scorecardresearch
 

क्या कांग्रेस अध्यक्ष और CM पद पर बन गई अशोक गहलोत की बात? सोनिया गांधी के साथ बैठक में हुआ ये फैसला

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत और सोनिया गांधी के बीच बुधवार को लंबी बैठक चली. इस बैठक में उनके साथ प्रियंका गांधी और केसी वेणुगोपाल भी मौजूद थे. इस बैठक में उनके कांग्रेस अध्यक्ष के साथ-साथ मुख्यमंत्री बने रहने को लेकर लंबी चर्चा हुई. बहरहाल सूत्रों के हवाले से खबर है कि इस मुद्दे को लेकर आलाकमान ने फैसला ले लिया है.

X
सोनिया गांधी व अशोक गहलोत की बैठक में प्रियंका और वेणुगोपाल भी थे शामिल (फाइल फोटो)
43:15
सोनिया गांधी व अशोक गहलोत की बैठक में प्रियंका और वेणुगोपाल भी थे शामिल (फाइल फोटो)

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की बुधवार को बैठक हुई. यह बैठक करीब दो घंटे चली. सूत्रों के अनुसार सोनिया गांधी से मीटिंग के बाद अशोक गहलोत ने अनौपचारिक बातचीत में बताया कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर और राजस्थान के मुख्यमंत्री के पद पर एक साथ बने रहने में कोई परेशानी नहीं है. सूत्रों के अनुसार गांधी परिवार राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव जीतने तक अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री बनाए रखने पर राजी हो गया है. 

माना जा रहा है कि गांधी परिवार चाह रहा था कि अशोक गहलोत मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा देकर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव लड़े. हालांकि अशोक गहलोत के करीबियों का कहना है कि वे अगले साल राजस्थान का बजट पेश करने के बाद ही मुख्यमंत्री का पद छोड़ना चाहते हैं. ऐसे में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में तबतक वह इतने मजबूत हो जाएंगे कि सचिन पायलट के अलावा किसी को भी राजस्थान का मुख्यमंत्री बना देंगे.

बैठक में प्रियंका और वेणुगोपाल भी थे शामिल

मीटिंग से पहले सोनिया गांधी ने कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल के साथ बैठक की थी फिर प्रियंका गांधी मीटिंग में शामिल हुईं. इसके बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को बुलाया गया. तीनों के बीच दो घंटे की मीटिंग हुई.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज राहुल गांधी से मिलने दिल्ली जा रहे हैं, जहां पर कांग्रेस के फैसले का ऐलान हो सकता है. इस बीच सचिन पायलट कोच्चि से दिल्ली आ गए हैं.

लेकिन गहलोत से नाराज भी है गांधी परिवार

अशोक गहलोत ने बुधवार को दिल्ली में सफाई दी कि उन्होंने कभी नहीं कहा कि वो दोनों पदों पर रखना चाहते हैं. हालांकि यह बयान आने के पीछे अब ऐसा माना जा रहा है कि अशोक गहलोत के हवाले से देशभर की मीडिया में यह खबर चलाई गई कि वह कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष और राजस्थान के मुख्यमंत्री दोनों पद पर रहेंगे, जिस पर गांधी परिवार ने नाराजगी जताई थी.

अशोक गहलोत ने कहा कि वह किसी भी पद पर रहकर काम नहीं करना चाहते हैं. वह चाहते हैं कि बिना पद का राहुल गांधी के साथ यात्रा करें.

मैं नहीं कह सका कौन बनेगा सीएम?

सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाए जाने के सवाल पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा कि यह मैं कैसे कह सकता हूं कि कौन सीएम बनेगा. इस पर मैं कुछ भी नहीं जा सकता हूं. मुख्यमंत्री तो विधायक चुनते हैं.

चुनाव के लिए आज जारी होगी अधिसूचना

कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए कल यानी 22 सितंबर को अधिसूचना जारी होगी. नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया 24 से 30 सितंबर तक चलेगी. नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि आठ अक्टूबर है. एक से ज्यादा उम्मीदवार होने पर चुनाव 17 अक्टूबर को होगा और नतीजे 19 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें