scorecardresearch
 

Team India: वर्ल्ड कप में अब महज एक साल... पर प्रयोग करने से बाज नहीं आ रही टीम इंडिया

वनडे वर्ल्ड कप 2023 के होने में अब एक साल का समय बचा हुआ है, लेकिन भारतीय टीम का प्रयोग लगातार जारी है. ज्यादा प्रयोग का नतीजा भारत टी20 वर्ल्ड कप में भुगत चुका है. जहां न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए युजवेंद्र चहल, उमरान मलिक, संजू सैमसन, शुभमन गिल जैसे खिलाड़ियों को तो शामिल किया गया है. लेकिन यही खिलाड़ी बांग्लादेश के खिलाफ सीरीज का पार्ट नहीं होंगे.

X
Team India (@Getty)
Team India (@Getty)

भारतीय जमीं पर अगले साल अक्टूबर-नवंबर के महीने में 50 ओवरों का क्रिकेट वर्ल्ड कप खेला जाना है. इस वर्ल्ड कप के शुरू होने में अब लगभग एक साल का समय बचा हुआ है, लेकिन टीम इंडिया अब भी प्रयोग करने में ही जुटी हुई है. उदाहरण के लिए न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए भारत ने शिखर धवन को टीम की कप्तानी सौंपी गई थी. वहीं बांग्लादेश के खिलाफ होने वाले वनडे सीरीज में रोहित शर्मा करेंगे.

न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए युजवेंद्र चहल, उमरान मलिक, संजू सैमसन, सूर्यकुमार यादव, शुभमन गिल जैसे खिलाड़ियों को तो शामिल किया गया है. लेकिन यही खिलाड़ी बांग्लादेश के खिलाफ वनडे सीरीज का पार्ट नहीं होंगे. यानी कि आप खिलाड़ियों को लगातार मौके भी नहीं दे रहे हैं. लगातार अंदर-बाहर होने के चलते ऐसे खिलाड़ियों पर अतिरिक्त दबाव भी रहता है, जिसका प्रभाव उनके परफॉर्मेंस में भी कई बार देखने को मिला है.

भारत के पास बचे अब 8 टूर्नामेंट्स

देखा जाए तो भारत को वर्ल्ड कप 2023 से पहले कुल आठ वनडे सीरीज/टूर्नामेंट्स में भाग लेना है. इस दौरान न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कुल छह-छह मैच खेले जाने हैं. वहीं, श्रीलंका, बांग्लादेश और वेस्टइंडीज के विरुद्ध तीन-तीन मैच होंगे. साथ ही 50 ओवर्स के फॉर्मेट वाले एशिया कप का भी आयोजन किया जाना है.

टी20 WC में प्रयोग ने ही किया था बेड़ा गर्क

टी20 वर्ल्ड कप 2022 में टीम इंडिया का प्रदर्शन काफी खराब रहा था. इसके पीछे की वजह टीम इंडिया का प्रयोग करना रहा था.पिछले एक साल में भारत ने आधा दर्जन से अधिक कप्तान आजमाए हैं. वहीं कितने मौकों पर तो सलामी जोड़ी में बदलाव देखने को मिले. वहीं प्रयोग के नाम पर ढेर सारे खिलाड़ियों को भी टीम ने आजमाया.

लेकिन अंत में जब टी20 वर्ल्ड की बारी आई थी तो ज्यादातर सीनियर खिलाड़ियों को मौका दिया गया. यह फैसला गलत भी नहीं था, लेकिन तब सवाल ये उठा था कि यदि सीनियर खिलाड़ियों को ही चुनना था तो उन्हें वर्कलोड मैनेजमेंट के बहाने उतने रेस्ट क्यों दिए गए. मोहम्मद शमी जैसे प्लेयर्स तो एक साल बाद अचानक से टी20 स्क्वॉड में आ गए थे.

वनडे वर्ल्ड कप के लिए सीख ले टीम इंडिया

वनडे विश्व कप में अब चूंकि एक साल से भी कम का समय बचा है तो भारतीय टीम को अपने उन खिलाड़ियों को लगातार मौके देने होंगे जो वर्ल्ड कप की टीम में चुने जाने के संभावित दावेदार हो सकते हैं. हां युवा खिलाड़ियों को भी मौका देना चाहिए, लेकिन फिलहाल उन्हें टी20 क्रिकेट में आजमाया जाए तो बेहतर रहेगा. अभी आपने एक वनडे सीरीज में उन्हें मौका दे दिया, लेकिन अगली सीरीज के लिए टीम से आउट कर दिया तो उनका प्रदर्शन तो प्रभावित होगा ही न.


न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए भारतीय टीम:  शिखर धवन (कप्तान), शुभमन गिल, दीपक हुड्डा, सूर्यकुमार यादव, श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत (विकेटकीपर/उप-कप्तान), संजू सैमसन (विकेटकीपर), वॉशिंगटन सुंदर, शार्दुल ठाकुर, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, अर्शदीप सिंह, दीपक चाहर, उमरान मलिक.
 
बांग्लादेश के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए टीम:
रोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल (उप-कप्तान), शिखर धवन, विराट कोहली, रजत पाटीदार, श्रेयस अय्यर, राहुल त्रिपाठी, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), ईशान किशन (विकेटकीपर), शाहबाज अहमद, अक्षर पटेल, वॉशिंगटन सुंदर, शार्दुल ठाकुर, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज, दीपक चाहर, कुलदीप सेन.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें