scorecardresearch
 

Sachin Tendulkar: MCA के संविधान में होने जा रहा बदलाव, इन क्रिकेटर्स से छिनेगा वोटिंग का अधिकार!

मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन जल्द ही अपने संविधान में कुछ बदलाव कर सकता है. इसमें इंटरनेशनल क्रिकेटर्स से वोटिंग का हक वापस लेना भी शामिल है. मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन द्वारा 29 जुलाई को एक बैठक बुलाई गई है, जिसमें इन प्रस्तावों पर चर्चा होनी है. अगर मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के इस प्रस्ताव पर मुहर लग जाती है तो मुंबई से आने वाले कई दिग्गज क्रिकेटर्स अपना वोटिंग का अधिकार खो देंगे. इसमें सचिन तेंदुलकर, सुनील गावस्कर, दिलीप वेंगसरकर, जैसे बड़े नाम शामिल हैं. 

X
Sachin Tendulkar (File Pic) Sachin Tendulkar (File Pic)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मुंबई क्रिकेट एसोसिशन बदलेगा अपना संविधान
  • 29 जुलाई को बुलाई गई है एक अहम बैठक

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) हाल ही में अपने संविधान में बदलाव को लेकर सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दे चुका है, जिसकी सुनवाई होनी है. अभी बीसीसीआई सुप्रीम कोर्ट से इजाजत मिलने का इंतज़ार कर ही रहा है कि मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने अपने संविधान में बदलाव करने की तैयारी कर ली है. इसमें मुंबई के पूर्व क्रिकेटर्स जिसमें सचिन तेंदुलकर, सुनील गावस्कर जैसे दिग्गज शामिल हैं उनसे वोटिंग का हक भी छीनने का प्रस्ताव शामिल है. 

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन (MCA) ने 29 जुलाई को जनरल बॉडी की बैठक बुलाई है. इस बैठक में बोर्ड के संविधान में कई बदलाव करने का प्रस्ताव पेश किया जाना है. इसमें इंटरनेशनल क्रिकेटर्स से वोटिंग का हक वापस लेना, 70 साल से अधिक उम्र वाले अधिकारियों को पद पर बरकरार रहने देना, एसोसिएशन के सचिव को अधिक अधिकार देना जैसे प्रस्ताव शामिल हैं. 

अगर मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के इस प्रस्ताव पर मुहर लग जाती है तो मुंबई से आने वाले कई दिग्गज क्रिकेटर्स अपना वोटिंग का अधिकार खो देंगे. इसमें सचिन तेंदुलकर, सुनील गावस्कर, दिलीप वेंगसरकर, जैसे बड़े नाम शामिल हैं. 

हर राज्य एसोसिएशन को बदलना है अपना संविधान

बता दें कि हर राज्य के एसोसिएशन को सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार अपने संविधान में बदलाव करना था. सर्वोच्च अदालत द्वारा जो लोढ़ा कमेटी बनाई गई थी, उसने पूर्व क्रिकेटर्स को वोटिंग का अधिकार दिया था और 70 की उम्र पर पहुंचने के बाद किसी पद पर बने रहने पर रोक लगा दी थी. 

मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने जो लेटर अपने अधिकारियों को भेजा है, उसमें कहा गया है कि इंटरनेशनल क्रिकेटर्स को बतौर एसोसिएट मेंबर जोड़ा जाएगा लेकिन उनके पास वोटिंग का अधिकार नहीं होगा. 

आपको बता दें कि मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन से इतर बीसीसीआई अभी अपने संविधान में कुछ बदलाव करना चाहता है. हालांकि, बीसीसीआई ऐसा तभी कर सकता है जब सुप्रीम कोर्ट द्वारा उसे इजाजत मिलती है. सुप्रीम कोर्ट में बोर्ड द्वारा इसके लिए याचिका भी दायर की गई है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें