scorecardresearch
 

अजमेर दरगाह में फिल्‍म हिट कराने की दुआ नहीं!

क्या अजमेर में ख्वाजा का दरबार फिल्म हिट कराने की जगह है? ये सवाल उठाया है कि दरगाह के दीवान ने. दीवान जैनुअल आबेदीन ने अजमेर आने वाले फिल्मी सितारों की ये कहते हुए खिंचाई की है कि दरगाह कोई फिल्‍म की कामयाबी के लिए दुआ मांगने की जगह नहीं है और न ही फिल्में ख्वाजा की दुआ से हिट होती हैं.

क्या अजमेर में ख्वाजा का दरबार फिल्म हिट कराने की जगह है? ये सवाल उठाया है कि दरगाह के दीवान ने. दीवान जैनुअल आबेदीन ने अजमेर आने वाले फिल्मी सितारों की ये कहते हुए खिंचाई की है कि दरगाह कोई फिल्‍म की कामयाबी के लिए दुआ मांगने की जगह नहीं है और न ही फिल्में ख्वाजा की दुआ से हिट होती हैं.

अजमेर के ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह पर अब फिल्मी सितारों को फिल्म की कामयाबी की दुआ मांगने की इजाजत नहीं मिलेगी. कुछ दिनों बाद हो सकता है ख्वाज के दर पर सितारों की नो एंट्री हो जाए. दरगाह शरीफ के दीवान ने कहा है कि दरगाह जियारत की जगह है, फिल्मों की कामयाबी की दुआएं मांगने की नहीं.

हालांकि दरगाह में खादिमों की संस्था अंजुमन दरगाह इस बयान से सहमत नहीं है. खादिमों का कहना है कि ख्वाजा का दरबार सबके लिए खुला है. दरगाह के दीवान का कहना है कि कोई ख्वाजा के दर पर दुआ मांगने के लिए बेशक आए, लेकिन दुआ खुद के लिए मांगे, परिवार के लिए मांगे. फिल्मों के लिए दुआ ना मांगी जाए क्योंकि फिल्में अश्लीलता फैलाती हैं. लेकिन दरगाह के खादिम नहीं मानते कि किसी को दरगाह आने से रोकना सही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें