ज्यादा लोग बेघर हो गए हैं. इस वक्त करीब 3 करोड़ लोग बाढ़ का सामना कर रहे हैं.

अब तक इस बाढ़ में 7 लाख से ज्यादा पशु मारे गए हैं. बाढ़ से आई इस तबाही से पाकिस्तान की 3 हजार किलोमीटर की सड़कें पानी में बह गई हैं. इससे लोगों तक राहत सामग्री पहुंचाने में बहुत दिक्कतें आ रही हैं.

जानकारी के मुताबिक बाढ़ का सबसे ज्यादा असर सिंध, बलूचिस्तान, खैबर-पख्तूनख्वा और पंजाब राज्य में हुआ है. यहां करीब 20 लाख एकड़ में फैली फसल बर्बाद हो गई है. पाकिस्तान सरकार ने देश में राष्ट्रीय आपातकाल घोषित कर दिया. विशेषज्ञों के मुताबिक इस बाढ़ का सबसे बड़ा कारण जलवायु परिवर्तन है, जिसका सीधा असर बारिश के पैटर्न पर पड़ा है. 

तापमान बढ़ने से हो रही ज्यादा बारिश 

दुनियाभर में बढ़ते तापमान को लेकर संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के अनुसार पृथ्वी के तापमान में 1 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी हुई है. इससे दक्षिण एशिया के देशों में 5 प्रतिशत ज्यादा बारिश हो रही है.

दक्षिण एशिया में भारत, पाकिस्तान बांग्लादेश और श्रीलंका जैसे देश आते हैं. तापमान बढ़ने और समुद्र के पास होने की वजह से गर्म हवाएं हिमालय से टकराती हैं, जिससे भारत और पाकिस्तान जैसे देशों में ज़्यादा बारिश हो रही है.

औसत से 255 मिमी. ज्यादा हुई बारिश

पाकिस्तान में औसतन 130 मिमी. बारिश हो जाती है, लेकिन इस बार 385 मिमी बारिश हुई है. मौसम विभाग का अनुमान है कि इस बार पाकिस्तान में सितंबर तक भारी बारिश हो सकती है. सिंध में सामान्य से 784 प्रतिशत ज्यादा बारिश हुई है.

बलूचिस्तान में 522 प्रतिशत और गिलगित बालिटस्तान में 225 प्रतिशत ज़्यादा बारिश ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. इसी तरह पंजाब में 62 प्रतिशत और खैबरपख्तूनख्वां में 54 प्रतिशत सामान्य से ज्यादा बारिश हुई है.

यूएन चीफ अगले हफ्ते जाएंगे पाकिस्तान

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस अगले सप्ताह पाकिस्तान की यात्रा पर जाएंगे. मंगलवार को बयान जारी कर कहा गया कि ऐतिहासिक बाढ़ से प्रभावित लाखों पुरुषों, महिलाओं और बच्चों के सामने दुखद स्थिति को देखते हुए महासचिव गुटेरेस एकजुटता यात्रा के लिए पाकिस्तान जाएंगे.

इससे पहले 29 अगस्त को यूएन सेक्रेटरी जनरल के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा था कि पाकिस्तान में बारिश लगातार जारी है. ऐसे में स्थिति और ज्यादा खराब हो सकती है. हम पाकिस्तानी सरकार के साथ मिलकर 160 मिलियन डॉलर फंड की मदद के लिए अपील करेंगे. उन्होंने आगे कहा कि हालात को देखते हुए यूएन की ओर से आपातकाल मदद के तौर पर 3 मिलियन डॉलर फंड रिलीज कर दिया गया है. 

(आजतक ब्यूरो)

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें