scorecardresearch
 

कमजोर पड़ोसियों को धौंस दे रहा चीन, ताइवान के आसमान में गरजे चाइनीज लड़ाकू जेट

ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग वेन चीन की शक्ति से ताइवान की आजादी चाहती हैं और वो इसकी प्रबल समर्थक हैं. उन्होंने कहा कि एलेक्स एजार का ताइवान दौरा ताइवान और अमेरिका के संबंधों में नई शुरूआत है. वहीं चीन ने इस दौरे का विरोध किया और कहा कि ये दौरा वन चाइना पॉलिसी के प्रति अमेरिका की प्रतिबद्धता का खुल्लम-खुल्ला उल्लंघन है.

आसमान में चीन और ताइवान का लड़ाकू विमान (फोटो- पीटीआई) आसमान में चीन और ताइवान का लड़ाकू विमान (फोटो- पीटीआई)

  • चीन ने ताइवान की वायु संप्रभुता का किया उल्लंघन
  • अमेरिकी स्वास्थ्य मंत्री के दौरे से काफी खफा है चीन
चीन तुलनात्मक रूप से अपने कमजोर पड़ोसियों को हेकड़ी दिखाने में पीछे नहीं हट रहा है. सोमवार को चीन ने अपने ताकत के अभिमान में ताइवान के एयरस्पेस की संप्रभुता का उल्लंघन किया. ताइवान के आसमान में चीनी वायुसेना के विमान गरजते हुए देखे गए.

दरअसल चीन की खुन्नस अमेरिका के एक वरिष्ठ राजनयिक के ताइवान दौरे को लेकर है. चीन ने अमेरिका के स्वास्थ्य मंत्री एलेक्स एजार के ताइवान की राजधानी ताइपे के दौरे पर सख्त नाराजगी जताई है और अमेरिका के सामने कूटनीतिक विरोध दर्ज कराया है.

अमेरिकी स्वास्थ्य मंत्री के दौरे से खफा चीन

बता दें कि एलेक्स एजार चार दशकों में ताइपे का दौरा करने वाले पहले सीनियर अधिकारी हैं. कोरोना वायरस से निपटने के लिए अमेरिका ताइवान के साथ समन्वय स्थापित कर रहा है. इसी के मद्देनजर एलेक्स एजार अपनी तीन दिवसीय यात्रा पर ताइवान पहुंचे हैं. यहां पर उन्होंने राष्ट्रपति साई इंग वेन से मुलाकात की है.

पढ़ें- भारत-चीन तनाव के बीच हिमाचल की पहाड़ियों में राफेल ने रात में किया अभ्यास

बता दें कि चीन ताइवान को अपना हिस्सा मानता है और यहां किसी भी हाई प्रोफाइल विदेशी नेता और अधिकारी के दौरे का विरोध करता है.

चीन के प्रभुत्व से आजादी चाहता है ताइवान

ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग वेन चीन की शक्ति से ताइवान की आजादी चाहती हैं और वो इसकी प्रबल समर्थक हैं. उन्होंने कहा कि एलेक्स एजार का ताइवान दौरा ताइवान और अमेरिका के संबंधों में नई शुरुआत है. वहीं चीन ने इस दौरे का विरोध किया और कहा कि ये दौरा वन चाइना पॉलिसी के प्रति अमेरिका की प्रतिबद्धता का खुल्लम-खुल्ला उल्लंघन है.

चीन सीमा की निगहबानी के लिए सुरक्षाबलों ने मांगे सैटेलाइट नेटवर्क

ताइवान के विमानों ने खदेड़ा

ताइवान की वायुसेना ने कहा कि राष्ट्रपति साई और एजार की मीटिंग से पहले चीनी लड़ाकू विमान शेनयांग J-11 और चेंगदू J-10 जो कि चीन की वायुसेना से जुड़े हुए हैं, इन लड़ाकू विमानों ने ताइवान स्ट्रेट की रेखा को पार किया. ताइवान ने कहा कि चीनी लड़ाकू विमानों को पहले मौखिक चेतावनी दी गई, लेकिन चीनी जेट ने इसे अनसुना कर दिया, इसके बाद ताइवान के विमानों ने इन दोनों लड़ाकू विमानों को अपने आसमान से खदेड़ दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें