scorecardresearch
 

IND vs AUS 2nd T20: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आज करो-मरो का मैच, जसप्रीत बुमराह की हो सकती है वापसी

टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की टी20 सीरीज का आज (23 सितंबर) दूसरा मैच नागपुर में खेला जाना है. पहले टी20 मुकाबले में हार के बाद भारत के लिए यह मुकाबला करो या मरो का बन गया है. स्टार तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह फिट हो चुके हैं और उनका इस मुकाबले में खेलना लगभग तय है.

X
रोहित शर्मा और एरॉन फिंच
रोहित शर्मा और एरॉन फिंच

टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की टी20 सीरीज का आज (23 सितंबर) दूसरा मुकाबला खेला जाएगा. दोनों टीमों के बीच यह मैच नागपुर के विदर्भ क्रिकेट एसोसिएसन स्टेडिय में होना है. पहले टी20 मुकाबले में हार के बाद भारत के लिए यह मुकाबला करो या मरो का बन गया है. ऐसे में रोहित शर्मा की कप्तानी वाली भारतीय टीम को तीनों डिपार्टमेंट में बेस्ट प्रदर्शन करना होगा. पिछले मैच में भारत की बैटिंग तो शानदार रही थी, लेकिन गेंदबाजों ने मेहनत पर पानी फेर दिया था.

बुमराह की हो सकती है वापसी

इस मुकाबले मुकाबले से पहले ही भारत के लिए अच्छी खबर सामने आई है. स्टार गेंदबाज जसप्रीत बुमराह फिट हो चुके हैं और उनका इस मुकाबले में खेलना लगभग तय लग रहा है. जसप्रीत बुमराह को लेकर टीम के स्टार बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव ने भी अपडेट दिया था. सूर्यकुमार यादव ने जसप्रीत बुमराह की फिटनेस संबंधी चिंताओं को खारिज करते हुए कहा था कि चिंता की कोई बात नहीं है और यह तेज गेंदबाज पीठ की चोट से उबर कर मैदान पर उतरने के लिए पूरी तरह से तैयार है.

क्लिक करें- रोहित शर्मा की कप्तानी को लेकर सौरव गांगुली का बड़ा बयान

डेथ ओवर्स की बॉलिंग चिंताजनक

भारतीय टीम अपने तेज गेंदबाजी आक्रमण को लेकर चिंतित है, जिसमें ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या भी शामिल हैं. उन्होंने जो पिछले 14 ओवर किए हैं उनमें 150 रन लुटाए हैं. अनुभवी तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार डेथ ओवरों में नहीं चल पा रहे हैं. उन्होंने पाकिस्तान, श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 19वें ओवर में गेंद संभाली, लेकिन इन तीन ओवरों में उन्होंने 49 रन लुटाए. ऐसी परिस्थितियों में भारत के लिए बुमराह का फिट होना बेहद जरूरी हो गया है.

भारत को ऑस्ट्रेलिया में होने वाले आगामी टी20 विश्वकप से पहले अभी पांच मैच खेलने हैं और इस दौरान उसे अपनी सभी कमजोरियों को दूर करना होगा. भारत विश्व कप में अपना पहला मैच 23 अक्टूबर को पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगा. एशिया कप से पहले जहां भारत के लिए टॉप-तीन बल्लेबाजों का रवैया परेशानी का सबब बना हुआ था, वहीं अब गेंदबाजी उसके लिए चिंता का विषय बन गया है क्योंकि बैटिंग के लिए अनुकूल परिस्थितियों में भारतीय गेंदबाजों की कमजोरी खुलकर सामने आई है.

चहल नहीं डाल पा रहे प्रभाव

 भारत के मुख्य स्पिनर युजवेंद्र चहल में पहले की तरह मारक क्षमता नहीं दिख रही है. पिछले कुछ मैचों में वह काफी महंगे साबित हुए हैं. उन्हें उन विकेट्स पर भी अच्छा प्रदर्शन करने का तरीका ढूंढना होगा जो कि स्पिनर्स के लिए मददगार नहीं होते हैं. रवींद्र जडेजा के चोटिल होने के कारण टीम में लिए गए ऑलराउंडर अक्षर पटेल ने हालांकि पिछले मैच में तीन विकेट लेकर अपनी काबिलियत साबित की.

क्लिक करें- IPL अब अपने पुराने रंग में लौटेगा, BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कर दिया ये ऐलान

पिछले मैच में फील्डिंग भी रही थी खराब

पिछले मैच में टीम इंडिया की फील्डिंग भी अच्छी नहीं रही थी और उसने तीन आसान कैच टपकाए. इसके लिए पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री ने भी टीम की आलोचना की थी. बल्लेबाजी में आक्रमक रवैए का फायदा मिल रहा है. पिछले मैच में इसी अंदाज में बल्लेबाजी करके केएल राहुल, हार्दिक पंड्या और सूर्यकुमार यादव ने रन बटोर कर स्कोर 200 रन के पार पहुंचाया था, जबकि शीर्ष क्रम के बल्लेबाज रोहित शर्मा और विराट कोहली जल्दी आउट हो गए थे.

AUS टीम का आत्मविश्वास सातवें आसमान पर

टीम में फिनिशर की भूमिका निभा रहे दिनेश कार्तिक को पिछले मैच में ज्यादा मौका नहीं मिला और उन्हें यहां अधिक मौका दिया जा सकता है. दूसरी तरफ ऑस्ट्रेलिया हर विभाग में सुगठित नजर आ रहा है, जबकि उसकी टीम में डेविड वॉर्नर, मिशेल स्टार्क, मार्कस स्टोइनिस और मिशेल मार्श जैसे खिलाड़ी नहीं हैं. वॉर्नर की अनुपस्थिति में पारी का आगाज करने के लिए भेजे गए कैमरन ग्रीन ने अपनी भूमिका शानदार तरीके से निभाई, जबकि अनुभवी स्टीवन स्मिथ और ऑस्ट्रेलिया की तरफ से पहला मैच खेल रहे टिम डेविड ने टीम को मजबूती प्रदान की.

टॉस जीतकर फील्डिंग करना बेहतर

मैथ्यू वेड भी फिनिशर की अपनी भूमिका में खरे उतरे और  21 गेंदों पर नाबाद 45 रन बनाकर ऑस्ट्रेलिया की जीत में अहम भूमिका निभाई थी. नागपुर का विकेट मोहाली से हालांकि भिन्न होगा. विकेट के धीमे होने के संभावना है और ऐसे में गेंदबाजों की भूमिका अधिक महत्वपूर्ण बन जाती है. शाम को ओस का प्रभाव देखते हुए कोई भी टीम लक्ष्य का पीछा करना बेहतर समझेगी.

ऑस्ट्रेलिया: एरॉन फिंच (कप्तान), सीन एबॉट, एश्टन एगर, पैट कमिंस, टिम डेविड, नाथन एलिस, कैमरन ग्रीन, जोश हेजलवुड, जोश इंगलिस, ग्लेन मैक्सवेल, केन रिचर्डसन, डेनियल सैम्स, स्टीव स्मिथ, मैथ्यू वेड, एडम जाम्पा.

भारत: रोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल (उपकप्तान), विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव, दीपक हुड्डा, ऋषभ पंत, दिनेश कार्तिक, हार्दिक पंड्या, रविचंद्रन अश्विन, युजवेंद्र चहल, अक्षर पटेल, भुवनेश्वर कुमार, हर्षल पटेल, दीपक चाहर, जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें