scorecardresearch
 

सिर से तोड़ी ईंटें, गर्दन से मोड़ीं छड़ें, किम जोंग के सैनिकों का अंदाज वायरल

उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग में आयोजित सेल्फ-डिफेंस 2021 की प्रदर्शनी में सैनिकों के कारनामे देखकर लोग हैरत में पड़ गए और किम जोंग उन भी अपने लड़ाकों के कारनामे देखकर काफी खुश नजर आए थे. ये सैनिक अपने सिर से ईंट तोड़ रहे थे, गर्दन से छड़ें मोड़ रहे थे और जमीन पर पड़े कांच पर लेट रहे थे.

फोटो क्रेडिट: ट्विटर फोटो क्रेडिट: ट्विटर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उत्तर कोरिया के सैनिकों के कारनामों से खुश दिखे सुप्रीम लीडर
  • सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा वीडियो

कोरोना और खस्ताहाल अर्थव्यवस्था से जूझ रहे उत्तर कोरिया में लोगों के हालात काफी खराब हैं. हालांकि इस बीच उत्तर कोरिया के सुप्रीम लीडर किम जोंग उन एक रक्षा-प्रदर्शनी में तनावमुक्त और खुश देखे गए. उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग में आयोजित सेल्फ-डिफेंस 2021 की प्रदर्शनी में सैनिकों के कारनामे देखकर लोग हैरत में पड़ गए और किम जोंग उन भी अपने लड़ाकों के कारनामे देखकर काफी खुश नजर आए थे. ये सैनिक अपने सिर से ईंट तोड़ रहे थे, गर्दन से छड़ें मोड़ रहे थे और जमीन पर पड़े कांच पर लेट रहे थे. सोशल मीडिया पर उत्तर कोरिया के सैनिकों का ये वीडियो काफी वायरल हो रहा है. 

गौरतलब है कि इस रक्षा प्रदर्शनी में उत्तर कोरिया की सेना ने अपनी ताकत का प्रदर्शन किया था. उत्तर कोरिया के सैनिकों के हैरतअंगेज कारनामों को देखकर सोशल मीडिया पर कुछ लोग इसे इंडिया गॉट टैलेंट नाम के शो से भी तुलना कर रहे थे. इस वीडियो में देखा जा सकता है कि ये सैनिक कांच के टुकड़ों और लोहे की कीलों पर लेट रहे थे. इसके अलावा अपने शरीर पर सीमेंट की स्लैब रखकर उसे हथौड़े से तोड़ रहे थे. इसके अलावा ये सैनिक अपने चारों ओर लिपटी जंजीरों को भी तोड़ने में सफल हो जाते हैं. सैनिकों के अलावा उत्तर कोरिया के कई खतरनाक हथियारों को भी इस प्रदर्शनी में दिखाया गया था. 

युद्ध के लिए नहीं आत्मरक्षा के लिए तैयार कर रहे हैं हथियार: किम जोंग उन

बता दें कि इस प्रदर्शनी में दिए गए भाषण में किम जोंग उन ने अमेरिका पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि अमेरिका ऐसा कोई बर्ताव नहीं कर रहा है जिससे ये कहा जा सके कि ये देश उत्तर कोरिया के खिलाफ नहीं है. उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया द्वारा जो भी हथियार तैयार किए जा रहे हैं, वे युद्ध के लिए बल्कि आत्मरक्षा के लिए हैं. हम ऐसा अपने देश की संप्रभुता की रक्षा के लिए कर रहे हैं. बता दें कि संयुक्त राष्ट्र ने उत्तर कोरिया के बैलिस्टिक मिसाइल और परमाणु हथियारों के परीक्षण पर रोक लगा रखी है. इसके बावजूद उत्तर कोरिया ने लगातार परीक्षण किए हैं और नतीजतन उस पर कड़ी पाबंदियां भी लगाई गई हैं.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें