scorecardresearch
 

शादी के दौरान कजन ने की फायरिंग, दुल्हन की खोपड़ी के आर-पार हुई गोली!

शादी के तुरंत बाद ही दुल्हन के कजन ने फायरिंग शुरू कर दी. पहली गोली तो किस्मत से किसी को नहीं लगी, लेकिन दूसरी गोली दुल्हन की खोपड़ी के आर-पार हो गई. उन्हें हॉस्पिटल ले जाया गया लेकिन उनकी मौत गई. उनके अलावा दो और लोग भी इस फायरिंग में घायल हो गए.

X
हर्ष फायरिंग के दौरान दुल्हन की खोपड़ी और दिमाग के आर पार हो गई गोली
हर्ष फायरिंग के दौरान दुल्हन की खोपड़ी और दिमाग के आर पार हो गई गोली
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हर्ष फायरिंग के दौरान दुल्हन को लगी गोली
  • फायरिंग में दो और लोग हुए घायल

शादी समारोह के दौरान हर्ष फायरिंग ने एक दुल्हन की जान ले ली. बताया जा रहा है कि गोली चलाने वाला शख्स कोई और नहीं बल्कि दुल्हन का ही कजन था.

मामला इरान का है. 24 साल की महवाश लेघई की शादी संपन्न होते ही एक पुरुष गेस्ट ने इस मौके को सेलिब्रेट करने के लिए फायरिंग शुरू कर दी. बता दें कि ईरान में हर्ष फायरिंग करना गैरकानूनी है.

रिपोर्ट के मुताबिक, बदकिस्मती से हर्ष फायरिंग के दौरान राइफल बुरी तरह से बैक फायर कर गया. आरोप है कि जश्न मनाने के लिए बिना लाइसेंस वाली शिकारी राइफल का इस्तेमाल किया गया था. इसकी पहली गोली से किसी को नुकसान नहीं हुआ, लेकिन दूसरी गोली दुल्हन की खोपड़ी के आर पार हो गई. इस दौरान दो और पुरुष मेहमान घायल हो गए.

Mahvash Leghaei

यह शादी ईरान के शिराज शहर के साउथ में हो रहा था. घटना को लेकर न्यूजफ्लैश से बातचीत में पुलिस प्रवक्ता कर्नल मेहदी जोकर ने कहा- फिरोजाबाद शहर के एक वेडिंग हॉल से हमें एक इमरजेंसी कॉल मिला था. इसके तुरंत बाद हमने ऑफिसर्स को वहां भेज दिया था.

गोली लगने के बाद दुल्हन को तुरंत हॉस्पिटल ले जाया गया. इलाज के दौरान वह कोमा में चली गई थीं और फिर बाद में उनकी मौत हो गई. वहीं, इस घटना के दौरान घायल हुए दो पुरुषों की किस्मत अच्छी थी. वे दोनों बच गए.

रिपोर्ट के मुताबिक, घटना के बाद गोली चलाने वाला दुल्हन का कजन हथियार के साथ मौके से फरार हो गया था, लेकिन पुलिस ने थोड़े समय में ही उसे पकड़ लिया.

Couple

पुलिस प्रवक्ता कर्नल मेहदी ने कहा- शादी समारोह के दौरान शूटिंग बैन है. इस नियम को तोड़ने वाले लोगों के खिलाफ हम सख्त एक्शन लेंगे.

बता दें कि लेघई एक सोशल वर्कर थीं, जो कि ड्रग एडिक्टेड लोगों को उनकी लत छुड़वाने में मदद करती थीं. लेघई की मौत के बाद उनकी फैमिली ने उनके ऑर्गन्स को तीन लोगों को डोनेट कर दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें