scorecardresearch
 

'इस्लाम अपनाने का डाला दबाव' मुस्लिम पति को छोड़ रूसी लड़की ने हिंदू से की सगाई!

सोशल मीडिया पर एक रूसी महिला ने अपनी कहानी बताई है. उन्हें इंस्टाग्राम पर 1 लाख से ज्यादा लोग फॉलो करते हैं. उन्होंने अपनी कहानी के दो हिस्से बताए हैं. एक तब जब वह कृष्ण भक्त नहीं थीं और दूसरा जब वह कृष्ण भक्त बनीं. कृष्ण भक्ति की वजह से पति से उनका तलाक भी हो गया था.

X
स्वेतलाना ओचिलोवा के इंस्टाग्राम पर 1 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स (Credit-  svetlana.ochilova108/Instagram)
स्वेतलाना ओचिलोवा के इंस्टाग्राम पर 1 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स (Credit- svetlana.ochilova108/Instagram)

कृष्ण भक्ति में डूबी एक रूसी महिला, अपना देश छोड़कर पश्चिम बंगाल के नादिया जिले के मायापुर शहर में बस गई हैं. यहां उन्हें एक भारतीय लड़के से प्यार हो गया और दोनों ने सगाई भी कर ली है. खास बात यह भी है कि इससे पहले महिला ने एक मुस्लिम लड़के से शादी की थी. महिला ने दावा किया कि मुस्लिम पति उनपर इस्लाम अपनाने का दवाब बनाता था, जिसके बाद उन्होंने पति से अलग होने का फैसला कर लिया.

इस रूसी महिला का नाम स्वेतलाना ओचिलोवा है. उन्होंने बताया कि वह पेशे से एक ग्राफिक डिजाइनर हैं. उन्होंने एक मुस्लिम शख्स से शादी कर ली थी. उन दोनों का एक बेटा भी है. लेकिन बाद में स्वेतलाना का झुकाव कृष्ण भक्ति की तरफ बढ़ने लगा. स्वेतलाना साल 2012 में पहली बार कृष्ण भक्तों से मिली थीं. इसकी वजह से पति से उनके झगड़े होने लगे.

पहले पति को लेकर स्वेतलाना का आरोप है कि वे कृष्ण भक्तों से नफरत करते थे. स्वेतलाना कहती हैं-  उन्होंने मुझे भक्तों से मिलने से रोक दिया. उन्होंने कई बार मुझे पीटा और इस्लाम धर्म को अपनाने का दवाब भी बनाया.

पति के साथ झगड़ों से परेशान होकर स्वेतलाना पति के घर को छोड़कर बेटे का साथ माता-पिता के पास रहने चली गईं. स्वेतलाना ने साल 2016 से कृष्ण भक्ति के मार्ग पर पूरी तरह से चलने का फैसला कर लिया. वह अपने पति से 1 साल तक अलग रहीं. वह मंदिरों में जाने लगीं, इसी दौरान वह पहली बार भारत भी आईं.

स्वेतलाना ने कहा- मेरे अंदर से पति का डर पूरी तरह से चला गया. मैं खुश रहने लगी. साल 2017 में पहली बार मैंने पति से आराम से बात की. उन्होंने मुझे कहा कि कृष्णा और मेरे बीच किसी एक को चुनो. तो मैंने कृष्णा को चुना. इसके बाद हम दोनों का तलाक हो गया. इसके बाद वह, मेरे और मेरे बेटे के बीच कभी नहीं आए.

स्वेतलाना बाद में अपने बेटे के साथ मायापुर शहर आकर रहने लगीं. यहां उनकी मुलाकात रौशन झा से हुई. वह भी कृष्ण भक्त हैं. दोनों के बीच अच्छी समझ डेवलप हो गई. इसके बाद दोनों ने हाल ही में सगाई की है.

सगाई का ऐलान करते हुए स्वेतलाना ने एक इंस्टाग्राम पोस्ट में लिखा- वह सच में हमारी फिक्र करते हैं. रौशन झा ने मुझे मेरे अतीत, वर्तमान और भविष्य के साथ स्वीकार किया है. वह मुझसे प्यार करते हैं. मेरे बेटे को भी उन्होंने अपने बेटे की तरह अपना लिया है.

स्वेतलाना और रौशन ने वृंदावन में यमुना नदी के किनारे सगाई कर ली है. इस मौके पर उन दोनों के कई दोस्त भी मौजूद थे.

स्वेतलाना सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहती हैं. वह कृष्ण भक्ति में डूबे अपने वीडियोज और फोटोज शेयर करती रहती हैं. स्वेतलाना को इंस्टाग्राम पर 1 लाख से ज्यादा लोग फॉलो करते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें