scorecardresearch
 

Google और Apple ने अपने ऐप स्टोर से हटाया ये पॉपुलर गेमिंग ऐप, जानें वजह

Apple और Google ने पॉपुलर मल्टीप्लेयर गेमिंग ऐप Fortnite को अपने प्लेटफॉर्म से हटा दिया है. वजह पेमेंट को लेकर है, लेकिन इसके उलट fortinite की तरफ से भी इन दोनों कंपनियों पर मुकदमा दर्ज कर दिया गया है.

Representational Image Representational Image

पॉपुलर मल्टीप्लेयर गेमिंग ऐप Fortnite को ऐपल और गूगल दोनों कंपनियाों ने अपने प्लेटफ़ॉर्म से हटा दिया है. गूगल प्ले स्टोर और ऐपल ऐप स्टोर दोनों ही जगह अब ये ऐप उपलब्ध नहीं है.

वजह ये है कि Fortnite गेमिंग ऐप बनाने वाली कंपनी Epic Games ने गूगल और ऐपल को बाइपास करते हुए डायरेक्ट पेमेंट प्लान लॉन्च कर दिया. यानी ऐसा पेमेंट सिस्टम जिसके तहत ऐप यूज़र्स डायरेक्ट Epic Games को पेमेंट कर सकते हैं.

गौरतलब है कि इस तरह के सभी गेम्स में इन ऐप परचेज का ऑप्शन होता है. यानी गेमिंग के कुछ फ़ीचर्स अनलॉक करने के लिए पैसे देने होते हैं. नियम ये है कि ऐपल या गूगल जिसके प्लेटफ़ॉर्म पर ये गेमिंग ऐप है पेमेंट उनके गेटवे के ज़रिए ही किया जाएगा.

चूंकि Epic Games के इन ऐप परचेज रेवेन्यू में से 30% हिस्सा गूगल और ऐपल लेते हैं. ऐसे में अगर ये कंपनी यूजर्स से डायरेक्ट पेमेंट लेती है तो गूगल और ऐपल की हिस्सेदारी नहीं बन पाएगी. जाहिर सी बात है ये दोनों कंपनियों को नागवार गुजरा और इस गेम को उन्होंने अपने प्लेटफॉर्म से ही हटा दिया है.

ऐपल ने इस बारे में जारी किए गए एक स्टेटमेंट में कहा है, ‘Epic ने अपने ऐप में एक फ़ीचर एनेबल किया है जिसे ऐपल ने रिव्यू या अप्रूव नहीं किया है. उन्होंने ऐसा ऐप स्टोर की इन ऐप परचेज की गाइडलाइन का उल्लंघन करने के मक़सद से किया है जो उन हर डेवेलपर्स पर लागू होता है जो गुड्स एंड सर्विस बेचते हैं’

हालांकि एंड्रॉयड के केस में ये थोड़ा अलग है. गूगल ने इसे प्ले स्टोर से तो हटा लिया है, लेकिन इसके बावजूद ये ऐप थर्ड पार्टी ऐप स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है.

गूगल ने अपने एक स्टेटमेंट में कहा है कि एंड्रॉयड के ओपन इकोसिस्टम की वजह से डेवेलपर अलग अलग ऐप स्टोर के ज़रिए ऐप्स का डिस्ट्रिब्यूशन करते हैं.

गूगल ने ये भी कहा है कि Fortnite एंड्रॉयड के लिए दूसरे ऐप स्टोर के ज़रिए उपलब्ध होगा, लेकिन पॉलिसी के तहत कंपनी इसे ऑफिशियल गूगल प्ले स्टोर से हटा रही है.

एंड्रॉयड स्मार्टफ़ोन्स में ये गेम दूसरे ऐप स्टोर जैसे सैमसंग का गैलेक्सी स्टोर या फिर दूसरे ऐप लाइब्रेरी से इसे डाउनलोड किया जा सकता है.

ऐपल के साथ ऐसा नहीं है, कंपनी का इकोसिस्टम अलग है और यहां ऐप स्टोर से ऐप हटाया गया है यानी दूसरी जगह से भी इसे आईफ़ोन में इंस्टॉल नहीं किया जा सकता है.

गूगल और ऐपल द्वारा बैन किए जाने के बाद अब Epic Games ने इन दोनों कंपनियों के खिलाफ मुकदमा कर दिया है. एपिक गेम्स ने आरोप लगाया है कि ऐपल और गूगल की इन ऐप पेमेंट पॉलिसी एंटी कंप्टीटिव है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें