scorecardresearch
 

T20 World Cup: सचिन तेंदुलकर की सलाह मानेगी टीम इंडिया? ऋषभ पंत की एंट्री से मिलेगा वर्ल्ड कप!

टी-20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के सामने कई चुनौतियां हैं, इनमें से एक प्लेइंग-11 में सटीक कॉम्बिनेशन के साथ उतरना भी शामिल है. सचिन तेंदुलकर का कहना है कि भारत को एक बाएं हाथ के बल्लेबाज के साथ मैदान में उतरना चाहिए.

X
सचिन तेंदुलकर ने दी है अहम सलाह
सचिन तेंदुलकर ने दी है अहम सलाह

टीम इंडिया इस वक्त मिशन टी-20 वर्ल्ड कप के लिए ऑस्ट्रेलिया में है. मेजबान टीम को पहले वॉर्म-अप मैच में हराकर भारत ने अपने मिशन का शानदार आगाज भी कर दिया है. इस बीच टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने भारतीय टीम को एक सलाह दी है, जिसे मिशन वर्ल्ड कप के लिए एक वॉर्निंग भी माना जा रहा है. 

सचिन तेंदुलकर ने कहा है कि टी-20 वर्ल्ड कप मिशन के लिए भारतीय टीम को अपनी बल्लेबाजी में एक बाएं हाथ के बल्लेबाज को शामिल करना चाहिए. बाएं हाथ के बल्लेबाज आपकी टीम में वैल्यू बढ़ाते हैं, क्योंकि उनकी वजह से विरोधी टीम को काफी चीज़ें एडजस्ट करनी पड़ती हैं. बार-बार स्ट्राइक बदलना, फील्ड चेंज करना विरोधी टीम, बॉलर्स को पसंद नहीं आता है.

क्लिक करें: आ गई इस वर्ल्ड कप की पहली हैट्रिक, यूएई के कार्तिक मयप्पन ने लगा दी 'लंका', 

सचिन तेंदुलकर ने कहा कि आप सिर्फ टॉप-3 को ही नहीं देखते हैं, आप एक यूनिट के हिसाब से खेलते हैं. आप चाहेंगे कि हर कोई आपके लिए बेहतर करे. ऐसे में आपके लिए जरूरी है कि खिलाड़ी किस तरह परफॉर्म करते हैं, किस खिलाड़ी को किस पॉजिशन पर भेजने से आपको फायदा होगा. 

पूर्व क्रिकेटर सचिन ने यहां जसप्रीत बुमराह के टी-20 वर्ल्ड कप से बाहर होने पर टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि यह टीम इंडिया के लिए बहुत बड़ा झटका है, एक बेहतरीन फास्ट बॉलर का बाहर होना बिल्कुल ठीक नहीं है. लेकिन मोहम्मद शमी ने साबित किया है कि वह एक बेहतर रिप्लेसमेंट हैं.

ऋषभ पंत को मिलेगी एंट्री?

बता दें कि टीम इंडिया की पिछली प्लेइंग-11 देखें तो उसमें लेफ्ट हैंडर बल्लेबाज के तौर पर सिर्फ अक्षर पटेल थे. टीम इंडिया के पास टॉप में ऋषभ पंत ही एक बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं लेकिन टीम कॉम्बिनेशन की वजह से वह प्लेइंग-11 में शामिल नहीं हो पा रहे हैं. 

दिनेश कार्तिक बेहतरीन फॉर्म में हैं, उन्हें फिनिशर की भूमिका निभाने के लिए ही टी-20 वर्ल्ड कप की टीम में शामिल किया गया है. ऐसे में उनके होते हुए ऋषभ पंत का प्लेइंग-11 में खेलना काफी मुश्किल नज़र आता है, वैसे भी ऋषभ टी-20 फॉर्मेट में अभी तक खुद को उस तरह साबित नहीं कर पाए हैं जिस तरह उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में खुद को किया है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें