scorecardresearch
 

What is Impact Player: बीच मैच में आएगा इम्पैक्ट प्लेयर और पलटेगा गेम? IPL में कैसे काम करेगा फॉर्मूला

टी-20 क्रिकेट को मज़ेदार बनाने के लिए कई नियम लाए जा रहे हैं. इसमें सबसे ताज़ा नियम है इम्पैक्ट प्लेयर का नियम, जिसे इस साल सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में लागू किया जा सकता है. अगर ये सही रहता है तो ये आईपीएल में लागू किया जा सकता है.

X
IPL 2023 में दिख सकता है नियम
IPL 2023 में दिख सकता है नियम

टीम इंडिया और क्रिकेट के फैन्स इन दिनों टी-20 वर्ल्डकप की तैयारियों में जुटे हैं. इस बीच क्रिकेट को कुछ और रोमांचक बनाने के लिए एक नया नियम लाने की भी तैयारी की जा रही है. भारत जहां पूरे साल क्रिकेट खेला जा रहा है और इंडियन प्रीमियर लीग जैसा टूर्नामेंट भी है, अब उस नियम को यहां लाया जा रहा है. ये है इम्पैक्ट प्लेयर, यानी वो प्लेयर जो पूरे मैच का खेल ही पलटकर रख देगा.

बीसीसीआई अभी इस नियम के ट्रायल मोड में चल रहा है और सबकुछ सही रहा तो आईपीएल 2023 में फैन्स को यह नियम देखने को मिल सकता है. लेकिन ये क्या नियम है और ये कैसे काम करेगा, इसको समझने की कोशिश करते हैं... 

क्या होने जा रहा है?

बीसीसीआई 11 अक्टूबर से शुरू होने वाली सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में सब्स्टीट्यूट प्लेयर (इम्पैक्ट प्लेयर) के नियम को सामने लाया जा सकता है. बीसीसीआई द्वारा सभी राज्य एसोसिएशन को इसके बारे में जानकारी दी गई है. अगर ये यहां पर सही काम करता है, तब इसे आईपीएल 2023 में लागू किया जा सकता है. 

क्लिक करें: अब IPL में 11 नहीं, 15 खिलाड़ी मैच खेल सकेंगे! BCCI ला रहा ये नया नियम

ये नियम क्या है और कैसे काम करेगा?
•    टॉस के वक्त जब कप्तान एक-दूसरे को प्लेइंग-11 की जानकारी देते हैं, तब उन्हें 4 एक्स्ट्रा प्लेयर की जानकारी देनी होगी. यानी 15 खिलाड़ियों के बारे में बताना होगा. 
•    इन चार में से कोई भी एक खिलाड़ी मैच के दौरान किसी एक प्लेयर को बदल सकता है. ये प्लेयर ही इम्पैक्ट प्लेयर कहलाया जाएगा. 
•    पारी के 14वें ओवर तक इम्पैक्ट प्लेयर को मैदान में लाया जा सकता है. यानी किसी प्लेयर को रिप्लेस किया जाएगा. 
•    अगर एक प्लेयर को बाहर भेजा गया है और उसकी जगह इम्पैक्ट प्लेयर लाया गया है. तब पहले वाला प्लेयर पूरे मैच में हिस्सा नहीं ले पाएगा, यानी उसके लिए मैच वहीं खत्म हो गया. 
•    किसी इम्पैक्ट प्लेयर को किसी ओवर के बीच, विकेट गिरने के ब्रेक या फिर किसी प्लेयर के चोटिल होने पर इम्पैक्ट प्लेयर को लाया जा सकता है. 
•    अगर मैच देरी से शुरू हुआ या किसी कारण 10 ओवर का ही मैच हो पाया, तो वहां पर इम्पैक्ट प्लेयर का नियम लागू नहीं होगा. 
•    अगर कोई टीम पहले इम्पैक्ट प्लेयर का इस्तेमाल करती है लेकिन बीच में मैच के ओवर घटा दिए जाते हैं, तब दूसरी टीम को भी इम्पैक्ट प्लेयर लाने का मौका मिलेगा. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें