scorecardresearch
 

Ravichandran Ashwin IPL 2022: ‘कोई दूसरा धोनी नहीं होगा..’, अश्विन क्यों बोले ये मेरा बेस्ट IPL, देखें इमोशनल इंटरव्यू

राजस्थान रॉयल्स की टीम लंबे वक्त के बाद प्लेऑफ में पहुंची है. टीम के स्टार प्लेयर रविचंद्रन अश्विन ने अपने अनुभव को लेकर इंटरव्यू दिया है, जिसमें कई मसलों पर बात की है.

X
Ravichandran Ashwin (Photo: RR) Ravichandran Ashwin (Photo: RR)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रविचंद्रन अश्विन ने दिया स्पेशल इंटरव्यू
  • यह सीजन मेरे लिए काफी खास रहा: अश्विन

राजस्थान रॉयल्स के रविचंद्रन अश्विन ऐसे क्रिकेटर हैं, जो खेल की बेहतरीन समझ रखते हैं और कई बार अलग-अलग तरह के प्रयोग करते नज़र आते हैं. राजस्थान रॉयल्स की टीम क्वालिफायर में गुजरात से भिड़ेगी उससे पहले टीम ने रविचंद्रन अश्विन का इंटरव्यू शेयर किया है, जिसमें वह इस आईपीएल के अनुभव पर बात कर रहे हैं. 

इस सीजन में बल्ले और बॉल से कमाल करने वाले रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि उन्होंने राजस्थान रॉयल्स के साथ अपने इस हनीमून को काफी एन्जॉय किया और उन्हें उम्मीद है कि आगे भी यह रिश्ता जारी ही रहेगा. अश्विन ने कहा कि ये मेरा अभी तक के आईपीएल में सबसे बेहतरीन अनुभव रहा है. 

रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि एक क्रिकेटर के तौर पर यह मेरे लिए बेहतरीन आईपीएल रहा, इसका मेरे परफॉर्मेंस या टीम के प्लेऑफ में पहुंचने से वास्ता नहीं है. बल्कि यह वो पल है जहां मुझे अलग-अलग प्रयोग करने का मौका मिला है, मेरे लिए यही सबसे बेस्ट है. जब मैं गेम में ये चीज़ें नहीं कर पाउंगा, तब शायद मैं गेम ही छोड़ दूंगा. 

अपनी बल्लेबाजी पर रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि निचले क्रम में बैटिंग करना बहुत मुश्किल है, मैंने लंबे वक्त तक महेंद्र सिंह धोनी को देखा है और हर बार मेरे मुंह से Wow ही निकलता है. वह बार-बार वही चीज़ सही करते हैं, गेम को धीमा करके आखिर तक ले जाते हैं और सफल होते हैं. कई खिलाड़ी उनसे सीखने की कोशिश कर रहे हैं. 


रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि कभी भी दूसरा महेंद्र सिंह धोनी नहीं होगा, कभी भी दूसरा सचिन तेंदुलकर नहीं होगा. मैंने लंबे वक्त तक निचले क्रम में बल्लेबाजी की है, जो बॉलर कुछ बल्लेबाजी कर सकता है उसके लिए 7-8 नंबर पर खेलना काफी मुश्किल है. कई टीमों के लिए पूरे सीजन में मैंने सिर्फ 40-50 बॉल ही खेली हैं, लेकिन इस बार मुझे काफी मौका मिला. 

 

रविचंद्रन अश्विन ने बताया कि एक बार उन्होंने पूछा था कि वह अपने गेम में कैसे सुधार लाएं. तब टीम इंडिया के पूर्व कोच डंकन फ्लेचर ने मुझे कहा था कि अगर मैं ज्यादा गलतियां करूंगा, तभी बेहतर होंगे. अगर आप लोगों के सामने फेल होंगे, तभी अपने में सुधार ला पाओगे. 

आपको बता दें कि रविचंद्रन अश्विन ने इस सीजन में कई मैचों में बॉल के साथ-साथ बल्ले से भी दम दिखाया है. अश्विन ने इस सीजन में 14 मैच में 183 रन बनाए है, जिसमें एक अर्धशतक भी शामिल है. जबकि उन्होंने 11 विकेट भी लिए हैं. 


 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें