scorecardresearch
 

दिग्गज लियोनेल मेसी पर बैन, तीन महीने तक रहेंगे मैदान से बाहर

हाल ही में समाप्त हुए कोपा अमेरिका कप के दौरान भ्रष्टाचार के आरोप लगाने के चलते मेसी पर प्रतिबंध लगाया गया है.

फोटो- रॉयटर्स फोटो- रॉयटर्स

फुटबॉल की संस्था CONMEBOL-The South American Football Confederation) ने अर्जेंटीना के दिग्गज फुटबॉलर लियोनल मेसी को अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से तीन महीने के लिए निलंबित कर दिया है. हाल ही में समाप्त हुए कोपा अमेरिका कप के दौरान भ्रष्टाचार के आरोप लगाने के चलते मेसी पर प्रतिबंध लगाया गया है.

दक्षिण अमेरिकी फुटबॉल नियंत्रक संस्था ने इसके साथ ही मेसी पर 50 हजार अमेरिकी डॉलर (करीब 35 लाख रुपये) का जुर्माना भी लगाया. यह जुर्माना उन पर जुलाई में अर्जेंटीना की चिली पर 2-1 से जीत के बाद की गई टिप्पणी के चलते लगाया गया है.

मेसी और अर्जेंटीना इस फैसले के खिलाफ अपील कर सकते हैं. इस बैन के चलते मेसी इस साल चार मैत्री मुकाबले नहीं खेल पाएंगे. 32 साल के मेसी अर्जेंटीना के सितंबर और मैक्सिको के खिलाफ होने वाले मैचों और अक्टूबर में जर्मनी और एक अन्य टीम जिसका चयन होना बाकी है, के खिलाफ नहीं खेल पाएंगे.

मेसी और अर्जेंटीना फुटबॉल संघ दोनों की ओर से इस पर कोई टिप्पणी नहीं की गई है. मेसी चिली के खिलाफ हुए मुकाबले में मिले रेड कार्ड के चलते मार्च में साउथ अमेरिकी वर्ल्ड कप क्वालिफायर्स के पहले मुकाबले में नहीं खेल पाएंगे.

मेसी को अपने करियर में सिर्फ दूसरी बार इस तरह का सामना करना पड़ा है. चिली के खिलाफ मुकाबले में उन्होंने मिडफील्डर गैरी मेडल के साथ उलझने के बाद मैदान से बाहर भेजा गया था. मेडल भी मैदान से बाहर भेजे गए थे. मेसी ने विरोध स्वरूप पुरस्कार समारोह में भाग नहीं लिया था.

उन्होंने कहा था, 'इस करप्शन का हिस्सा नहीं लेना चाहता.' उन्होंने यह भी कहा था कि टूर्नमेंट में मेजबान ब्राजील का जीतना तय था. मेसी ने पहले ही कोपा अमेरिका के रेफरिंग के खिलाफ अपील कर रखी है. उन्होंने ब्राजील के खिलाफ अर्जेंटीना को सेमीफाइनल में मिली 0-2 की हार के बाद ऐसा किया. जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें अपनी टिप्पणी पर सस्पेंड होने का डर नहीं है, तो उन्होंने कहा- 'सच्चाई बताई जानी चाहिए.' मेसी ने बाद में कोनमेबोल से अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगी थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें