scorecardresearch
 

यूक्रेन पर परमाणु हमले की आशंका से डरा ये पड़ोसी देश, कहा- पुतिन से दोस्ती लेकिन बर्बादी नहीं चाहते

Russia Ukraine War: बेलारूस न्यूक्लियर अटैक की आशंका से डरा हुआ है. बेलारुस के राष्ट्रपति लुकाशेंको ने कहा कि ये बात सही है कि हमारी रूस से मित्रता है, लेकिन हम अपनी बर्बादी नहीं चाहते हैं, क्योंकि अगर न्यूक्लियर अटैक होता है तो इसमें हमारा भी बड़ा नुकसान होगा.

X
बेलारूस के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको (फाइल फोटो) बेलारूस के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 24 फरवरी से जारी है दोनों देशों के बीच जंग
  • बेलारूस बोला- यूक्रेन रूस को उकसा रहा

Russia Ukraine War: यूक्रेन और रूस के बीच 24 फरवरी से शुरू हुई जंग अभी तक जारी है. 2 महीने से अधिक समय से जारी इस युद्ध में रूस ने यूक्रेन को तहस नहस कर दिया है. कई शहर तबाह हो गए हैं. इमारतें खंडहर में तब्दील हो गई हैं. गलियां वीरान हो गई हैं. इलाके खाली हो गए हैं. लोग अपनी जान बचाकर जहां-तहां छिपे हुए हैं. 

इसी बीच इस बात लगातार सामने आ रही है वो है परमाणु हमला. कभी रूस को परमाणु हमले के लिए अपनी जमीन के इस्तेमाल की अनुमति देने वाला बेलारूस अब खुद इस बात से डरा हुआ है कि कि रूस कहीं यूक्रेन पर न्यूक्लियर अटैक न कर दे. बेलारूस की ओर से कहा गया है कि हम किसी भी युद्ध को स्वीकार नहीं करते हैं. हम लगातार कोशिश कर रहे हैं कि युद्ध न हो.

'हम अमेरिका की तरह समुद्र के पार नहीं'

लुकाशेंको ने कहा कि परमाणु हथियारों का उपयोग पूरी तरह से अस्वीकार्य है, क्योंकि रूस हमारे ठीक बगल में है. हम अमेरिका की तरह समुद्र के पार नहीं हैं. अगर परमाणु हमला होता है तो इसका हम पर भी बुरा असर पड़ेगा. यह हमें बर्बाद कर सकता है. साथ ही कहा कि रूस परमाणु हमला करेगा या नहीं, इसके बारे में पुतिन ही बता सकते हैं.

लुकाशेंको ने किया था रूस का समर्थन

बेलारूस के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको ने युद्ध की शुरुआत में रूस का समर्थन करते हुए उसका बचाव किया था. लेकिन अब लुकाशेंको का कहना है कि उन्हें इस बात का कतई अंदाजा नहीं था कि यह जंग इतनी लंबी खिंच जाएगी. 

'लड़ाई काफी हद तक बढ़ी'

राष्ट्रपति अलेक्जेंडर लुकाशेंको ने कहा कि रूस हमारा पड़ोसी देश है, ये भी सच है कि पुतिन से मित्रता है, लेकिन हम किसी भी कीमत पर अपनी बर्बादी नहीं चाहते हैं. उन्होंने कहा कि मैं एक बात जोर देकर कहना चाहूंगा कि ये लड़ाई अब काफी हद तक बढ़ गई है. हालांकि ऐसी उम्मीद नहीं थी. 

'यूक्रेन अभी भी रूस को उकसा रहा'

बेलारूस के राष्ट्रपति ने आरोप लगाते हुए कहा कि यूक्रेन अभी भी रूस को उकसा रहा है, जबकि हम शांति की अपील कर रहे हैं. लुकशेंको ने कहा कि हम किसी भी युद्ध को स्वीकार नहीं करते हैं. हमारी कोशिश है कि युद्ध न हो. लेकिन यूक्रेन रूस को उकसा रहा है. उसके क्षेत्र में सैन्य कार्रवाई हो रही है, लोग मारे जा रहे हैं, लेकिन वह शांति की वार्ताओं में दिलचस्पी नहीं ले रहा है.

रूस ने जंग से पहले बेलारूस में ही तैनात की थी सेना

बता दें कि यूक्रेन पर हमले से पहले रूस ने सैन्य अभ्यास के बहाने बेलारूसी क्षेत्र में अपनी सेना तैनात की थी. फिर 24 फरवरी को पुतिन ने युद्ध का ऐलान करते हुए अपनी सेना यूक्रेन में भेज दी थी. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें