scorecardresearch
 

ATP Finals: थीम की चुनौती ध्वस्त कर ये रूसी खिलाड़ी बना चैम्पियन

रूस के डेनिल मदवेदेव ने अपने करियर के सबसे बड़े खिताब पर कब्जा कर लिया है. उन्होंने एटीपी फाइनल्स की खिताबी टक्कर में वर्ल्ड नंबर-3 डोमिनिक थीम को मात दी.

@DaniilMedwed (Twitter) @DaniilMedwed (Twitter)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • डेनिल मदवेदेव का टूर्नामेंट में धमाकेदार प्रदर्शन
  • खिताबी मुकाबले में हार गए डोमिनिक थीम
  • 11 साल बाद चैम्पियन बना कोई रूसी खिलाड़ी

रूस के डेनिल मदवेदेव ने अपने करियर के सबसे बड़े खिताब पर कब्जा कर लिया है. उन्होंने एटीपी फाइनल्स की खिताबी टक्कर में वर्ल्ड नंबर-3 डोमिनिक थीम को 4-6, 7-6 (2), 6-4 से मात दी.

इस बार के यूएस ओपन विजेता ऑस्ट्रिया के थीम ने फाइनल मुकाबले में बेहतर शुरुआत की, लेकिन 24 साल के मदवेदेव से पार नहीं पा सके. वर्ल्ड नंबर-4 मदवेदेव ने पहला सेट गंवाने के बाद अगले दोनों सेट जीतकर खिताबी जश्न मनाया. मदवेदेव ने 2 घंटे 43 मिनट में यह मुकाबला अपने नाम किया.

मदवेदेव 11 साल बाद एटीपी फाइनल्स जीतने वाले पहले रूसी खिलाड़ी बन गए. इससे पहले 2009 में रूसी खिलाड़ी निकोले डेविडेन्को ने इस टूर्नामेंट पर कब्जा जमाया था.   

मदवेदेव ने सेमीफाइनल में पहला सेट गंवाने के बावजूद वर्ल्ड नंबर-2 राफेल नडाल को 3-6, 7-6 (4), 6-3 से मात देकर फाइनल में जगह बनाई थी. थीम ने एक अन्य सेमीफाइनल में विश्व के नंबर-1 सर्बिया के नोवाक जोकोविच को 7-5, 6-7 (10), 7-6 (5) से हरा फाइनल में जगह पक्की की थी. 

मदवेदेव एटीपी फाइनल्स टेनिस टूर्नामेंट के दौरान राउंड रॉबिन के दूसरे मैच में पांच बार के चैम्पियन जोकोविच को ही हराकर अंतिम-4 में पहुंचे थे.

वह इसी के साथ सीजन के अंत वाली इस चैम्पयिनशिप में 1-3 तक रैंकिंग वाले सभी खिलाड़ियों को मात देने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं. वह 1990 से किसी भी प्रतियोगित में शीर्ष तीन खिलाड़ियों को हराने वाले सिर्फ चौथे खिलाड़ी हैं.

एटीपी टूर की वेबसाइट ने मदवेदेव के हवाले से लिखा है, ‘मैंने टूर्नामेंट से पहले कहा था कि अगर लंदन में 12 साल से खेले जा रहे टूर्नामेंट में इस बार चैम्पियन रूस का होता है तो यह शानदार कहानी होगी.’

थीम ने मैच की शुरुआत में आठ ब्रेक प्वाइंट को बचाने में सफलता हासिल की. उन्होंने बेसलाइन से अपनी ताकत और डिफेंस का इस्तेमाल किया. लेकिन वह रूसी खिलाड़ी के सामने वापसी नहीं कर पाए.

मदवेदेव ने कहा, ‘मुझे लगता है कि मेरे जीवन की यह सबसे मुश्किल जीत थी क्योंकि थीम काफी मुश्किल खिलाड़ी हैं. मुझे लगता है कि वह इस समय अपना सर्वश्रेष्ठ खेल खेल रहे थे. हो सकता है कि ऐसा न हो, लेकिन यह मुझे महसूस हुआ. वह दूसरा सेट जीतने के काफी करीब थे. लेकिन मैं जीतने में कामयाब रहा.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें