scorecardresearch
 

'भारत दुष्कर्म के खिलाफ सख्त से सख्त संदेश देगा'

भारत दिसम्बर में दिल्ली में एक युवती के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म और फिर उसकी मौत के दोषियों को सजा दिलाने की दिशा में तेजी से न्यायिक कार्रवाई कर इसके विरुद्ध सख्त से सख्त संदेश भेजेगा.

भारत दिसम्बर में दिल्ली में एक युवती के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म और फिर उसकी मौत के दोषियों को सजा दिलाने की दिशा में तेजी से न्यायिक कार्रवाई कर इसके विरुद्ध सख्त से सख्त संदेश भेजेगा.

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि हरदीप सिंह पुरी ने बुधवार को कहा, 'भारत सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि दोषियों के खिलाफ तेजी से न्यायिक कार्रवाई की जाएगी और उन्हें यथायोग्य दंड देकर सख्त से सख्त संदेश भेजा जाएगा.'

उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महिला कार्यकारी बोर्ड के पहले नियमित सत्र में भाग लेते हुए दिल्ली सामूहिक दुष्कर्म का उल्लेख होने पर कहा, 'इस घटना पर भारत सरकार सभी भारतीयों के सामूहिक दुख की सहभागी है.' पुरी ने कहा कि न्यायमूर्ति जे. एस. वर्मा समिति ने इस तरह घटना की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए कई कदमों का सुझाव दिया है.

इससे पहले शुरुआती सम्बोधन में अवर महासचिव और संयुक्त राष्ट्र महिला की कार्यकारी निदेशक मिशेल बैशलेट ने भारत में हुई इस दुखद घटना का उल्लेख किया. उन्होंने कहा, 'मैं नई दिल्ली में 23 वर्षीया युवती के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म और उसके बाद हुई उसकी मृत्यु के बारे में बोल रही हूं.'

उन्होंने ओहायो में एक 16 वर्षीया लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म और पाकिस्तान में महिला शिक्षा कार्यकर्ता मलाला यूसुफजई को गोली मारे जाने की घटना का भी उल्लेख किया. उन्होंने कहा कि महिलाओं के खिलाफ हिंसा दुनिया में हर कहीं आम है. उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र महिला पूरी दुनिया में हर देश की सरकारों से महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ हो रही हिंसा को रोकने की अपील करता है. उन्होंने कहा कि अब तक 16 देशों की सरकारों ने नई वचनबद्धता की घोषणा की है और संयुक्त राष्ट्र महिला प्राथमिकता के साथ उनके हर सुधार में महिलाओं के खिलाफ हिंसा खत्म करने के मुद्दे को आगे बढ़ाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें