scorecardresearch
 

Team India Bowling: रवि शास्त्री को जिस बॉलिंग यूनिट पर था गुमान, राहुल द्रविड़ की अगुवाई में वही बन गई फिसड्डी

टीम इंडिया ने एजबेस्टन में जिस तरह मैच गंवाया, वह हैरानगी भरा रहा. इंग्लैंड ने सिर्फ 77 ओवर के भीतर पौने चार सौ रन बना दिए और टीम इंडिया की बॉलिंग जिसे बेस्ट बताया जा रहा था वो फेल साबित हो गई.

X
Jasprit Bumrah, Mohammad Shami (Getty) Jasprit Bumrah, Mohammad Shami (Getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एजबेस्टन में फेल साबित हुई टीम इंडिया की बॉलिंग
  • सिर्फ 77 ओवर में लुटवा दिए 378 रन

इंग्लैंड के हाथों एजबेस्टन टेस्ट में मिली हार हर क्रिकेट फैन को चुभ रही है. इंग्लैंड ने जिस तरह बेहद ही आसानी से 378 रनों का टारगेट चेज़ कर लिया, उसने हर किसी को हैरान कर दिया. टीम इंडिया की बॉलिंग इस टेस्ट मैच में बिल्कुल फेल साबित हुई. इसका अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इंग्लैंड ने इतना बड़ा स्कोर सिर्फ 77 ओवर में ही बना लिया. 

एजबेस्टन में वनडे की तरह पिटे भारतीय बॉलर्स 

इंग्लैंड की दूसरी पारी देखें तो सिर्फ 76.4 ओवर में 378 रनों की टारगेट चेज़ हो गया. भारत ने इस दौरान कुल पांच बॉलर्स का इस्तेमाल किया. हर किसी ने यहां पर रन लुटवाए, जिसमें सबसे आगे मोहम्मद सिराज रहे. मोहम्मद सिराज ने सिर्फ 15 ओवर में 98 रन दे दिए, उन्होंने 6.53 की इकॉनोमी से रन लुटवाए मानो कोई वनडे मुकाबला हो. 

मोहम्मद सिराज के बाद सबसे महंगे शार्दुल ठाकुर रहे, जिन्होंने 11 ओवर में 65 रन दिए. शार्दुल ने 5.90 की इकॉनोमी से रन लुटवाए. टीम इंडिया के बॉलर्स दूसरी पारी में सिर्फ 3 ही विकेट ले पाए, इसमें से दो जसप्रीत बुमराह ने लिए और तीसरा रनआउट हुआ. 

एजबेस्टन में भारतीय बॉलर्स-

•    जसप्रीत बुमराह- 17 ओवर, 74 रन (दो विकेट)
•    मोहम्मद शमी- 15 ओवर, 64 रन
•    रवींद्र जडेजा- 18.4 ओवर, 62 रन
•    मोहम्मद सिराज- 15 ओवर, 98 रन
•    शार्दुल ठाकुर- 11 ओवर, 65 रन 

क्लिक करें: स्पिनर्स की चौकड़ी से चार खतरनाक तेज गेंदबाज तक, 50 साल में कैसे बदली भारतीय क्रिकेट की बॉलिंग

रवि शास्त्री के वक्त में टॉप पर थी बॉलिंग

रवि शास्त्री के कोचिंग कार्यकाल में टीम इंडिया की तेज़ गेंदबाज़ी में क्रांति देखने को मिली. कोच रवि शास्त्री, बॉलिंग कोच भरत अरुण और कप्तान विराट कोहली ने तेज़ गेंदबाज़ों को पूरी आक्रामकता दिखाने की छूट दी थी. यही कारण रहा कि जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज, उमेश यादव, शार्दुल ठाकुर वाली खेप टीम इंडिया को देखने को मिली. पिछले पांच साल में टेस्ट क्रिकेट में सबसे बेस्ट बॉलिंग औसत टीम इंडिया का ही रहा है. इसी बॉलिंग यूनिट के दमपर भारत ने इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया में कहर बरपाया था. 

अब लगातार फेल हो रही टीम इंडिया की बॉलिंग

टीम इंडिया का निजाम जैसे ही बदला, वैसे ही काफी कुछ बदल गया. अब विराट कोहली कप्तान नहीं हैं, रवि शास्त्री कोच नहीं हैं. राहुल द्रविड़ के कोच बनने के बाद रोहित शर्मा के हाथ में कमान मिली. पिछले कुछ वक्त में ही टीम इंडिया ने विदेशी जमीन पर खेले गए तीन मैच लगातार गंवा दिए. साउथ अफ्रीका में भारत दो मैच लगातार हारा और अब यहां एजबेस्टन में करारी हार देखने को मिली. 

तीनों ही बार हार के लिए भारतीय टीम की बॉलिंग ही जिम्मेदार रही. केपटाउन में बॉलर्स ने 212 रन बनवा दिए, जोहानिसबर्ग में 243 रन बनवा दिए और अब एजबेस्टन में तो सिर्फ 76.4 ओवर में 378 रन बनवा दिए.  
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें