scorecardresearch
 

शादीशुदा महिला टीचर से 15 साल के लड़के को हुआ प्यार, फिर...

15 साल के लड़के को 44 साल की महिला टीचर से प्यार हो गया. लेकिन जब दोनों के बीच संबंध टूटा तो मामला कोर्ट पहुंचा. कोर्ट में लड़के ने खुलकर सभी के सामने स्वीकार किया कि हां, उसे टीचर से मोहब्बत हो गई थी. वह उसे पाने के लिए पागल रहता था.

X
स्टूडेंट ने कहा- मुझे नहीं पता प्यार क्या होता है लेकिन मैं टीचर के साथ रहना चाहता था (प्रतीकात्मक तस्वीर/GettyImages)
स्टूडेंट ने कहा- मुझे नहीं पता प्यार क्या होता है लेकिन मैं टीचर के साथ रहना चाहता था (प्रतीकात्मक तस्वीर/GettyImages)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • स्टूडेंट ने कहा- टीचर को बचाने के लिए किया मैसेज डिलीट
  • महिला टीचर ने लड़के को दिया था स्नैपचैट यूजरनेम

15 साल के एक स्टूडेंट को 44 साल की शादीशुदा महिला टीचर से प्यार हो गया. स्टूडेंट, टीचर का प्यार पाने के लिए किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार रहता था. स्टूडेंट ने अपनी टीचर को कई ज्वेलरी भी गिफ्ट दिए और टीचर ने उन्हें पहना भी. लेकिन एक दिन आया, जब दोनों का रिश्ता टूट गया. छात्र अपनी भावनाओं को काबू नहीं रख सका और टीचर पर कई आरोप लगा दिए.

फिर मामला कोर्ट पहुंचा और छात्र से संबंध बनाने को लेकर टीचर पर ट्रायल चला. कोर्ट में लड़के ने एक बार फिर सभी के सामने स्वीकार किया कि वह टीचर से बेइंतहा मोहब्बत करने लगा था. वह टीचर के लिए पागल हो गया था. कोर्ट ने सभी पक्षों को सुनने के बाद टीचर के पक्ष में फैसला सुनाया और उन्हें यौन उत्पीड़न के सभी आरोपों से बरी कर दिया. कोर्ट का फैसला सुनकर टीचर रोने लगीं.

टीचर और छात्र के बीच, ये प्रेम संबंध 2 साल पहले, 2019 में शुरू हुआ था. तब छात्र की उम्र महज 15 साल थी, टीचर 44 की थीं. 

कोर्ट में सुनवाई के दौरान लड़के ने कहा- मुझे नहीं पता प्यार क्या होता है, लेकिन मैं उनके साथ रहना चाहता था. मैं उन्हें बहुत तंग करता था, जो गलत था, लेकिन मुझे तब यह रियलाइज नहीं हुआ था.

Boy kissing woman
कोर्ट ने टीचर को तमाम आरोपों से बरी कर दिया (प्रतीकात्मक फोटो)

बाद में लड़के ने महिला टीचर पर आरोप लगाया कि टीचर ने अपनी कार की बैक सीट पर उसके साथ संबंध बनाए और टीचर ने अपनी प्राइवेट फोटो भी उसे भेजी थी. लड़के ने कहा- हां, जब आप किसी को प्यार करते हो तो आप किसी की परवाह नहीं करते हैं, है न?

फिर फोटोज को लेकर लड़के ने कहा कि उसने टीचर को बचाने के लिए कुछ मैसेज डिलीट कर दिए थे.

साल 2019 में स्टूडेंट के साथ रिश्ते की शुरुआत को लेकर महिला टीचर ने कहा कि उन्होंने क्लास में लड़के को उदास देखा था. इसके बाद उन्होंने लड़के को अपने 'माइंडफुलनेस सेशन' में बुला लिया ताकि उसका मेंटल हेल्थ ठीक किया जा सके. स्कूल सिस्टम के जरिए टीचर ने इसके लिए लड़के को ईमेल किया.

इस ईमेल पर लड़के ने टीचर को घोस्ट इमोजी भेजा, इसके बारे में टीचर ने कहा कि वह मुझसे इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप स्नैपचैट पर बात करना चाहता था. महिला टीचर ने कहा- उसने मुझसे कहा कि वह एक सीक्रेट शेयर करना चाहता है लेकिन ईमेल पर उसे भरोसा नहीं है. इसके बाद मैंने एक इमेल में उसे अपना स्नैपचैट यूजरनेम दे दिया ताकि वह मुझे सीक्रेट बता सके. सीक्रेट यह था कि वह मुझे प्यार करता था.

महिला टीचर ने कहा- मैं बहुत-बहुत आसानी से धोखा खानेवाली में से हूं. टीचर ने कहा कि वह डर गई थीं क्योंकि उन्होंने लड़के को बहुत ही बचकानी वजह से नॉन-स्कूल कॉन्टैक्ट डिटेल शेयर कर स्कूल के नियम तोड़े थे. 

टीचर ने बताया कि उनको लड़के ने कहा कि वह सुसाइड के बारे में सोच रहा था और मुझे लगा कि उसे अटेंशन नहीं मिला तो वह अपनी जान ले लेगा. मैं बातचीत बंद करना चाहती थी, लेकिन उसे लगा कि मैं उससे बात करना चाहती हूं.

वह स्टूडेंट कई बार टीचर की क्लास में घुस जाया करता था. टीचर ने बताया कि वह उनके प्राइवेट पार्ट्स को टच करता था. टीचर ने बताया कि उन्होंने कई बार लड़के को रोकने की कोशिश की लेकिन वह नहीं रुका.

जब महिला टीचर से पूछा गया कि उन्होंने इसकी शिकायत क्यों नहीं की? जवाब में उन्होंने कहा कि वह सोचती थीं कि अगर वह ऐसा करेंगी तो उन्हें ही इन सब के लिए जिम्मेदार ठहराया जाएगा क्योंकि वह बड़ी हैं और लड़का सिर्फ 15 साल का है.

महिला टीचर ने बताया कि लड़के ने उन्हें एक नेकलेस समेत कई गिफ्ट्स भी दिए, जिसे उन्होंने लौटाने की कोशिश की थी. उन्होंने कहा- मुझे उससे कुछ भी नहीं चाहिए था... मैं बस यही चाहती थी कि वह मुझे अकेला छोड़ दे.

टीचर ने बताया- मैंने कई बार लड़के का दिया नेकलेस पहना भी था क्योंकि मुझे लगता था कि अगर मैं ऐसा नहीं करूंगी तो वह गुस्सा हो जाएगा और मैं उसे वह अवसर नहीं देना चाहती थी. टीचर ने कहा कि लड़का उन्हें अपनी न्यूड फोटोज भी भेजता था, जिसके बारे में उन्होंने कहा कि वह उसे तुरंत डिलीट कर देती थीं और उन्होंने लड़के को यह सब बंद करने को भी कहा था.

उन्होंने कहा कि जब लड़के ने सुसाइडल थॉट्स के बारे में बताया था तब भी से वह उसके लिए चिंतित थीं और वह इसे होने नहीं देना चाहती थीं.

टीचर ने कहा कि उन्होंने लड़के से झूठ बोला था कि वह अमेरिका शिफ्ट होने जा रही हैं और बहाना बनाया था कि वह स्ट्रेस की वजह से दो हफ्तों तक हॉस्पिटल में रहेंगी और उस समय उनका फोन उनके पास नहीं होगा. उन्होंने कहा- मुझे लगा कि इससे सबकुछ रुक जाएगा.

टीचर का नाम रेबेका व्हाइटहर्स्ट है. उनके दो बच्चे हैं. वह ब्रिटेन के लीम की रहने वाली हैं. लड़के ने टीचर पर सेक्शुअल रिलेशनशिप आरोप लगाया था. हाल ही में ब्रिटेन के एक कोर्ट में सुनवाई के बाद टीचर को बेगुनाह करार दे दिया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें