scorecardresearch
 

PAK: 'तीन अपराधी' मुझ पर फिर से हमले की फिराक में, इमरान खान का बड़ा दावा

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने बड़ा दावा किया है. उन्होंने कहा कि तीन अपराधी मुझ पर फिर से हमला करने का इंतजार कर रहे हैं. साथ ही इमरान ने अपने समर्थकों से आह्वान किया कि अगर वे आजादी से जीना चाहते हैं तो खुद को मौत के डर से मुक्त कर लें.

X
पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (फाइल फोटो)
पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (फाइल फोटो)

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा है कि इस महीने की शुरुआत में उनकी हत्या के असफल प्रयास में शामिल तीन अपराधी उन्हें फिर से निशाना बनाने की फिराक में हैं. रावलपिंडी के गैरीसन शहर में अपनी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी की बड़ी रैली को संबोधित करते हुए इमरान खान ने कहा कि हाल ही में उनका मौत से सामना हुआ था. उन्होंने अपने ऊपर हमले के दौरान गोलियों को बरसते देखा. इमरान खान ने आरोप लगाया कि इस सजिश को "तीन अपराधियों" ने अंजाम दिया था. साथ ही दावा किया कि ये तीनों अपराधी फिर से उन पर हमला करने का इंतजार कर रहे हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक इमरान खान लगातार आरोप लगा रहे हैं कि प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ, आंतरिक मंत्री राणा सनाउल्लाह और ISI प्रमुख मेजर-जनरल फैसल नसीर उन पर हमले की साजिश में शामिल हैं. 

इमरान खान ने अपने समर्थकों से आह्वान किया कि अगर वे आजादी से जीना चाहते हैं तो खुद को मौत के डर से मुक्त कर लें. डर पूरे देश को गुलाम बना देता है. इमरान ने वर्तमान इराक में कर्बला की लड़ाई का जिक्र करते हुए कहा कि पैगंबर के पोते इमाम हुसैन अपने समय के अत्याचारी शासक के खिलाफ आवाज उठाने के लिए अपने परिवार के सदस्यों के साथ मारे गए थे.

इमरान खान रावलपिंडी के गैरीसन शहर में एक हेलीकॉप्टर से पहुंचे, डॉक्टरों की एक टीम के साथ थी. उन्होंने कहा कि जब वह लाहौर से बाहर निकल रहे थे तो उन्हें सलाह दी गई कि वह फिलहाल आराम करें, उनके पैर जख्मी हैं. इमरान ने कहा कि मुझे भले ही आराम की सलाह दी गई लेकिन मैं इसलिए आगे बढ़ा क्योंकि मैं मौत को बेहद करीब से देख चुका हूं. उन्होंने कहा कि अगर आप जीवन जीना चाहते हैं, तो मृत्यु के भय को छोड़ दें.

इमरान खान ने कहा कि देश एक निर्णायक मोड़ पर खड़ा है. जिसके सामने 2 रास्ते हैं. एक रास्ता आशीर्वाद और महानता का है, जबकि दूसरा रास्ता अपमान और विनाश का है. इमरान ने कहा कि वह मांग करते हैं कि देश में जल्द आम चुनाव कराए जाएं. इसके लिए वह लॉन्ग मार्च भी निकाल रहे हैं. 

ये भी देखें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें