scorecardresearch
 

'IPL सनसनी' वेंकटेश की बैटिंग में 'दादा' का बड़ा रोल, क्रिकेट की खातिर छोड़ी थी CA की पढ़ाई

आईपीएल 2021 के दूसरे सीजन में कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के वेंकटेश अय्यर छाए हुए हैं. 26 साल के इस बल्लेबाज ने गुरुवार को मुंबई इंडियंस (MI) के खिलाफ 30 गेंदों पर 53 रनों की जोरदार पारी खेली.

Venkatesh Iyer (@BCCI) Venkatesh Iyer (@BCCI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आईपीएल में वेंकटेश अय्यर का धमाकेदार प्रदर्शन
  • कोलकाता ने मुंबई इंडियंस को 7 विकेट से दी मात

आईपीएल 2021 के दूसरे सीजन में कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के वेंकटेश अय्यर छाए हुए हैं. 26 साल के इस बल्लेबाज ने गुरुवार को मुंबई इंडियंस (MI) के खिलाफ 30 गेंदों पर 53 रनों की जोरदार पारी खेली. अपनी इस तूफानी पारी में वेंकटेश ने 4 चौके और 3 छक्के जड़े थे. इससे पहले रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) के खिलाफ डेब्यू मुकाबले में भी वेंकटेश का जलवा देखने को मिला था. 20 सितंबर को खेले गए उस मुकाबले में वेंकटेश ने 27 गेंदों पर नाबाद 41 रन बनाए थे. 

मां ने डाला क्रिकेट खेलने का दबाव

वेंकटेश अय्यर का जन्म इंदौर में एक साउथ इंडियन परिवार में हुआ था. वेंकटेश के परिवार ने उन्हें पढ़ाई से ज्यादा खेल पर ध्यान देने के लिए प्रोत्साहित किया. वेंकटेश ने ईएसपीएन क्रिकइंफो को दिए इंटरव्यू में कहा था, 'ईमानदारी से कहूं तो मैंने तब खेलना शुरू किया, जब मेरी मां ने मुझे घर के अंदर किताबों में घुसे रहने की बजाय बाहर जाकर खेलने के लिए दबाव डाला.'  अपनी मां के कहने के बावजूद भी वेंकटेश अय्यर पढ़ाई के प्रति काफी गंभीर थे और 19 साल की उम्र तक उन्होंने क्रिकेट को सिर्फ मनोरंजन के लिए ही खेला. 

सीए की पढ़ाई छोड़नी पड़ी 

अय्यर ने बीकॉम (Bcom) के साथ सीए में प्रवेश ले लिया. 2016 में उन्होंने सीए का इंटरमीडिएट पास कर लिया था. लेकिन तब तक अय्यर मध्य प्रदेश की सीनियर टीम के लिए टी20 और 50 ओवर में अपना डेब्यू कर चुके थे. ऐसे में उन्होंने सीए की पढ़ाई छोड़कर एमबीए में दाखिला ले लिया. 

इस बारे में अय्यर ने कहा, 'मैंने अपना सीए छोड़कर फाइनेंस में एमबीए करने का फैसला किया. मैंने काफी सारे प्रवेश परीक्षाओं में भाग लिया और अच्छे अंक प्राप्त किए. फिर मैंने एक कॉलेज में एडमिशन भी ले लिया. मैं भाग्यशाली था कि फैकल्टी को क्रिकेट पसंद आया और उन्होंने देखा कि मैं अच्छा कर रहा था. इसलिए उन्होंने मेरी अटेंडेंस और नोट्स में काफी सहायता की.' 

गांगुली के फैन हैं वेंकटेश 

मुंबई इंडियंस (MI) के खिलाफ मुकाबले के बाद वेंकटेश ने साथी खिलाड़ी राहुल त्रिपाठी को दिए इंटरव्यू में आईपीएल के इस सफर के बारे में बताया. वेंकटेश ने कहा, 'सच कहूं तो केकेआर पहली टीम थी, जिसके लिए मैं खेलना चाहता था क्योंकि सौरव गांगुली शुरुआत में इस टीम के कप्तान थे. जब मुझे केकेआर के लिए चुना गया, तो यह मेरे लिए सपना सच होने जैसा था. केकेआर से जुड़ने पर मेरा काफी अच्छा स्वागत हुआ था और ढेर सारे गिफ्ट्स भी मिले थे. 

वेंकटेश ने आगे बताया 'मैं दादा (सौरव गांगुली) का बहुत बड़ा फैन हूं. पूरे विश्व में उनके लाखों फैंस हैं और मैं उनमें से एक हूं. अप्रत्यक्ष रूप से मेरी बल्लेबाजी में दादा का काफी बड़ा रोल रहा है. मैं अपने बचपन में दाएं हाथ से बैटिंग करता था, लेकिन मैं सौरव गांगुली की तरह बनना चाहता था. जिस तरह से वो छक्के लगाते थे और बल्लेबाजी के साथ ही गेंदबाजी करते थे, मैं भी उसी तरह बनना चाहता था. उन्होंने मेरे जीवन पर काफी प्रभाव डाला है और इसके लिए मैं उनका आभारी हूं.'

KKR ने बेस प्राइस में खरीदा

कोलकाता नाइट राइडर्स ने 2021 की नीलामी में वेंकटेश अय्यर को बेस प्राइस 20 लाख रुपये में खरीदा था. घरेलू क्रिकेट में मध्य प्रदेश के लिए खेलने वाले वेंकटेश ने 2015 में रेलवे के खिलाफ अपना टी20 डेब्यू किया था. उसी साल उन्होंने सौराष्ट्र के खिलाफ अपना लिस्ट-ए पदार्पण किया था. फिर 2018-19 के रणजी सीजन में वेंकटेश अय्यर को फर्स्ट क्लास डेब्यू करने का मौका मिला. अय्यर बाएं हाथ से बल्लेबाजी के अलावा दाएं हाथ से मीडियम पेस गेंदबाजी भी करते हैं. 

वेंकटेश अय्यर ने अब तक 40 टी20 मैचों में 38.95 की औसत और 140.30 के स्ट्राइक रेट से 818 रन बनाए हैं, जिसमें तीन अर्धशतक शामिल रहे. वेंकटेश के नाम 24 लिस्ट-ए मुकाबले में 47.16 की औसत से 849 रन दर्ज हैं. इस दौरान उनके बल्ले से दो शतक और तीन अर्धशतक निकले हैं. वेंकटेश ने अब तक 10 फर्स्ट क्लास मैचों में 36.33 की औसत से 545 रन बनाए हैं, जिसमें छह अर्धशतक शामिल रहे. वहीं, गेंदबाजी में वेंकटेश ने टी20, लिस्ट-ए और फर्स्ट क्लास मैचों को मिलाकर कुल 38 विकेट चटकाए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें