scorecardresearch
 

नैंसी पेलोसी के बाद अमेरिकी नेता क्यों पहुंच रहे हैं ताइवान?

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी के इस महीने की शुरुआत में ताइवान के दौरे से चीन भड़का हुआ है. चीन इसे अपनी वन चाइना पॉलिसी के खिलाफ मानता है. पेलोसी के ताइवान दौरे के बाद एक के बाद एक कई अमेरिकी नेता ताइवान का दौरा कर चुके हैं. एरिजोना के गवर्नर डग ड्यूसी चौथे अमेरिकी नेता हैं, जो ताइवान के साथ कारोबारी मसले पर चर्चा करने के लिए ताइवान पहुंचे हैं.

X
एरिजोना के गवर्नर डग ड्यूसी (Photo:AP)
एरिजोना के गवर्नर डग ड्यूसी (Photo:AP)

चीन और ताइवान में तनाव के बीच अमेरिका के एरिजोना (Arizona) के गवर्नर डग ड्यूसी (Doug Ducey) ताइपे पहुंचे हैं. वह ट्रेड मिशन (Trade Mission) पर ताइवान गए हैं. चीन की चेतावनियों के बावजूद इस महीने की शुरुआत में अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी (Nancy Pelosi) के ताइवान दौरे के बाद वैश्विक घटनाक्रम तेजी से बदले थे. चीन ने ताइवान के इर्द-गिर्द सिलसिलेवार कई लाइव ड्रिल की थीं. दोनों देशों के बीच बढ़े तनाव के दौरान एरिजोना के गवर्नर डग ड्यूसी के इस दौरे पर सभी की नजरें हैं. उनके साथ एक व्यापक कारोबारी प्रतिनिधिमंडल भी ताइपे पहुंचा है.

इस दौरान गवर्नर डग ड्यूसी ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग वेन (Tsai Ing-wen) और अन्य शीर्ष अधिकारियों से मुलाकात करेंगे. इस दौरान वह अमेरिका और ताइवान के बिजनेस लीडर्स को संबोधित भी करेंगे. एरिजोना के गवर्नर डग ड्यूसी अपने पांच दिवसीय दौरे के दौरान दक्षिण कोरिया भी जाएंगे. 

एरिजोना के गवर्नर डग ड्यूसी ने कहा, एरिजोना के ताइवान और दक्षिण कोरिया के साथ बेहतरीन संबंध हैं. इस ट्रेड मिशन का उद्देश्य इन संबंधों को अगले स्तर तक ले जाना है. 

अमेरिका में ताइवान की राजदूत बी खिम सियाओ ने ट्वीट कर एरिजोना के गवर्नर डग ड्यूसी का ताइवान में स्वागत करते हुए कहा कि डग ड्यूसी का ताइवान में हार्दिक स्वागत है. 

इस मेहमाननवाजी पर गवर्नर डग ड्यूसी ने ताइवान के विदेश मंत्रालय का आभार जताते हुए कहा कि ताइवान विदेश व्यापार विकास परिषद और ताइवान में अमेरिकन इंस्टीट्यूट का इस गर्मजोशी से स्वागत करने के लिए शुक्रिया.

एरिजोना के गवर्नर के कार्यालय के मुताबिक, पिछले साल एरिजोना और ताइवान के बीच कुल द्विपक्षीय व्यापार 1.92 अरब डॉलर रहा.

बता दें कि इससे पहले पिछले हफ्ते अमेरिकी सीनेटर मार्शा ब्लैकबर्न (Marsha Blackburn) ने भी ताइवान का दौरा किया था. इसके साथ ही मैसाचुसेट्स के डेमोक्रेटिक सीनेटर एड मार्के (Ed Markey) की अगुवाई में पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल भी कुछ समय पहले ताइवान जा चुका है. इस दौरान अमेरिका-ताइवान संबंधों, क्षेत्रीय सुरक्षा, व्यापार, निवेश सहित कई अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई थी. इस तरह इस महीने यह किसी अमेरिकी नेता का ताइवान का चौथा दौरा है. 

इस महीने की शुरुआत में अमेरिकी प्रतिनिधी सभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी के ताइवान दौरे से चीन भड़क गया था. चीन शुरुआत से ही पेलोसी के इस दौरे के खिलाफ था और लगातार चेतावनी दे रहा था. पेलोसी के ताइवान से लौटने के बाद चीन ने अमेरिका के साथ कई क्षेत्रों में संबंधों को समाप्त करने का ऐलान किया था. चीन ने ताइवान के आसपास अपने कई फाइटर जेट भेजे थे. चीन ने ताइवान के आसपास कई लाइव ड्रिल की थी ताकि वह ताइवान पर दबाव बना सके. चीन ने पेलोसी पर कुछ प्रतिबंध भी लगाए हैं. चीन पेलोसी के ताइवान दौरे को अपनी वन चाइना पॉलिसी (One China Policy) के खिलाफ मानता है. 

ये भी पढ़ें

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें