scorecardresearch
 

राजस्थान से जासूसी के आरोप में दो संदिग्ध ISI एजेंट गिरफ्तार, हनी ट्रैप में जवानों को फंसाते थे

ऑपरेशन सरहद के तहत राजस्थान पुलिस की खुफिया ब्रांच ने शनिवार को ISI के दो कथित एजेंटों को भीलवाड़ा और जयपुर के ग्रामीण इलाकों से जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया है. दोनों आरोपियों की पहचान भीलवाड़ा जिले के मूल निवासी नारायण लाल गदरी (27) और जयपुर जिले के कुलदीप सिंह शेखावत (24) के रूप में हुई है.

X
दोनों संदिग्ध
दोनों संदिग्ध
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भारतीय नागरिकों के नाम पर सिम कार्ड
  • सेना के गोपनीय डिटेल साझा किए

ऑपरेशन सरहद के तहत राजस्थान पुलिस की खुफिया ब्रांच ने शनिवार को ISI के दो संदिग्ध एजेंटों को भीलवाड़ा और जयपुर के ग्रामीण इलाकों से जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया है. इनमें से एक हनी ट्रैप करके भारतीय जवानों से जानकारी निकलवाता था.

शराब की दुकान में सेल्समैन के तौर पर काम
दोनों आरोपियों की पहचान भीलवाड़ा जिले के मूल निवासी नारायण लाल गदरी (27) और जयपुर जिले के कुलदीप सिंह शेखावत (24) के रूप में हुई है. मौजूदा समय में दोनों पाली जिले के जैतारण तहसील में स्थित एक शराब की दुकान में सेल्समैन के तौर पर काम करते हैं.

भारतीय नागरिकों के नाम पर सिम कार्ड
खुफिया विभाग के महानिदेशक उमेश मिश्रा ने कहा, पिछले कुछ महीनों से दोनों आरोपियों के सोशल मीडिया अकाउंट का विश्लेषण किया गया और यह पाया गया कि गदरी पाकिस्तानी एजेंसी ISI को भारतीय नागरिकों के नाम पर सिम कार्ड और टेलीफोन नंबर देता था और सोशल मीडिया अकाउंट बनाने में मदद कर रहा था.

सेना के गोपनीय डिटेल साझा किए
उन्होंने कहा कि एक अन्य आरोपी शेखावत ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के ऑफिस से मिले पैसे के एवज में महिलाओं के रूप में फर्जी खाता बनाया और फिर भारतीय जवानों को हनी ट्रैप करके उनसे गोपनीय विवरण लिया. मिश्रा ने कहा, पैसे के लालच और अन्य लालच से दोनों आरोपियों ने सेना के गोपनीय डिटेल साझा किए. इसलिए दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया. आगे की जांच जारी है.

देव अंकुर के साथ जौ किशन की रिपोर्ट

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें