scorecardresearch
 

चीन ने समुद्र के ऊपर बना दिया 'ऐतिहासिक' पुल! देखें तस्वीरें

2018 में पेलजेसैक पुल को बनाने का टेंडर चीन को मिला था. क्रोएशिया में बने इस पुल को चीन और यूरोपियन यूनियन ने मिलकर तैयार किया है. यह पुल 6 पिलर्स पर टिका है. इसकी लंबाई 2.4 किलोमीटर है. पुल का इसी सप्‍ताह उद्घाटन हुआ. इससे क्रोएशिया के प्रमुख पर्यटन शहर डुब्रोव्निक पहुंचना आसान हो गया है. पुल को बनाने पर करीब 4300 करोड़ रुपए का खर्चा आया है.

X
पेलजेसैक पुल 6 पिलर्स पर टिका है, जिसे चीन ने बनाया है (एपी)
पेलजेसैक पुल 6 पिलर्स पर टिका है, जिसे चीन ने बनाया है (एपी)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 2018 में चीन को मिला था टेंडर
  • पुल बनने से डुब्रोव्निक पहुंचना हुआ आसान

क्रोएशिया में लंबे इंतजार के बाद पेलजेसैक पुल (Peljesac Bridge) आखिरकार खुल गया. इस पुल का निर्माण चीन ने किया. पुल बनाने की लागत 4274 करोड़ रुपए से भी ज्‍यादा आई है. पुल के बनने से क्रोएशिया के डुब्रोव्निक शहर जाना आसान हो गया है. स्थानीय मीडिया ने इस पुल को ऐतिहासिक बताया है.

इस पुल के बनने से 'मध्‍ययुगीन दीवारों वाले शहर' डुब्रोव्निक पहुंचना आसान हो गया है. यह पुल 6 खंभों पर टिका है. वहीं पुल बनने से क्रोए‍शिया के दक्षिणी हिस्‍से पेलजेसैक प्रायद्वीप से भी जुड़ाव हो गया है. इस पुल के खुलने के बाद जमकर आतिशबाजी हुई, वहीं एयर शो भी हुआ. 

क्रोएशिया के प्रधानमंत्री Andrej Plenković ने इसे ऐतिहासिक लम्‍हा बताया. उन्‍होंने ट्विटर पर इस पुल के फोटो भी शेयर किए. इसमें दिख रहा है कि पुल की ओपनिंग होने के बाद जमकर आतिशबाजी हुई.

पुल को बनाने का टेंडर साल 2018 में चाइना रोड एंड ब्रिज कॉरपोरेशन को मिला था. इसके बाद चीनी कंपनी एलीगेंट (Elegant) ने इसे बनाया. पुल को बनाने के लिए यूरोपियन यूनियन ने मदद की थी. खास बात यह है कि यह पुल क्रोएशिया के पड़ोसी देश बोस्निया को बाइपास कर निकला है. दोनों ही देशों में पूर्व में तनाव की स्थिति रह चुकी है.

जब पेलजेसैक पुल मंगलवार को खुला तो क्रोएशिया के रहने वाले लोग तपती गर्मी होने के बावजूद इसे देखने के लिए पहुंच गए.

वहीं चीन के प्रीमियर Li keqiang ने अपने वीडियो संदेश में कहा, यह पुल चीन के साथ यूरोपियन यूनियन और क्रोएशिया के दोस्‍ताना संबंध दिखाता है. 

 

TOPICS:
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें