scorecardresearch
 
ट्रेंडिंग

NRC: कहां जाएंगे 40 लाख लोग? रोहिंग्याओं से बड़ी समस्या

NRC: कहां जाएंगे 40 लाख लोग? रोहिंग्याओं से बड़ी समस्या
  • 1/6
असम में नेशनल रजिस्टर ऑफ़ सिटीजन (एनआरसी) का आखिरी ड्राफ्ट जारी किया गया है. इसमें 40 लाख लोगों के सिर पर देश के बाहर होने की तलवार लटक रही है. सबके मन में यही सवाल है कि आखिर सरकार कैसे इतनी बड़ी जनसंख्या से निपटेगी और अवैध बताए गए लोगों का क्या होगा.
NRC: कहां जाएंगे 40 लाख लोग? रोहिंग्याओं से बड़ी समस्या
  • 2/6

देख जाए तो यदि असम के 40 लाख लोग देश के नागरिक नहीं माने गए तो यह दुनिया की सबसे बड़ी आबादी होगी, जिसके पास किसी भी देश की नागरिकता नहीं होगी.
NRC: कहां जाएंगे 40 लाख लोग? रोहिंग्याओं से बड़ी समस्या
  • 3/6
फिलहाल दुनिया में सबसे ज्यादा रोहिंग्या मुसलमान ऐसे हैं, जो स्टेटलेस हैं. यानी कि उनके पास किसी देश की नागरिकता नहीं है.
NRC: कहां जाएंगे 40 लाख लोग? रोहिंग्याओं से बड़ी समस्या
  • 4/6
यही नहीं, रोहिंग्याओं के अलावा थाईलैंड में 7 लाख, सीरिया में 3.6 लाख, लातविया में 2.6 लाख लोगों के पास किसी भी देश की नागरिकता नहीं हैं.
NRC: कहां जाएंगे 40 लाख लोग? रोहिंग्याओं से बड़ी समस्या
  • 5/6
यूनाइटेड नेशन की रिपोर्ट की माने तो दुनिया में एक करोड़ लोग ऐसे हैं, जो किसी देश के नागरिक नहीं है. ऐसे में यह सवाल उठता है यदि असम से 40 लाख लोग बाहर निकाले गए तो वो जाएंगे कहां. 
NRC: कहां जाएंगे 40 लाख लोग? रोहिंग्याओं से बड़ी समस्या
  • 6/6
लोगों के बीच भी भय का माहौल है. कई बांग्लादेश से सटे जिलों में तनाव है. इसे देखते हुए सरकार ने 33 जिलों में धारा 144 लागू कर दी है और 22 हजार जवान तैनात किये गए हैं.