scorecardresearch
 

चीनी सरकार से विवाद के बाद पहली बार विदेश यात्रा पर गए अलीबाबा के फाउंडर जैक मा

चीनी अरबपति और ई-कॉमर्स कंपनी Alibaba के फाउंडर Jack Ma यूरोप गए हैं. इसे एग्रीकल्चर और स्टडी टूर बताया जा रहा है. चीनी सरकार से विवाद के बाद ये उनकी पहली विदेश यात्रा है.

(फाइल फोटो: Reuters) (फाइल फोटो: Reuters)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • Alibaba के फाउंडर Jack Ma यूरोप गए हैं
  • सरकार से विवाद के बाद ये उनकी पहली विदेश यात्रा है
  • यूरोप जाने से पहले Jack Ma हांगकांग में थे

चीनी अरबपति और ई-कॉमर्स कंपनी Alibaba के फाउंडर Jack Ma यूरोप गए हैं. इसे एग्रीकल्चर और स्टडी टूर बताया जा रहा है. चीनी सरकार से विवाद के बाद ये उनकी पहली विदेश यात्रा है. एंटी मोनोपोली रेगुलेशन को लेकर चीनी सरकार से उनका विवाद पिछले साल से चल रहा है. 

यूरोप जाने से पहले Jack Ma हांगकांग में थे. वहां पर वो अपने फैमली के साथ प्राइवेट टाइम बिता रहे थे. इसको लेकर हांगकांग बेस्ड South China Morning Post ने रिपोर्ट किया था. 

जैक मा फिलहाल स्पेन में एग्रीकल्चर और टेक्नोलॉजी स्टडी टूर के लिए है. ये स्टडी एनवायरमेंटल इशू से रिलेटेड है. ये भी कहा जा रहा है कि वो यूरोप में कई बिजनेस मीटिंग और एग्रीकल्चर स्टडी टूर के लिए रहेंगे. 

पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार 1 साल से भी ज्यादा समय में ये उनकी पहली विदेश यात्रा है. इससे पहले Jack Ma हर तीन दिन में एक दिन ट्रैवलिंग पर होते थे. Jack Ma अलीबाबा से चेयरमैन के तौर पर साल 2019 में अपने 55वें बर्थडे पर रिटायर हो गए थे. 

वो अभी लो-लाइट में हैं. जैक मा को तब तलब किया गया जब उन्होंने पारंपरिक चीनी बैंकों की तुलना मोहरे की दुकानों से की थी. उन्होंने Basel Accords पर भी सवाल खड़े किए थे. बीजिंग ने Alibaba पर एंटीट्रस्ट प्रोब जांच शुरू कर USD 2.8 बिलियन का जुर्माना लगा दिया था.

पिछले साल Alibaba तो तब झटका लगा जब Shanghai Stock Exchange ने इसकी सहयोगी कंपनी Ant Group की डुअल लिस्टिंग को सस्पेंड कर दिया था. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें