scorecardresearch
 

चीन ने 6 भारतीय कंपनियों से फ्रोजेन सीफूड का आयात रोका, कोरोना वायरस के ट्रेसेज मिलने का दावा

चीन ने गुरुवार को छह भारतीय कंपनियों से फ्रोजेन सीफूड के आयात को एक सप्ताह के लिए निलंबित कर दिया. चीनी सीमा शुल्क ने दावा किया कि उन्हें पैकेजिंग पर कोरोना वायरस के ट्रेसेज मिले है.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चीन कई बार आयात को कर चुका है बंद
  • कोरोना ट्रेसेज मिलने पर फिर की कार्रवाई

चीन ने गुरुवार को छह भारतीय कंपनियों से फ्रोजेन सीफूड के आयात को एक सप्ताह के लिए निलंबित कर दिया. चीनी सीमा शुल्क ने दावा किया कि उन्हें पैकेजिंग पर कोरोना वायरस के ट्रेसेज मिले है. पिछले साल की शुरुआत से चीन दुनिया भर से आयातित फ्रोजेन सीफूड का परीक्षण कर रहा है.

चीन ने पैकेजिंग पर वायरस के ट्रेसेज मिलने के बाद समय-समय पर कंपनियों से आयात को निलंबित किया है. चीन के सीमा शुल्क के सामान्य प्रशासन ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि छह भारतीय कंपनियों के फ्रोजेन सीफूड उत्पादों के बाहरी पैकेजों पर कोरोना वायरस के ट्रेसेज पाए गए और आयात एक सप्ताह के लिए निलंबित कर दिया जाएगा.

चीन ने कोरोनोवायरस के प्रसार को काफी हद तक नियंत्रित किया है, जो पहली बार दिसंबर 2019 में मध्य चीनी शहर वुहान से शुरू हुआ था. दुनिया के कई देश मानते हैं कि चीन के वुहान लैब से कोरोना वायरस निकला है. फिलहाल, अमेरिका इसकी जांच कर रहा है और जल्द ही जांच रिपोर्ट सामने आ सकता है.

चीन का वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (WIV) के पास हुआनान सीफूड मार्केट है, जहां वायरस पहली बार 2019 के अंत में सामने आया था और एक महामारी बन गया. दुनिया भर में कोरोना के 174 मिलियन से अधिक मामलों की पुष्टि हुई है और कम से कम 3.75 मिलियन लोगों की मौत हुई है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें