scorecardresearch
 

फोन में 5G चलाने के नाम पर चल रहा है बड़ा स्कैम, एक गलती और आपका बैंक अकाउंट हो जाएगा खाली

5G Scam को लेकर एक बार फिर से रिसर्चर ने अलर्ट किया है. अगर आपको भी 4G से 5G सिम अपग्रेड करने को लेकर कॉल या मैसेज आया है तो उस पर रिस्पांस ना दें. आपकी एक गलती से आपका बैंक अकाउंट खाली हो सकता है. जानिए क्या है ये स्कैम और कैसे करें सावधान.

X
5G SIM अपग्रेड के नाम पर चल रहा है स्कैम
5G SIM अपग्रेड के नाम पर चल रहा है स्कैम

पिछले महीने भारत में 5G लॉन्च किया गया था. अभी इसको सेलेक्टेड शहरों में ही पेश किया गया है. लेकिन, अब इसको लेकर स्कैम भी शुरू हो गए हैं. साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर ने 4G से 5G SIM अपग्रेड के नाम पर चल रहे स्कैम को लेकर अलर्ट जारी किया है. 

साइबर सिक्योरिटी कंपनी Check Point ने कहा है कि स्कैमर्स अपने आप को टेलीकॉम कस्टमर केयर एग्जीक्यूटिव बताते हैं. वो 4G सिम को 5G पर अपग्रेड करने की बात कहते हैं. इस स्कैम में यूजर्स की पर्सनल जानकारी हासिल कर ली जाती है. 

ऐसे स्कैम के बारे में कई राज्यों के पुलिस डिपार्टमेंट्स ने रिपोर्ट किया है. मुंबई पुलिस ने ट्वीट करके बताया है कि 5G अपग्रेड के नाम स्कैमर्स कस्टमर से पैसे की भी डिमांड करते हैं. इस तरह का अलर्ट पुणे, गुरुग्राम और हैदराबाद पुलिस ने भी जारी किया है. 

सिक्योरिटी एजेंसी ने यूजर्स को टेलीमार्केटर को OTP देने से मना किया है. OTP देने से यूजर का बैंक अकाउंट स्कैमर्स खाली कर सकते हैं. इसके अलावा बताया गया है कि SMS Phishing भी काफी तेजी से बढ़े हैं. 

SMS के जरिेए यूजर्स को फिशिंग लिंक सेंड किया जाता है. इन लिंक्स में लॉटरी, सिम अपग्रेड, KYC अपडेट की बात की जाती है. इस पर क्लिक करने पर फिशिंग साइट पर रिडायरेक्ट किया जाता है. ये दिखने में ओरिजिनल कंपनी की वेबसाइट की तरह लगती है. 

साइट पर यूजर से कई डिटेल्स की मांग की जाती है. इन डिटेल्स का फायदा उठाकर यूजर के साथ फ्रॉड किया जाता है. ऐसे स्कैम से बचने के लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा. 

ऐसे रहें सेफ:-

ऐसे स्कैम से सेफ रहने के लिए आपको टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन को एनेबल रखना होगा. अपने अकाउंट को पासवर्ड के अलावा दूसरे मैथड से भी प्रोटेक्ट रखें. दूसरे मैथड के तौर पर आप वन-टाइम कोड, बायोमैट्रिक डेटा का इस्तेमाल कर सकते हैं. 

यूजर्स को सलाह दी जाती है कि हर अकाउंट के लिए अलग-अलग पासवर्ड का इस्तेमाल करें. सिंपल की जगह स्ट्रांग पासवर्ड का इस्तेमाल करें. साइबर क्रिमिनल्स के लिए सिंपल पासवर्ड को गेस करना काफी आसान होता है. किसी भी अनजान लिंक पर क्लिक करने से बचें. फोन पर अपनी पर्सनल डिटेल्स या ओटीपी किसी के साथ शेयर ना करें. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें