scorecardresearch
 

Asian Champions Trophy, Hockey: भारत की नजरें चौथा बार खिताब जीतने पर, रविवार को कैंप से जुड़ेंगे टोक्यो के रणबांकुरे

टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने के बाद अब भारतीय पुरुष हॉकी टीम की नजरें अगले महीने होने वाले एशियन चैम्पियंस ट्रॉफी पर टिकी है. कप्तान मनप्रीत सिंह और अनुभवी गोलकीपर पीआर श्रीजेश समेत पदक विजेता टीम के अधिकांश सदस्य रविवार को भुवनेश्वर में चल रहे राष्ट्रीय शिविर में शामिल होंगे. 

X
Indian Hockey Team (getty) Indian Hockey Team (getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भारतीय टीम की नजरें चौथी बार खिताब जीतने पर
  • 14 दिसंबर से ढाका में होना है टूर्नामेंट का आयोजन

Asian Champions Trophy, Hockey: टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने के बाद अब भारतीय पुरुष हॉकी टीम की नजरें अगले महीने होने वाले एशियन चैम्पियंस ट्रॉफी पर टिकी है. कप्तान मनप्रीत सिंह और अनुभवी गोलकीपर पीआर श्रीजेश समेत पदक विजेता टीम के अधिकांश सदस्य रविवार को भुवनेश्वर में चल रहे राष्ट्रीय शिविर में शामिल होंगे.

रविवार को शिविर में शामिल होने वाले अन्य खिलाड़ियों में हरमनप्रीत सिंह, दिलप्रीत सिंह, अमित रोहिदास, सुरेंद्र कुमार, नीलकांत शर्मा, सुमित, हार्दिक सिंह, सिमरनजीत सिंह, गुरजंत सिंह, मनदीप सिंह, शमशेर सिंह, ललित कुमार उपाध्याय और वरुण कुमार हैं. सभी को टोक्यो ओलंपिक में उनके ऐतिहासिक प्रदर्शन के लिए अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया जाना है.

विवेक सागर प्रसाद जो अर्जुन पुरस्कार समारोह के लिए नई दिल्ली में भी हैं, 24 नवंबर से 5 दिसंबर तक भुवनेश्वर में होने वाले एफआईएच पुरुष जूनियर विश्व कप में जूनियर टीम के साथ अपने अभियान की समाप्ति बाद सीनियर कैंप में शामिल होंगे.

वैसे कांस्य पदक जीतने वाली टीम के सदस्यों के बिना राष्ट्रीय शिविर 10 नवंबर से शुरू हो चुका है. शिविर के लिए रवाना होने से पहले मनप्रीत और श्रीजेश को शनिवार को यहां मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया जाना है.

30 सदस्यीय संभावित कोर ग्रुप नौ दिसंबर तक भुवनेश्वर में कैंप का हिस्सा होगी. कोर ग्रुप में आकाशदीप सिंह, गुरिंदर सिंह, जरमनप्रीत सिंह, कृष्ण बी पाठक, सूरज करकेरा, जसकरन सिंह, नीलम संजीव जेस, राजकुमार पाल, गुरसाहिबजीत सिंह, दीपसन टिर्की, शिलानंद लाकड़ा, मंदीप मोर, आशीष कुमार टोपनो और सुमन बेक शामिल हैं.

टीम के मुख्य कोच ग्राहम रीड ने एक विज्ञप्ति में कहा, 'हम सीनियर और जूनियर कोर ग्रुप के संभावित खिलाड़ियों के बीच कुछ आंतरिक मुकाबले भी खेलेंगे, जो निश्चित रूप से जूनियर विश्व कप के लिए हमारी तैयारियों में मददगार होगा. अगले साल बैक-टू-बैक प्रमुख अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट्स के चलते सीनियर टीम का कार्यक्रम काफी व्यस्त होगा. ऐसे में एशियाई चैम्पियंस ट्रॉफी का बचाव करके साल की शुरुआत करना बहुत अच्छा होगा.'

रीड ने कहा, 'सीनियर पुरुष टीम का भुवनेश्वर में प्रशिक्षण लेना अच्छा होगा क्योंकि यहां का मौसम लगभग ढाका जैसा ही है। टीम के लिए इन परिस्थितियों में प्रशिक्षण लेना और परिस्थितियों के अनुकूल अभ्यस्त होना अच्छा होगा.'

गौरतलब है कि एशियाई चैम्पियंस ट्रॉफी 14 से 22 दिसंबर तक ढाका में आयोजित की जाएगी. इस टूर्नामेंट में गत चैम्पियन भारत, पाकिस्तान, दक्षिण कोरिया, जापान, मलेशिया और मेजबान बांग्लादेश की टीमें भाग लेंगी. भारतीय टीम चौथी बार इस खिताब जीतने की कोशिश करेगी.

सीनियर मेन्स कोर ग्रुप-

गोलकीपर: पीआर श्रीजेश, कृष्ण बी पाठक, सूरज करकेरा.

डिफेंडर: हरमनप्रीत सिंह, अमित रोहिदास, सुरेंद्र कुमार, वरुण कुमार, गुरिंदर सिंह, जरमनप्रीत सिंह, नीलम संजीव जेस, दीपसन टिर्की, मनदीप मोर, आशीष कुमार टोपनो, सुमन बेक.

मिडफील्डर: मनप्रीत सिंह, नीलकांत शर्मा, सुमित, हार्दिक सिंह, जसकरण सिंह, राजकुमार पाल.

फॉरवर्ड: सिमरनजीत सिंह, गुरजंत सिंह, मनदीप सिंह, शमशेर सिंह, ललित कुमार उपाध्याय, आकाशदीप सिंह, गुरसाहिबजीत सिंह, शिलानंद लकड़ा, दिलप्रीत सिंह. 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें