scorecardresearch
 

WEF मंच से बोले ट्रंप- चीन से डील बड़ी बात, रोजगार के मोर्चे पर किया काम

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन से ट्रेड डील को दुनिया के लिए ऐतिहासिक कदम बताया है. दावोस में विश्व आर्थिक मंच पर ट्रंप ने कहा कि मैं पिछली बार नहीं आ पाया, लेकिन इस बार आया हूं. दुनिया की अर्थव्यवस्था में तरक्की के लिए हमने चीन से ट्रेड डील की, जिसका फायदा पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था को होगा.

दावोस WEF में डोनाल्ड ट्रंप का संबोधन दावोस WEF में डोनाल्ड ट्रंप का संबोधन

  • चीन-यूएस व्यापार समझौते को ट्रंप ने बताया दुनिया के लिए बड़ा कदम
  • बच्चों के स्वास्थ्य से लेकर शिक्षा पर ट्रंप प्रशासन का फोकस

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन से ट्रेड डील को दुनिया के लिए ऐतिहासिक कदम बताया है. दावोस में विश्व आर्थिक मंच पर ट्रंप ने कहा कि मैं पिछली बार नहीं आ पाया, लेकिन इस बार आया हूं. दुनिया की अर्थव्यवस्था में तरक्की के लिए हमने चीन से ट्रेड डील की, जिसका फायदा पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था को होगा.

डोनाल्ड ट्रंप ने अपने संबोधन में कहा कि उनके कार्यकाल से पहले अमेरिका कई बड़ी कंपनियां बंद हो गई थीं. लेकिन जब वो पावर में आए तो उन्होंने उनमें से कई कंपनियां फिर चालू करवाने का काम किया है. 

खुद की तारीफ करते दिखे ट्रंप

ट्रंप ने कहा है कि उनके राष्ट्रपति बनने के बाद से अमेरिका में 70 लाख लोगों को नौकरियां मिली हैं और यह सरकार के अनुमानों से तीन गुना अधिक है. उन्होंने कहा कि अमेरिका में पिछले एक दशक में बेरोजगारी दर सबसे कम 3.4% पर है. ट्रंप ने कहा कि राष्ट्रपति पद का कार्यभार संभालने के साथ ही बेरोजगारों को रोजगार मुहैया कराना उनकी प्राथमिकता में था, लेकिन उन्होंने कभी इसका इजहार नहीं किया. 

चाइल्ड केयर पर अमेरिका का फोकस

अमेरिका की उपलब्धि बताते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने उनके कार्यकाल के दौरान अमेरिका में चाइल्ड केयर पर बहुत काम किया गया है. बच्चों की हेल्थ से लेकर शिक्षा पर ट्रंप प्रशासन का फोकस रहा है. अमेरिका अर्थव्यवस्था को और मजबूत करने के लिए कई बड़े और कड़े फैसले लिए गए हैं.

उन्होंने कहा कि दुनिया की आर्थिक तरक्की की राह में अमेरिका मदद के लिए तैयार है. लेकिन अमेरिका तब पीछे हट जाएगा, जब किसी फैसले से अमेरिकी को नुकसान होगा.

ट्रंप पर दुनिया की नजर

WEF में डोनाल्ड ट्रंप के संबोधन पर दुनिया की नजर टिकी है. क्योंकि एक तरह पिछली बार ट्रंप इस फोरम में शामिल नहीं हुए थे. और इस बार अमेरिका में चुनाव से पहले डोनाल्ड ट्रंप के लिए एक अहम मंच है.

दावोस में चल रही चार दिवसीय बैठक में दुनियाभर के शीर्ष राजनेता और कारोबारी शिरकत कर रहे हैं. इस दौरान धरती के बढ़ते तापमान के कारण पर्यावरण और अर्थव्‍यवस्‍था  को खतरों पर भी चर्चा होगी. इस साल WEF में 'Stakeholders For a Cohesive and Sustainable World' थीम रखी गई है. WEF में भारत की ओर से केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल शिरकत कर रहे हैं.

WEF के बारे में

स्विट्जरलैंड स्थित विश्व आर्थिक मंच है, जो कि एक गैर सरकारी संगठन है. दुनिया भर में कारोबार, राजनीति, अकादमिक के क्षेत्र में काम करता है. वैश्विक, क्षेत्रीय और औद्योगिक लक्ष्यों को तय करने में विश्व आर्थिक मंच की बड़ी भूमिका रहती है. यह मंच हर साल जनवरी के अंत में स्विट्जरलैंड के दावोस के अल्पाइन स्काई रिजॉर्ट में सालाना मीटिंग का आयोजन करता है. इस मीटिंग में दुनिया भर से कारोबार, राजनीति, आर्थिक जगत के हजारों नेता हिस्सा लेते हैं और वैश्विक मुद्दों पर चर्चा करते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें