scorecardresearch
 

मदद में उतरी ऑर्डिनेंस फैक्ट्री, कोरोना मरीजों के लिए बनाएगी 285 आइसोलेशन बेड

इशापुर स्टील फैक्ट्री और कोसीपुर की गन एंड शेल फैक्ट्री में भी 30-30 बेड बनाए जा रहे हैं. इसके अलावा खड़की बंदूक फैक्ट्री, कानपुर आयुध फैक्ट्री, खमारिया आयुध फैक्ट्री, अंबाझारी आयुध फैक्ट्री में भी 30-30 बेड बनाए जा रहे हैं.

रांची में फेस मास्क बनातीं महिलाएं (PTI) रांची में फेस मास्क बनातीं महिलाएं (PTI)

  • कोविड-19 के मरीजों के लिए बनेंगे 285 बेड
  • अलग-अलग आयुध फैक्ट्री में बेड बनाए जाएंगे

देश में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है. लोगों के इलाज में लगी एजेंसियों और मरीजों की मदद के लिए कई सरकारी और निजी संस्थान सामने आए हैं. सेना के तीन अंग आर्मी, नेवी और एयरफोर्स भी मदद में आगे आए हैं और कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में सरकार की मदद कर रहे हैं.

अब इस कड़ी में एक नया नाम आयुध फैक्ट्री (ऑर्डिनेंस फैक्ट्री) का भी जुड़ गया है जिसने कोविड-19 के मरीजों के लिए 285 आइसोलेशन बेड मुहैया कराने का फैसला किया है. रक्षा मंत्रालय के तहत काम करने वाली आयुध फैक्ट्री कई प्रकार के मेडिकल और लॉजिस्टिक सपोर्ट के लिए भी आगे आई है.

ये भी पढ़ें: अमेरिकी कंपनी ने चीन पर ठोका 20 ट्रिलियन डॉलर का मुकदमा

आयुध फैक्ट्री ने कोरोना वायरस के मरीजों के लिए 285 आइसोलेशन बेड बनाने का जिम्मा लिया है. इसके तहत जबलपुर स्थित व्हीकल फैक्ट्री में 40 बेड बनाने का काम चल रहा है. इशापुर स्टील फैक्ट्री और कोसीपुर की गन एंड शेल फैक्ट्री में भी 30-30 बेड बनाए जा रहे हैं.

इसके अलावा खड़की बंदूक फैक्ट्री, कानपुर आयुध फैक्ट्री, खमारिया आयुध फैक्ट्री, अंबाझारी आयुध फैक्ट्री में भी 30-30 बेड बनाए जा रहे हैं. इसके साथ ही अंबरनाथ आयुध फैक्ट्री और हेवी व्हीकल फैक्ट्री अवडी व आयुध फैक्ट्री मेडक में 20-20 बेड बनाए जाएंगे. इसकी तैयारियां जोरशोर से चल रही हैं.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

आयुध फैक्ट्री इन बेडों का इंतजाम स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ परस्पर सामंजस्य बनाते हुए कर रही है. आयुध फैक्ट्री इस तैयारी में भी लगी है कि देश में ज्यादा से ज्यादा कोरोना से बचाने के लिए सुरक्षा उपकरण तैयार किए जा सकें. इसके लिए आयुध फैक्ट्री एचएलएल लाइफकेयर लिमिटेड के साथ बराबर संपर्क में है और ज्यादा से ज्यादा मास्क बनाने पर बल दिया जा रहा है. एचएलएल सरकारी कंपनी है और केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय का सार्वजनिक उपक्रम है.

ये भी पढ़ें: ब्रिटेन के शाही परिवार पर भी कोरोना का अटैक, प्रिंस चार्ल्स पॉजिटिव पाए गए

बता दें, देशभर में कोरोना मरीजों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. अब तक 600 से ज्यादा कंफर्म केस सामने आ चुके हैं. इसमें 11 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 46 लोग ठीक हो चुके हैं. कोरोना से सबसे अधिक महाराष्ट्र और केरल प्रभावित हैं. महाराष्ट्र में 112 और केरल में 105 केस सामने आए हैं.

कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान किया है. यह लॉकडाउन बुधवार से लागू हो गया है और 14 अप्रैल तक चलेगा. दफ्तर, बाजार, सार्वजनिक परिवहन सबकुछ बंद है. प्रधानमंत्री ने साफ-साफ कहा है कि इन 21 दिनों तक इस देश में कोई भी अपने घर से बाहर कदम नहीं रखेगा. केवल जीवनरक्षक सेवाएं ही इस दौरान जारी रहेंगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें