scorecardresearch
 

इस बल्लेबाज का 'दावा'- चौथे पोजिशन पर मैंने जगह पक्की कर ली है

युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर को भरोसा है कि पिछले एक साल में उनके लगातार अच्छे प्रदर्शन से सीमित ओवरों में भारतीय टीम में चौथे नंबर को लेकर जारी बहस पर विराम लग गया है.

X
न्यूजीलैंड दौरे में सफल रहे श्रेयस अय्यर (Getty) न्यूजीलैंड दौरे में सफल रहे श्रेयस अय्यर (Getty)

युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर को भरोसा है कि पिछले एक साल में उनके लगातार अच्छे प्रदर्शन से सीमित ओवरों में भारतीय टीम में चौथे नंबर को लेकर जारी बहस पर विराम लग गया है. अंबति रायडू, विजय शंकर, ऋषभ पंत और महेंद्र सिंह धोनी को चौथे नंबर पर आजमा रहे भारत ने वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ हार के बाद मुंबई के बल्लेबाज अय्यर को वेस्टइंडीज दौरे पर वापसी का मौका दिया.

25 साल के अय्यर ने वेस्टइंडीज में प्रभावित किया, लेकिन इस साल की शुरुआत में न्यूजीलैंड दौरे पर उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया और तीन मैचों की वनडे सीरीज में भारत की 0-3 की हार के दौरान एक शतक और दो अर्धशतक के साथ शीर्ष स्कोरर रहे.

आईपीएल फ्रेंचाइजी दिल्ली कैपिटल्स की इंस्टाग्राम चैट में अय्यर ने कहा, ‘अगर आप भारत के लिए एक साल तक उस स्थान पर खेल रहे हो तो मतलब आपने अपनी जगह पक्की कर ली है. इसके बारे में और सवाल नहीं पूछे जाने चाहिए.’

अय्यर ने उस सीरीज में कुल 217 रन (103, 52, 62) बनाए थे जो तीन मैचों की द्विपक्षीय सीरीज पर चौथे नंबर पर खेलते हुए किसी भारतीय बल्लेबाज का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. उन्होंने कहा, ‘जब चौथे नंबर को लेकर बहस चल रही है तब उसी नंबर पर प्रदर्शन करना और पूरी तरह से अपनी जगह पक्की कर लेना काफी संतोषजनक है.’

अय्यर ने हालांकि कहा कि वह टीम की जरूरत के अनुसार किसी भी क्रम पर बल्लेबाजी के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा, ‘लेकिन जब आप भारत के लिए खेल रहे हों तो आपको किसी भी क्रम को लेकर लचीलापन रखना होता है या जो भी टीम की जरूरत है. मुझे लगता है कि स्थिति के अनुसार मैं किसी भी क्रम पर बल्लेबाजी कर सकता हूं.’

ये भी पढ़ें ... जब विरोधी खिलाड़ी ने गावस्कर को 'चुपके' से डांटा- शतक नहीं बनाना क्या?

भारतीय कप्तान विराट कोहली को जब उनके शुरुआती दिनों की याद दिलाई गई थी तो उन्होंने अय्यर की तारीफ करते कहा था कि वह भी इसी तरह थे. अय्यर ने कहा, ‘जब वह (कोहली) टीम के अपने साथियों की तारीफ करते हैं तो यह शानदार अहसास होता है। वह सभी युवाओं के लिए आदर्श हैं.’

कोहली की तारीफ करते हुए अय्यर ने कहा, ‘वह जब भी मैदार पर उतरते हैं तो ऐसा लगता है कि वह अपना पहला मैच खेल रहे हैं. वह कभी नहीं थकते और शेर की तरह ऊर्जावान रहते हैं. जब वह मैदान में आते हैं तो अलग ही भावनाएं होती हैं.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें