scorecardresearch
 

IND vs AUS Womens Final CWG 2022: गोल्ड चूकने से निराश हरमनप्रीत और जेमिमा रोड्रिग्ज, बताया किस टर्निंग पॉइंट से हारे मैच

भारतीय महिला क्रिकेट टीम फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 9 रनों से हारने के साथ ही कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में गोल्ड मेडल जीतने से चूक गई. फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलियाई टीम को 8 विकेट पर 161 रनों पर रोक दिया था. जवाब में भारतीय टीम 19.3 ओवरों में 152 रनों पर ही सिमट गई. कप्तान हरमनप्रीत ने 43 बॉल पर 65 रनों की शानदार पारी खेली...

X
Harmanpreet and Team (PTI)
Harmanpreet and Team (PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • CWG में भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने सिल्वर जीता
  • फाइनल में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 9 रनों के अंतर से हराया

IND vs AUS Womens Final CWG 2022: भारतीय महिला क्रिकेट टीम के पास कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में गोल्ड मेडल जीतने का सुनहरा मौका था, लेकिन अपनी ही कुछ गलतियों के कारण उन्हें ऑस्ट्रेलिया के हाथों फाइनल मैच गंवाना पड़ा. रोमांचक मैच में 9 रनों से हारने के बाद टीम इंडिया को सिल्वर मेडल से ही संतोष करना पड़ा.

इस बार कॉमनवेल्थ गेम्स इंग्लैंड के बर्मिंघम में खेले जा रहे हैं. रविवार (7 अगस्त) को खेले गए फाइनल मुकाबले में टॉस जीतकर पहले बैटिंग करने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम को 8 विकेट पर 161 रनों पर रोक दिया था. टीम के लिए बेथ मूनी ने ही 41 बॉल पर सबसे ज्यादा 61 रनों की पारी खेली.

जवाब में भारतीय टीम 19.3 ओवरों में 152 रनों पर ही सिमट गई. टीम इंडिया के लिए कप्तान हरमनप्रीत कौर ने 43 बॉल पर 65 रनों की शानदार पारी खेली, लेकिन वह टीम को जीत नहीं दिला सकीं. इस हार के बाद कप्तान हरमनप्रीत कौर और स्टार प्लेयर जेमिमा रोड्रिग्ज भी काफी निराश नजर आईं. उन्होंने मैच में उन टर्निंग पॉइंट्स को बताया, जिनकी वजह से हार मिली.

आखिरी 4-5 ओवर में खेल खराब हो गया

हरमन ने मैच के बाद आजतक से कहा, 'देखा जाए तो सिल्वर मेडल भी बहुत बड़ी उपलब्धि होती है. हम लोग पहली बार खेल रहे थे. ऐसे में सिल्वर जीतना बड़ी बात है. एक बार ऐसी स्थिति आ गई थी कि हम मैच भी जीत सकते थे, लेकिन आखिरी 4-5 ओवर जैसा हम सोच रहे थे, वैसे नहीं रहे. यही इस खेल की खूबसूरती है कि कभी आप गेम में होते हैं, तो कुछ ही समय में आपके साथ से मैच निकल जाता है.'

टर्निंग पॉइंट को लेकर हरमन ने कहा, 'हमने मैच में जो लगातार एक के बाद एक विकेट गंवाए, वही टर्निंग पॉइंट रहा. यदि हम सिंगल-डबल पर काम करते औऱ विकेट बचाते तो सही रहता. लगातार विकेट गिरना ही टर्निंग पॉइंट रहा. यदि आप देखें को हमारे पास टॉप-4 में शुद्ध बैटर हैं. उसके बाद ऑलराउंडर आते हैं. हम अब एक नए बैटर को लाने पर काम कर रहे हैं. क्योंकि चार बैटर पर आप ज्यादा निर्भर नहीं रह सकते.'

जेमिमा ने अपना विकेट गिरना माना टर्मिंग पॉइंट

मैच हारने से दुखी हैं या सिल्वर जीतने से खुश, इस पर जेमिमा ने कहा, 'ईमानदारी से कहूं तो यह बेहद मुश्किल सवाल है. फिलहाल, तो दोनों ही तरह कि मिक्स फिलिंग हैं. मैच हार गए हैं. इस बात का गुस्सा या फ्रस्ट्रेशन तो है, लेकिन सिल्वर जीते हैं, इस बात पर गर्व भी है. पहली बार महिला क्रिकेट कॉमनवेल्थ में खेल रही हैं और आप सिल्वर जीतते हैं तो यह बड़ी उपलब्धि ही है. मुझे टीम पर गर्व है.'

टर्निंग पॉइंट को लेकर जेमिमा ने कहा, 'ऑस्ट्रेलिया को 161 रनों के स्कोर पर रोकना अच्छा था. हमने अच्छी गेंदबाजी और फील्डिंग की. यह टारगेट हासिल करने लायक ही था. मगर फिर ओपनिंग में दो विकेट गिरने के बाद मैंने और हरमन ने जो पार्टनरशिप की, वह इन हालात में बेहद मुश्किल थी. हम बेहद रणनीति के साथ ही थे. मगर जब मेरा विकेट गिरा, तो मैं इसी को टर्निंग पॉइंट मानती हूं. मैं और हरमन इस मैच को खत्म कर सकते थे, लेकिन यह हमारे कंट्रोल में नहीं है.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें