scorecardresearch
 

Commonwealth Games 2022: खिलाड़ियों की सुरक्षा में भारी चूक, स्पीकर गिरने से घंटों रुके रहे कुश्ती के मुकाबले

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में रेसलिंग के एक मुकाबले के दौरान छत में लगा स्पीकर गिर गया, जिसके चलते पूरा स्टेडियम खाली कराना पड़ा. कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में आज से ही बॉक्सिंग के मुकाबलों की शुरुआत हुई है जिसमें भारतीय टीम को काफी मेडल्स मिलने की उम्मीद है.

X
Wrestling Arena Wrestling Arena
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सुरक्षा कारणों से कुश्ती के मुकाबलों में हुई देरी
  • भारतीय प्लेयर्स भी कुश्ती में दिखा रहे दमखम

बर्मिंघम में जारी मनवेल्थ गेम्स 2022 के आठवें दिन (5 अगस्त) सुरक्षा में एक बड़ी लापरवाही सामने आई है. रेसलिंग के एक मुकाबले के दौरान ही छत में लगा स्पीकर गिर गया, जिसके कारण पूरा स्टेडियम खाली कराना पड़ा. यह स्पीकर रेसलिंग मैट एरिया के बाहर तकनीकी कमेटी की सीट के पास गिरा था, जिसके चलते किसी को चोट नहीं पहुंचा. एहतियातन मुकाबलों को लगभग ढाई घंटे तक रोकना पड़ा.

यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग ने ट्वीट कर कहा, 'हम सुरक्षा जांच के लिए कुछ समय के लिए खेलों को रोक रहे हैं. अनुमति मिलने के बाद फिर से खेले शुरू होंगे. ताजा जानकारी के अनुसार कुश्ती के मैच भारतीय समयानुसार शाम 6 बजे से फिर से शुरू हो चुका है.

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में आज से ही रेसलिंग के मुकाबलों की शुरुआत हुई है जिसमें भारतीय टीम को काफी मेडल मिलने की उम्मीद है. भात के छह रेसलर्स आज मैट पर उतर रहे हैं. इनमें दीपक पूनिया, बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक, दिव्या काकरान, अंशु मलिक और मोहित के नाम शामिल हैं.

2018 में हुए गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय पहलवानों का प्रदर्शन शानदार रहा था. तब भारत ने कुल 12 मेडल जीते थे, जिसमें 5 गोल्ड, 3 सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज मेडल शामिल रहे. ऐसे में अबकी बार भी भारतीय.दल से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है.

भारत के नाम इतने मेडल

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत को अबतक 20 मेडल मिल चुके हैं जिसमें छह गोल्ड,सात सिल्वर और सात ब्रॉन्ज मेडल शामिल रहे. खास बात यह है कि इसमें दस मेडल वेटलिफ्टिंग में आए हैं. वहीं जूडो में तीन और एथलेटिक्स में दो मेडल आए हैं. साथ ही  लॉन बॉल्स, टेबल टेनिस, बैडमिंटन, और स्क्वॉश और पैरा पावरलिफ्टिंग में भारत को एक मेडल मिला है.

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत के पदक विजेता
1. संकेत महादेव- सिल्वर मेडल (वेटलिफ्टिंग 55 KG)
2. गुरुराजा- ब्रॉन्ज मेडल (वेटलिफ्टिंग 61 KG)
3. मीराबाई चनू- गोल्ड मेडल (वेटलिफ्टिंग 49 KG)
4. बिंदियारानी देवी- सिल्वर मेडल (वेटलिफ्टिंग 55 KG)
5. जेरेमी लालरिनुंगा- गोल्ड मेडल (वेटलिफ्टिंग 67 KG)
6. अचिंता शेउली- गोल्ड मेडल (वेटलिफ्टिंग 73 KG)
7. सुशीला देवी- सिल्वर मेडल (जूडो 48 KG)
8. विजय कुमार यादव- ब्रॉन्ज मेडल (जूडो 60 KG)
9.हरजिंदर कौर- ब्रॉन्ज मेडल (वेटलिफ्टिंग 71KG)
10. वूमेन्स टीम- गोल्ड मेडल (लॉन बॉल्स)
11. पुरुष टीम- गोल्ड मेडल (टेबल टेनिस)
12. विकास ठाकुर- सिल्वर मेडल (वेटलिफ्टिंग 96 KG)
13. मिक्स्ड टीम- सिल्वर मेडल (बैडमिंटन)
14. लवप्रीत सिंह- ब्रॉन्ज मेडल (वेटलिफ्टिंग 109 KG)
15. सौरव घोषाल- ब्रॉन्ज मेडल (स्क्वॉश)
16. तूलिका मान- सिल्वर मेडल (जूडो)
17. गुरदीप सिंह- ब्रॉन्ज मेडल (वेटलिफ्टिंग 109+ KG)
18. तेजस्विन शंकर- ब्रॉन्ज मेडल (हाई जंप)
19. मुरली श्रीशंकर- सिल्वर मेडल (लॉन्ग जंप)
20. सुधीर- गोल्ड मेडल ( पैरा पावरलिफ्टिंग)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें