scorecardresearch
 

दिल्‍ली ही नहीं, रेप तो देश भर में होते हैं: सुशील कुमार शिंदे

एक तरफ जहां मासूम 'गुड़‍िया' के साथ हुई दरिंदगी को लेकर देश गुस्‍से से उबल रहा है, वहीं गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने कहा है कि ऐसी वारदातें (रेप) सिर्फ दिल्‍ली में ही नहीं देश के दूसरे हिस्‍सों में भी हो रही हैं.

सुशील कुमार शिंदे सुशील कुमार शिंदे

एक तरफ जहां मासूम 'गुड़‍िया' के साथ हुई दरिंदगी को लेकर देश गुस्‍से से उबल रहा है, वहीं गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने कहा है कि ऐसी वारदातें (रेप) सिर्फ दिल्‍ली में ही नहीं देश के दूसरे हिस्‍सों में भी हो रही हैं.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 5 साल की 'गुड़‍िया' के साथ बलात्कार की घटना को लेकर चल रहे विरोध के बीच सरकार ने आज कहा कि जांच में हुई चूक के मद्देनजर थाना प्रभारी और जांच अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है. दिल्ली पुलिस के संयुक्त आयुक्त सतर्कता को मामले की जांच करने को कहा गया है.

केन्द्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने आज लोकसभा में दिल्ली में पांच साल की एक बच्ची के साथ हुई बर्बरतापूर्ण बलात्कार की घटना पर अपने वक्तव्य में कहा कि संयुक्त पुलिस आयुक्त (सतर्कता) इस आरोप की भी जांच करेंगे क्या मामले को दबाने के लिए स्थानीय पुलिस ने पीड़ित के पिता को कुछ पैसे दिए थे.

उन्होंने बताया कि एक सहायक पुलिस आयुक्त रैंक के अधिकारी को कैमरे पर एक महिला प्रदर्शनकारी को थप्पड़ मारते हुए देखा गया. एसीपी को निलंबित कर दिया गया है. दिल्ली सरकार द्वारा नियुक्त अधिकारी द्वारा इस मामले की विभागीय जांच कराई जाएगी.

उन्होंने बताया कि इस घटना के सिलसिले में रविवार देर रात बिहार के लखीसराय जिले से एक और सह अभियुक्त को गिरफ्तार किया गया है. इससे पहले एक अभियुक्त को 19 अप्रैल को बिहार के मुजफ्फरपुर जिले से गिरफ्तार किया गया था और वह न्‍यायिक हिरासत में है.

गृह मंत्री ने सदन के पटल पर रखे अपने वक्तव्य में मामले का ब्यौरा देते हुए बताया कि पूर्वी जिले के गांधी नगर थाने में 15 अप्रैल को पांच साल की बच्ची के गुमशुदा होने की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी. उसी दिन रात में इस मामले की प्राथमिकी दर्ज की गई थी. उन्होंने बताया कि 17 अप्रैल की सुबह बच्ची की मां ने उसी घर के भूतल पर उसके रोने की आवाज सुनी जिस मकान की पहली मंजिल पर बच्ची के माता-पिता रहते हैं. भूतल का कमरा बाहर से बंद पाया गया. तब पुलिस को सूचित किया गया. पुलिस ने दरवाजा तोड़ा और बच्ची को बरामद किया. उसे तुरंत स्वामी दयानंद अस्पताल में भर्ती कराया गया.

शिंदे ने बताया कि 18 अप्रैल को बच्ची का ऑपरेशन किया गया और बाद में बेहतर इलाज के लिए 19 अप्रैल की शाम उसे एम्स में भर्ती कराया गया, जहां उसका दूसरा आपरेशन किया गया और इस समय उसकी हालत स्थिर बताई गई है.

उन्होंने बताया कि 19 अप्रैल को ही कुछ प्रदर्शनकारियों ने अस्पताल में प्रदर्शन किया जहां दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री बच्ची के स्वास्थ्य के बारे में पूछताछ के लिए स्थानीय सांसद के साथ जा रहे थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें