scorecardresearch
 

Janmashtami 2022 Date: आज जन्माष्टमी पर करें श्रीकृष्ण के इन मंत्रों का उच्चारण, पूरी होगी हर इच्छा

Janmashtami 2022 Date: देश के कई हिस्सों में आज के दिन जन्माष्टमी मनाई जा रही है. आइए जानते हैं कि जन्माष्टमी की पूजा में किन मंत्रों का उच्चारण करने से भगवान श्रीकृष्ण हर मनोकामना पूरी करेंगे. इन आसान से मंत्रों का जप करने से आपकी तमाम मुश्किलें दूर हो सकती हैं.

X
आज जन्माष्टमी के दिन करें श्रीकृष्ण के इन मंत्रों का उच्चारण, पूरी होगी हर इच्छा
आज जन्माष्टमी के दिन करें श्रीकृष्ण के इन मंत्रों का उच्चारण, पूरी होगी हर इच्छा

Janmashtami 2022: मथुरा समेत देश के कई हिस्सों में जन्माष्टमी का महापर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है. जन्माष्टमी को लेकर लोगों में उत्साह देखने को मिल रहा है. आज रात शुभ मुहूर्त के समय बाल गोपाल का जन्म होगा और कृष्ण जन्माष्टमी का महोत्सव मनाया जाएगा. जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर लोग श्रीकृष्ण की पूजा करेंगे. हिंदू मान्यताओं के अनुसार, श्रीकृष्ण भगवान विष्णु के आठवें अवतार माने जाते हैं. श्री कृष्ण के भक्त सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में फैले हुए हैं.

मान्यताओं के अनुसार, श्री कृष्ण ने अपने जीवन में कई लीलाएं कीं जिनसे पूरी दुनिया परिचित है. श्री कृष्ण द्वारा कई राक्षसों का वध करने से लेकर गीता में दिए गए उपदेशों तक कई ऐसे कार्य किए जो भक्तों के लिए संदेश का काम करती हैं. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार जन्माष्टमी पर मंत्रों का सही उच्चारण सही फल प्रदान करता है. इसलिए आज हम आपको श्रीकृष्ण से जुड़े कुछ ऐसे मंत्र बताने जा रहे हैं जो जीवन में धन-सम्पति, ऐश्वर्य और ज्ञान की प्राप्ति कराते हैं.

"कृं कृष्णाय नमः" 

यह श्रीकृष्ण का बताया मूलमंत्र है जिसका जाप करने से व्यक्ति को अटका हुआ धन प्राप्त होता है. आप इस मंत्र का उच्चारण अपने दैनिक जीवन में कर सकते हैं.

"ॐ देविकानन्दनाय विधमहे वासुदेवाय धीमहि तन्नो कृष्ण:प्रचोदयात" 

श्रीकृष्ण के इस मंत्र का जाप करने से व्यक्ति के जीवन और मन से सभी दुख दूर हो जाते हैं.

"हरे कृष्ण, हरे कृष्ण, कृष्ण कृष्ण, हरे हरे राम, हरे राम, राम राम, हरे हरे"

यह 16 शब्दों का वैष्णव मंत्र है जो भगवान कृष्ण का सबसे प्रसिद्ध मंत्र है. इस दिव्य मंत्र का उच्चारण करने से व्यक्ति श्रीकृष्ण की भक्ति में लीन हो जाता है.

"ऊं श्रीं नमः श्रीकृष्णाय परिपूर्णतमाय स्वाहा"

यह कोई साधारण मंत्र नहीं बल्कि श्रीकृष्ण का सप्तदशाक्षर महामंत्र है. अन्य मंत्र शास्त्रीय मान्यताओं के अनुसार 108 बार जाप करने से ही सिद्ध हो जाते हैं लेकिन इस महामंत्र का पांच लाख जाप करने से ही सिद्ध हो पाता है.

"ओम क्लीम कृष्णाय नमः" 

इस मंत्र का जाप करने से मनुष्य को सफलता और वैभव की प्राप्ति होती है, लेकिन इसे नियम-कायदों के साथ जपना चाहिए. अगर आप किसी भी समस्या में हैं तो इस मंत्र का उपयोग कर सकते हैं.

"श्री कृष्ण गोविंद हरे मुरारे, हे नाथ नारायण वासुदेवा" 

इस मंत्र के उच्चारण से श्रीकृष्ण की कृपा व्यक्ति पर बनी रहती है.

"गोकुल नाथाय नमः"

इस आठ अक्षरों वाले श्रीकृष्ण मंत्र का जाप जो भी भक्त करता है उसकी सभी इच्छाएं पूरी होती हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें