scorecardresearch
 

अगले साल फेसबुक छोड़ रहे हैं मार्क जकरबर्ग? कंपनी ने दिया ये जवाब

Mark Zuckerberg Step Down: टेक वर्ल्ड इन दिनों अजीब अनिश्चिता का शिकार हुआ पड़ा है. कभी जिस सेक्टर में नौकरी और पैसों की बरसात हुआ करती थी. आज उस सेक्टर में कब किसकी नौकरी चली जाए ये निश्चित नहीं है. ऐसे में चर्चा शुरू हुई कि मार्क जकरबर्ग अपने पद से अगले साल इस्तीफा दे सकते हैं. कंपनी ने इस पर अपना जवाब दिया है.

X
Mark Zuckerberg अपने पद से इस्तीफा नहीं देंगे कंपनी ने ये साफ कर दिया है
Mark Zuckerberg अपने पद से इस्तीफा नहीं देंगे कंपनी ने ये साफ कर दिया है

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स और दूसरी दिग्गज टेक कंपनियां इन दिनों में अपने 'बुरे' दौर से गुजर रही हैं. इस बीच मेटा से जुड़ी एक खबर ने दुनियाभर में सनसनी मचा दी. 22 नवंबर 2022 को कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि मार्क जकरबर्ग (Mark Zuckerberg) अपने पद से अगले साल इस्तीफा देंगे. मेटा ने इस खबर का खंडन किया है. 

मार्क जकरबर्ग फेसबुक, इंस्टाग्राम और वॉट्सऐप का मालिकाना हक रखने वाली कंपनी Meta के CEO हैं. मेटा के स्पोकपर्सन ने एक ट्वीट कर बताया है कि जकरबर्ग के इस्तीफे की बात गलत है. The Leaks ने जानकारी दी थी कि साल 2023 में मार्क जकरबर्ग अपने पद से इस्तीफा देंगे. रिपोर्ट में अननाम सूत्र का हवाला दिया गया था. 

हाल में 11 हजार कर्मचारियों की हुई है छंटनी

मेटा पिछले कुछ वक्त से रेवेन्यू और विज्ञापन को लेकर जूझ रही है. कंपनी ने हाल में ही 11 हजार कर्मचारियों को बाहर निकाला है. इसकी जानकारी खुद मार्क जकरबर्ग ने दी थी. कंपनी ने लागत बढ़ने का हवाला देते हुए कर्मचारियों को निकालने की बात कही थी.

रिपोर्ट्स की मानें तो मेटा ने जिन लोगों को कंपनी से निकाला है, उन्हें चार महीने की अतिरिक्त सैलरी दी जाएगी. मेटा से पहले Twitter ने बड़ी संख्या में कर्मचारियों को निकाला है.

ट्विटर का अधिग्रहण करते ही एलॉन मस्क ने CEO पराग अग्रवाल, चीफ फाइनेंस ऑफिसर नेड सेगल और पॉलिसी हेड विजया गाड्डे समेत बहुत से लोगों को बाहर निकाल दिया. वहीं ऐमेजॉन और गूगल को लेकर भी ऐसी ही रिपोर्ट्स आ रही हैं. माना जा रहा है कि इन दोनों कंपनियों से भी जल्द ही बड़ी संख्या में लोगों की छंटनी हो सकती है. 

18 साल में पहली बार कंपनी को करनी पड़ी छंटनी

साल 2004 में शुरू हुई फेसबुक, जो अब मेटा बन चुकी है. 18 साल में पहली बार कंपनी को इस परिस्थिति का सामना करना पड़ा है कि हजारों लोगों की नौकरी चली गई. रिपोर्ट्स की मानें तो मेटा में काम करने वालो की संख्या 87 हजार के आसपास है.

मेटा का शेयर लगातार गिर रहा है और कंपनी के मार्केट कैप पर इसका बुरा असर पड़ा है. इस साल मेटा का शेयर 73 परसेंट तक गिर चुका है. पिछले एक साल में मेटा का शेयर अर्श से फर्श पर पहुचने की कगार पर है.

कंपनी के शेयर का भाव पिछले साल नवंबर की शुरुआत में 338 डॉलर पर था, जो इस साल नवंबर की शुरुआत में 88.91 डॉलर तक पहुंच गया था. हालांकि, मार्क जकरबर्ग की इस्तीफे की खबरों के बीच मेटा के शेयर का भाव बढ़ा है. खबर लिखते वक्त मेटा के शेयर का भाव 1.58 परसेंट बढ़कर 111.44 डॉलर पर था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें