scorecardresearch
 

रूस की साख पर लगा एक और बट्टा, EU संसद ने आतंकवाद को बढ़ावा देने वाला देश घोषित किया

यूरोपीय यूनियन में बुधवार को रूस को आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले देश घोषित करने के पक्ष में वोटिंग हुई. इसके बाद रूस को आतंकवाद का प्रायोजक देश घोषित कर दिया गया. इसके पीछे यूरोप की संसद का तर्क है कि रूस की सेना लगातार यूक्रेन के सिविल इन्फ्रास्ट्रक्चर को निशाना बना रहा है.

X
व्लादिमीर पुतिन
व्लादिमीर पुतिन

यूक्रेन में रूस के हमले लगातार जारी हैं. इस युद्ध की वजह से पूरी दुनिया दो फाड़ हो गई है. इस युद्ध ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को एक खलनायक के तौर पर पेश किया है. अब खबर आई है कि यूरोपीय यूनियन (EU) की संसद ने रूस को आतंकवाद को बढ़ावा देने वाला देश घोषित किया है.

यूरोपीय यूनियन की संसद में बकायदा रूस को लेकर वोटिंग हुई. सांसदों ने रूस को आतंकवाद को बढ़ावा देने वाला देश घोषित करने के पक्ष में वोट किया.

इसके पीछे यूरोप की संसद का तर्क है कि रूस की सेना लगातार यूक्रेन के सिविल इन्फ्रास्ट्रक्चर को निशाना बना रहा है, जिसमें एनर्जी इन्फ्रास्ट्रक्चर और अस्पतालों पर हमले शामिल हैं, जो अंतर्राष्ट्रीय कानून का उल्लंघन है. यूरोपीय संसद का यह कदम एक तरफ से प्रतीकात्मक है क्योंकि यूरोपीय यूनियन के पास इसका समर्थन करने के लिए इस तरह का कोई लीगल फ्रेमवर्क नहीं है. 

बता दें कि ईयू पहले ही इस युद्ध को लेकर रूस पर कई तरह के प्रतिबंध लगा चुका है. इस बीच रूस लगातार यूक्रेन पर हमले कर रहा है. रूस के इन हमलों की वजह से यूक्रेन के बुनियादी ढांचों को भारी नुकसान हुआ है और ऐसे में डॉक्टरों के लिए मरीजों का इलाज कर पाना भी मुश्किल हो गया है. यूक्रेन के कई इलाकों में स्थिति काफी खराब हो गई है. बिजली और पानी की लाइनें काट दी गई हैं. लोग जरूरी सामानों के लिए परेशान हो रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें