scorecardresearch
 

Commonwealth Games 2022: रेसलिंग में बरसे मेडल, बजरंग-साक्षी-दीपक ने जीते गोल्ड, सिल्वर-ब्रॉन्ज भी आए

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारतीय खिलाड़ी शानदार खेल दिखा रहे हैं. अब रेसलिंग मुकाबलों में भारतीय खिलाड़ियों का जलवा देखने को मिला है. बजरंग पूनिया, दीपक पूनिया और साक्षी मलिक ने शानदार प्रदर्शन करते हुए गोल्ड मेडल पर कब्जा जमा लिया. वहीं अंशु मलिक सिल्वर मेडल जीतने में कामयाब रहीं.

X
बजरंग पूनिया और साक्षी मलिक बजरंग पूनिया और साक्षी मलिक
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बजरंग-साक्षी ने जीता गोल्ड मेडल
  • दीपक पूनिया को भी मिला पीला तमगा
  • अंशु मलिक को मिला सिल्वर

कॉमनवेल्थ गेम्स में 2022 भारतीय रेसलर्स का जलवा देखने को मिला है. बर्मिंघम में चल रहे गेम्स के आठवें दिन रेसलर्स ने जलवा दिखाया है. बजरंग पूनिया, दीपक पूनिया और साक्षी मलिक ने गोल्ड मेडल पर कब्जा जमाया, वहीं अंशु मलिक सिल्वर मेडल जीतने में कामयाब रही. जबकि दिव्या काकरान और मोहित ग्रेवाल ब्रॉन्ज हासिल करने में सफल रहे. रेसलिंग में मिले इन छह मेडल्स की बदौलत भारत के कुल पदकों की संख्या अब 26 हो चुकी है जिसमें 9 गोल्ड शामिल हैं.

♦ दिव्या काकरान ने ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया है. दिव्या ने वूमेन्स फ्रीस्टाइल के 68 किलो भारवर्ग में ब्रॉन्ज मेडल मुकाबले में टोंगा की टाइगर लिली कॉकर लेमाली को बाय फॉल (By Fall) के जरिए 2-0 से मात दी. उधर मोहित ग्रेवाल ने जमैका के एरॉन जॉनसन को बाय फॉल के ही जरिए 0-6 से रौंद ़डाला.

♦ दीपक पूनिया ने मौजूदा कॉमनवेल्थ गेम्स के कुश्ती में भारत को तीसरा गोल्ड मेडल दिलाया है. मेन्स फ्रीस्टाइल कुश्ती के 86 किलो भारवर्ग के फाइनल मुकाबले में दीपक ने पाकिस्तानी रेसलर मोहम्मद इनाम को 3-0 से मात दी.

क्लिक करें- Deepak Punia CWG: सोना ही सोना... दीपक पूनिया ने पाकिस्तान के रेसलर को पटका, जीत लिया गोल्ड मेडल

♦  साक्षी मलिक ने गोल्ड मेडल हासिल कर लिया है. साक्षी मलिक ने वूमेन्स 62 किलो भारवर्ग के फाइनल में कनाडा की एना गोडिनेज गोंजालेज को बाय फॉल (By Fall) के जरिए 4-4 से मात दी. साक्षी मलिक एक समय 4-0 से पीछे चल रही थीं लेकिन एक ही दांव में उन्होंने कनाडाई खिलाड़ी को चित कर दिया.

बजरंग पूनिया ने जीता गोल्ड

♦ बजरंग पूनिया ने भारत के लिए गोल्ड मेडल जीत लिया है. पुरुषों की फ्रीस्टाइल 65 किलो भारवर्ग के फाइनल में बजरंग पूनिया ने कनाडा के एल. मैकलीन को 9-2 मात दी है. पहले हाफ में बजरंग ने चार अंक लिए. फिर दूसरे हाफ में मैकलीन ने दो प्वाइंट लेकर वापसी की कोशिश की लेकिन बजरंग ने और कोई मौका नहीं दिया.

अंशु मलिक को मिला सिल्वर

♦ अंशु मलिक का वूमेन्स 57 किलो भारवर्ग के फाइनल में सामना नाइजीरिया की ओडुनायो फोलासाडे से था लेकिन अंशु अपना बेस्ट प्रदर्शन नहीं कर पाईं और उन्हें 3-7 से हार का सामना करना पड़ा है. अंशु ने आखिरी सेकेंड्स में कुछ अंक जुटाकर वापसी की कोशिश की लेकिन वह पर्याप्त नहीं था. अब अंशु को सिल्वर मेडल से ही संतोष करना पड़ा है. उधर ओडुनायो का यह लगातार तीसरा गोल्ड मेडल रहा.

ऐसा रहा चारों रेसलर्स के फाइनल का सफर

बजरंग पूनिया ने पुरुषों की फ्रीस्टाइल 65 किलो भारवर्ग प्रतिस्पर्धा के सेमीफाइनल में बजरंग ने तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर से इंग्लैंड के जॉर्ज राम को 10-0 से हराया. इससे पहले बजरंग ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले में मॉरीशस के जीन गुइलियान जोरिस बंडो और प्री-क्वार्टरफाइनल में नौरु के लोए बिंघम को आसानी से मात दी थी.

दीपक पूनिया की बात करें तो उन्होंने 86 किलो भारवर्ग के  सेमीफाइनल में कनाडा के अलेक्जेंडर मूरे को 3-1 से मात देकर फाइनल तक का सफर तय किया. इससे पहले उन्होंने अंतिम-8 में सिएरा लियोन के शेकू कासेगबामा को तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर 10-0 से मात दी. जबकि प्री-क्वार्टरफाइनल में वह न्यूजीलैंड के मैथ्यू ऑक्सेनहम पर हावी रहे.

रियो ओलंपिक की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट साक्षी मलिक ने वूमेन्स 62 किलो भारवर्ग के क्वार्टर फाइनल में इंग्लैंड की केल्सी बार्न्स को तकनीक श्रेष्ठता के आधार पर हराया था. बाद में साक्षी ने सेमीफाइनल में तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर कैमरून की एटेन नोगोले 10-0 से शिकस्त दी.

वहीं अंशु मलिक ने महिला फ्रीस्टाइल के 57 किलो भारवर्ग के सेमीफाइनल में तकनीकी श्रेष्ठता (10-0) के आधार पर श्रीलंका की नेथमी पोरुथोटेज को हराया. जगह बना ली है. उससे पहले अंशु ने क्वार्टर फाइनल में तकनीकी श्रेष्ठता के ही आधार पर ऑस्ट्रेलिया की आइरीन सिमोनिडिस के खिलाफ 10-0 से जीत दर्ज की.

दिव्या-मोहित फाइनल में पहुंचने से चूके

दिव्या काकरान वूमेन्स 68 किलो भारवर्ग में नाइजीरिया की ओबोरुडुडु ब्लेसिंग से क्वार्टरफाइनल में ही हार गई. लेकिन बाद में ब्लेसिंग फाइनल में पहुंच गईं जिसके चलते दिव्या को रेपचेज राउंड खेलने का मौका मिला. मोहित ग्रेवाल (125 किलो) को सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा जिसके बाद वह कांस्य पदक के मुकाबले में उतर रहे हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें