scorecardresearch
 

Team India Workload: 'वर्ल्ड कप तक कोई वर्कलोड मैनेजमेंट नहीं, बस बेस्ट इलेवन ही खेलेगी', कोच राहुल द्रविड़ की दो टूक

इस साल टी20 वर्ल्ड कप का 16 अक्टूबर से 13 नवंबर तक खेला जाएगा. फाइनल मेलबर्न में होगा. टीम इंडिया इन दिनों एशिया कप 2022 सीजन खेल रही है. इसके बाद टीम को ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के खिलाफ टी20 मैचों की द्विपक्षीय सीरीज खेली जानी है. कोच राहुल द्रविड़ ने कह दिया है कि वर्ल्ड कप तक कोई वर्कलोड मैनेजमेंट नहीं होगा...

X
Rahul Dravid and Virat Kohli (Getty)
Rahul Dravid and Virat Kohli (Getty)

Team India Workload: भारतीय क्रिकेट टीम इन दिनों एशिया कप 2022 सीजन खेल रही है. इसके बाद टीम को ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के खिलाफ टी20 मैचों की द्विपक्षीय सीरीज खेली जानी है. फिर इस साल होने वाले टी20 वर्ल्ड कप का आगाज होगा.

यानी अब भारतीय टीम को वर्ल्ड कप तक लगातार मैच खेलने हैं. ऐसे में कोच राहुल द्रविड़ से जब वर्क लोड मैनेजमेंट के बारे में सवाल किया गया, तो उन्होंने दो टूक जवाब देते हुए कहा कि अब कोई वर्कलोड मैनेज नहीं होगा. वर्ल्ड कप तक सिर्फ बेस्ट इलेवन ही खेलेगी.

कोहली-पंत समेत ज्यादातर प्लेयर्स को मिल चुका आराम

हालांकि यहां अच्छी बात यह रही है कि एशिया कप से पहले विराट कोहली समेत कुछ खिलाड़ियों को इंग्लैंड दौरे के बाद ही एक महीने का ब्रेक मिल गया था. जबकि हार्दिक पंड्या, ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक समेत कुछ प्लेयर्स को जिम्बाब्वे दौरे से आराम दे दिया गया था. ऐसे में यह भारतीय टीम अब एकदम फ्रेश कही जा सकती है. वर्ल्ड कप तक ब्रेक ना मिले, तब भी चल सकता है. 

इस साल टी20 वर्ल्ड कप का आगाज 16 अक्टूबर को होगा. यह टूर्नामेंट 29 दिन तक चलेगा, जिसका फाइनल यानी खिताबी मुकाबला 13 नवंबर को मेलबर्न में खेला जाएगा. फैन्स इस टूर्नामेंट का बेशब्री से इंतजार कर रहे हैं.

वर्कलोड परक्या कहा कोच राहुल द्रविड़ ने?

कोच राहुल द्रविड़ ने पाकिस्तान के खिलाफ मैच से पहले कहा, 'यदि कोई चोट नहीं होती है या किसी को बाहर बैठाने की जरूरत नहीं पड़ती है, तो हम अपनी बेस्ट टीम या बेस्ट प्लेइंग 11 के साथ ही खेलेंगे. अगले 4 मैचों (एशिया कप) में भी यही रणनीति रहेगी. ये भी देखना होगा कि खेलने के लिए कौन उपलब्ध रहता है.'

उन्होंने कहा, 'यहां अगले तीन-चार दिनों तक कोई वर्कलोड मैनेजमेंट नहीं होगा. जब तक की जरूरत नहीं पड़ती, जैसा कि रवींद्र जडेजा (चोट के कारण बाहर) के साथ हुआ. हम यहां हर मैच में बेस्ट देने और टूर्नामेंट जीतने के इरादे से आए हैं. इसके बाद हमारे पास वर्कलोड मैनेजमेंट का समय रहेगा. मगर अब से टी20 वर्ल्ड कप तक हम अपनी बेस्ट टीम या बेस्ट प्लेइंग-11 ही खिलाना चाहेंगे.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें