scorecardresearch
 

न्यूयॉर्क के Times Square पर रोका गया राम मंदिर का ऐड, जानें क्या है वजह

टाइम्स स्क्वायर (Times Square) पर अब राम मंदिर के भूमि पूजन कार्यक्रम के दिन भगवान राम की तस्वीरों और अन्य संबंधित कन्टेंट का ​विज्ञापन के रूप में डिस्प्ले नहीं किया जाएगा. टाइम्स स्क्वायर में ज्यादातर स्थानों के बिलबोर्ड का संचालन निजी कंपनी ब्रांडेड सिटीज (Branded Cities) के पास है.

Times Square अमेरिका के सबसे चर्चित चौराहों में से है Times Square अमेरिका के सबसे चर्चित चौराहों में से है

  • 5 अगस्त को न्यूयॉर्क के Times Square पर हिंदू समुदाय मनाएगा उत्सव
  • भूमि पूजन के दिन यहां लगे डिस्प्ले बोर्ड पर होना था प्रसारण
  • भगवान राम और राम मंदिर से जुड़ी सामग्री प्रसारित की जानती थी

अमेरिकी शहर न्यूयॉर्क के प्रख्यात टाइम्स स्क्वायर (Times Square) पर अब राम मंदिर के भूमि पूजन कार्यक्रम के दिन भगवान राम की तस्वीरों और अन्य संबंधित कन्टेंट का ​विज्ञापन के रूप में डिस्प्ले नहीं किया जाएगा. मुस्लिम संगठनों की आपत्ति पर निजी कंपनी ब्रांडेड सिटीज ने इसे रोक दिया है. आइए जानते हैं कि क्या है मसला और न्यूयॉर्क के इस मशहूर चौक पर लगे बड़े-बड़े स्क्रीन पर विज्ञापनों में कितना खर्च आता है?

क्या है मामला

टाइम्स स्क्वायर में ज्यादातर स्थानों के बिलबोर्ड का संचालन निजी कंपनी ब्रांडेड सिटीज (Branded Cities) के पास है. इसने हिंदू संगठनों के साथ 5 अगस्त को रामजन्मभूमि से जुड़े कन्टेंट के प्रसारण का सौदा किया था. इसके मुताबिक टाइम्स चौक पर नैस्डेक बिल्डिंग के बाहर बड़े डिस्प्ले बोर्ड पर और इसके अलावा करीब 17,000 वर्ग फुट के डिजिटल LED स्क्रीन्स में ऐसी सामग्री प्रसारित की जाती. इन्हें दुनिया की सबसे बड़ी डिस्प्ले स्क्रीन में शुमार किया जाता है.

इसे भी पढ़ें: 7 रुपये का शेयर 2 साल में 800 रुपये का, क्या पेनी स्टॉक में लगाना चाहिए पैसा?

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर का भूमि पूजन करेंगे. राम मंदिर के लिए भूमि पूजन के दिन अपनी भावनाओं के इजहार के लिए हिंदू संगठनों ने ये विशाल स्क्रीन लीज पर लिए थे. 5 अगस्त को इस चौक पर हिंदू समुदाय के लोगों के द्वारा उत्सव मनाने की भी योजना है. टाइम्स स्क्वायर पर किसी सामग्री के प्रसारण का मतलब है कि पूरे अमेरिका में इसकी ख्याति पहुंच जाती है.

जारी रहेंगे अन्य कार्यक्रम

5 अगस्त को न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वॉयर में Ram Temple Groundbreaking Celebrations होने जा रहा है. ये समारोह बुधवार शाम 7.30 बजे यहां शुरू होगा. राम जन्मभूमि शिलान्यास सेलिब्रेशन कमेटी (यूएसए) के चेयरमैन जगदीश सेवहानी के मुताबिक, 5 अगस्त की शाम को यहां दीप प्रज्जवलन कार्यक्रम है और भजन संध्या का आयोजन किया जा रहा है.

क्यों रोका गया विज्ञापन

अमेरिकी मीडिया में आई खबरों के मुताबिक इमामनेट ImanNet सहित कई मुस्लिम संगठनों के एक समूह की शिकायत पर कंपनी ने रामजन्मभूमि से जुड़े विज्ञापन प्रसारण करने से मना कर दिया है. Clarion India की खबर के अनुसार मुस्लिम संगठनों ने इसके लिए न्यूयॉर्क के मेयर, गवर्नर, सीनेटर और अमेरिकी सांसदों तक से सिफारिश की.

कितना होता है खर्च

एक अनुमान के अनुसार न्यूयॉर्क के मशहर टाइम्स स्क्वायर पर लगे तमाम डिस्प्ले बोर्ड में एक दिन के विज्ञापन पर 5 हजार से 50 हजार डॉलर यानी करीब से 3.75 लाख रुपये से 37.5 लाख रुपये तक खर्च होते हैं.

इसे भी पढ़ें:...तो उत्तर प्रदेश में बसेंगे मिनी जापान और मिनी साउथ कोरिया!

क्या होगा प्रसारण में

हिंदू संगठनों ने इस ऐतिहासिक अवसर को सेलिब्रेट करने के लिए टाइम्स स्क्वायर के अलावा कई और जगह भी बड़े बिलबोर्ड लीज पर ले रखे हैं. योजना के मुताबिक 5 अगस्त को अमेरिकी समय के मुताबिक सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक तमाम बिलबोर्ड्स पर हिंदी और अंग्रेजी में 'जय श्रीराम' लिखने के साथ भगवान राम की एक विशाल तस्वीर का प्रदर्शन होगाा और इसके साथ कुछ वीडियो, राम मंदिर के डिजाइन की 3डी छवि और पीएम मोदी के द्वारा भूमिपूजन कार्यक्रम की तस्वीरों का भी प्रदशर्न किया जाना है. इन सबके लिए खर्च अमेरिकी हिंदू समुदाय से चंदा लेकर किया जा रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें